गुजरात की जेलों में सुरक्षा खामियां और कुप्रबंधन : कैग

By: | Last Updated: Saturday, 26 July 2014 3:25 PM

गांधीनगर: गुजरात विधानसभा में पेश नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट में राज्य की जेलों में जेल कर्मचारियों द्वारा सुरक्षा खामियों और कुप्रबंधन की बात सामने आयी है.

 

31 मार्च, 2013 को समाप्त वर्ष के लिए ‘सामान्य एव सामाजिक क्षेत्र’ पर कैग की रिपोर्ट के अनुसार सुरक्षा में खामियों के चलते ही अहमदाबाद में साबरमती केंद्रीय जेल से सुरंग खोदी गयी.

 

कल सदन की पटल में रखी गयी कैग रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘नयी जेलों के निर्माण में योजना में कमी के कारण कुछ जेलों में क्षमता से बहुत ज्यादा कैदी हैं जबकि कुछ में क्षमता से कम कैदी हैं. ’’ कैग रिपोर्ट कहती है कि साबरमती जेल समेत पांच जेलों में क्षमता से बहुत ज्यादा कैदी है. अहमदाबाद की साबरमती जेल (253फीसदी0, वड़ोदरा पुरूष केंद्रीय कारा (193फीसदी), जूनागढ़ जिला जेल (165 फीसदी), पालनपुर जिला जेल (115फीसदी) तथा नवसारी उपजेल (140 प्रतिशत) काफी भीड़भाड़ वाली जेल हैं.

 

रिपोर्ट कहती है कि इससे जेलों की क्षमता का उपयुक्त इस्तेमाल करने में पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय के स्तर पर योजना बनाने में कमी का पता चलता है.

 

जेलों की सुरक्षा में खामियों के बारे में कैग रिपोर्ट कहती है, ‘‘जेलों में लगाए गए डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर, क्लोज सर्किट टीवी प्रणाली और मोबाइल फोन जैमर निष्प्रभावी पाए गए. ’’ रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि साबरमती केंद्रीय जेल के बाहर कोई वाच टावर नहीं है और भुज जिले में पलारा विशेष जेल में वाच टावर वायु रक्षा प्रोटोकॉल के कारण घटा दिए गए.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: gujrat jail
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017