शीना बोरा मर्डर केस: इंद्राणी मुखर्जी के आरोपों पर पीटर ने दिए ये जवाब । Indrani's charges baseless, a desperate attempt to wriggle out- Peter Mukerjea

शीना बोरा मर्डर केस: इंद्राणी मुखर्जी के आरोपों पर पीटर ने दिए ये जवाब

पीटर मुखर्जी ने अदालत से कहा कि इंद्राणी मुखर्जी उन पर आरोप लगा कर खुद को मामले से बाहर निकालने की हताशजनक कोशिश कर रही है.

By: | Updated: 24 Nov 2017 08:57 AM
Indrani’s charges baseless, a desperate attempt to wriggle out- Peter Mukerjea

मुंबई: मीडिया जगत के पूर्व दिग्गज पीटर मुखर्जी ने निचली अदालत से कहा कि उनकी पत्नी और सह आरोपी इंद्राणी मुखर्जी उन पर आरोप लगा कर खुद को मामले से बाहर निकालने की हताशजनक कोशिश कर रही है. दरअसल, इंद्राणी ने उन पर आरोप लगाया है कि उन्होंने शीना बोरा को लापता करने में एक भूमिका निभाई होगी.


सीबीआई ने भी यही रूख अख्तियार करते हुए इंद्राणी मुखर्जी की अर्जी को दुर्भावनापूर्ण और बेइमान इरादों के साथ दायर किया गया बताया. गौरतलब है कि शीना की अप्रैल 2012 में हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपियों में इंद्राणी और पीटर भी शामिल हैं. शीना, इंद्राणी के पिछले रिश्ते से जन्मी बेटी थीं.


(फाइल फोटो)

इंद्राणी ने 15 नवंबर को एक आवेदन दायर करके मांग की थी कि पीटर मुखर्जी के कॉल डिटेल रिकार्ड का खुलासा किया जाए. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि हो सकता है कि शीना बोरा के लापता होने और इंद्राणी को फंसाने में उन्होंने भूमिका निभाई हो.


पीटर ने जवाब में कहा कि आरोप पूरी तरह से झूठे और मानहानिपूर्ण हैं और यह खुद को पीड़िता बताने की कोशिश करके स्थिति से बाहर निकलने का हताशापूर्ण प्रयास है. जवाब में कहा गया कि आरोप बेबुनियाद और इंद्राणी की कल्पनाओं पर आधारित हैं.


सीबीआई ने कहा कि शीना के अपहरण और हत्या के बाद इंद्राणी ने सबूत मिटाने के पूरे प्रयास किये. अदालत पांच दिसंबर को आगे की दलीलें सुनेगी.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Indrani’s charges baseless, a desperate attempt to wriggle out- Peter Mukerjea
Read all latest Crime News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बुलंदशहर: दो समुदायों के लोग आए आमने-सामने, जम कर हुई पत्थरबाजी