हमारी जांच दिखावा नहीं थी, ना ही हम पर कोई दवाब था: डीजीपी हरियाणा । haryana dgp statement on pradyuman murder case

हमारी जांच दिखावा नहीं थी, ना ही हम पर कोई दवाब था: डीजीपी हरियाणा

राज्य के पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने कहा कि मामला केंद्रीय एजेंसी को सौंपे जाने से पहले उसकी जांच कर रही पुलिस की टीम पर कोई दबाव नहीं था.

By: | Updated: 09 Nov 2017 12:16 PM
haryana dgp statement on pradyuman murder case

चंडीगढ़: रेयान स्कूल के छात्र की हत्या के मामले में हरियाणा पुलिस की किरकिरी हो रही है. राज्य के पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने कहा कि मामला केंद्रीय एजेंसी को सौंपे जाने से पहले उसकी जांच कर रही पुलिस की टीम पर कोई दबाव नहीं था. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने भी प्रदेश पुलिस का बचाव करते हुए दावा किया कि जब जांच का जिम्मा सीबीआई के हवाले किया गया तब मामले में पुलिस की जांच पूरी नहीं हुई थी.


संधू ने पुलिस पर मामला सुलझाने के लिए दबाव होने की या उसके जल्दबाजी में काम करने की बात से इनकार किया. उन्होंने पंचकूला में संवाददाताओं से कहा,"सरकार ने सीबीआई को जांच का जिम्मा सौंपने की सिफारिश की थी." डीजीपी ने मामले में आए सनसनीखेज मोड़ के बारे में पूछे जाने पर कहा कि जांच का जिम्मा अब सीबीआई के पास है. यह पूछे जाने पर कि क्या हरियाणा पुलिस की जांच एक दिखावा थी, संधू ने ना में जवाब दिया.


'कोई बात नहीं, चलता है'


ryan


उन्होंने जवाब दिया कि गुरूग्राम पुलिस की कोई नाकामी नहीं थी. संधू ने गुरूगांव पुलिस की जांच से जुड़े सवालों को टालते हुए कहा,"पुलिस पर कोई दबाव नहीं था. हमने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी. अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी." यह पूछे जाने पर कि हरियाणा पुलिस ने तो स्कूल के बस कंडक्टर अशोक कुमार की गिरफ्तारी के बाद हरियाणा पुलिस ने मामला सुलझा लेने का दावा किया था, डीजीपी ने कहा,"कोई बात नहीं, चलता है." चंडीगढ़ में एक समारोह से इतर संवाददाताओं से बात करते हुए मुख्यमंत्री खट्टर ने भी मुद्दे पर राज्य पुलिस का बचाव किया.


यह पूछे जाने पर कि मामले में पुलिस की नाकामी के बाद डीजीपी को बर्खास्त किया जाएगा, खट्टर ने कहा,"जब जांच जारी होती है, उस अवधि में कोई कुछ नहीं (किसी निष्कर्ष पर पहुंचना) कर सकता, जांच एक हिस्सा है. जब वह पूरी होती है तभी हमें पता चलता है."


उन्होंने कहा,"हरियाणा पुलिस ने अपनी जांच पूरी नहीं की थी. जब जांच जारी थी, मांग उठी कि मामला सीबीआई के हवाले कर दिया जाए. यह उनको सौंप दी गयी. अब सीबीआई जांच कर रही है, यह उनका काम है, हमारा नहीं. सीबीआई जांच जिस दिशा में जाए, आखिरकार निष्कर्ष वहीं होता है."


गौरतलब है कि प्रद्युम्न हत्याकांड में सीबीआई ने गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के ग्यारहवीं कक्षा के एक छात्र को पकड़ा है. एजेंसी के मुताबिक आरोपी छात्र कथित तौर पर चाहता था कि पूर्व निर्धारित पेरेंट्स-टीचर मीटिंग (पीटीएम) और परीक्षाएं टल जाएं.


सीबीआई के एक प्रवक्ता ने बताया कि 16 वर्ष के हाई स्कूल के एक छात्र को स्कूल के भीतर अपने जूनियर की हत्या के आरोप में पकड़ा गया. इससे पूरे मामले में सनसनीखेज मोड़ आ गया है. स्कूल के दूसरी कक्षा के सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न का शव आठ सितंबर को मिला था. उसका गला किसी धारदार हथियार से रेता गया था.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: haryana dgp statement on pradyuman murder case
Read all latest Crime News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story भोपाल: सीबीआई अधिकारी बता कर लड़की को फंसाया, ऐंठे लाखों रुपये