गैंगरेप मामले में आरोपी ने पुलिस पर उठाये सवाल, सबूतों से छेड़छाड़ का आरोप

By: | Last Updated: Monday, 22 September 2014 5:12 PM

नई दिल्ली: पूर्वोत्तर की 30 वर्षीय बीपीओ कर्मचारी के कथित अपहरण और सामूहिक दुष्कर्म के सनसनीखेज मामले में दिल्ली की एक अदालत द्वारा फैसला सुनाने के कुछ मिनट पहले मामले के पांच आरोपियों में से एक ने आज अदालत में खुद को निर्दोष बताते हुए दावा किया कि पुलिस ने सबूतों के साथ छेड़छाड़ की है.

 

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश वीरेंद्र भट्ट को फैसला सुनाना था. उन्होंने अब आरोपी की नयी याचिका को रिकॉर्ड में ले लिया है और दिल्ली पुलिस से जवाब मांगा है.अनेक कथित विसंगतियां गिनाते हुए आरोपी उस्मान के वकील ने कहा कि पीड़िता के खून का नमूना आरोपी की पैंट पर डाल दिया गया ताकि डीएनए के नमूने मिल सकें.

 

वकील की दलील के मुताबिक जबकि एमएलसी रिपोर्ट में और कथित पीड़िता के बयान में कहा गया है कि लड़की को कोई बाहरी चोट नहीं लगी. बचाव पक्ष के वकील ने तफ्तीश के लिए भेजी गयी अनेक सामग्रियों को लेकर जांच अधिकारी :आईओ: और फोरेंसिक विशेषज्ञ के बयानों में विरोधाभास पर भी सवाल उठाया है.

 

सरकारी अभियोजक सतविंदर कौर ने आरोपी के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि ये सामग्री आरोपी की गिरफ्तारी से काफी पहले 26 नवंबर, 2010 को एफएसएल को भेजी गयीं थीं. उसकी गिरफ्तारी 2 दिसंबर, 2010 को की गयी थी. इसलिए सबूतों से छेड़छाड़ का कोई सवाल नहीं है. न्यायाधीश भट्ट ने सरकारी अभियोजक से आरोपी के आरोपों पर जवाब देने को कहा.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: gang-rape-police
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: gang rape Police
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017