विनोद वर्मा ने कहा- मुझे फंसाया जा रहा है, मेरे पास मंत्री राजेश मूणत की सेक्स सीडी है । journalist vinod verma arrested

सीडी कांड: गिरफ्तार विनोद वर्मा ने कहा, 'फंसाया जा रहा है', फंसे मंत्री बोले, 'फर्जी है सीडी'

गाजियाबाद के इंदिरापुरम से वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया गया है. छत्तीसगढ़ पुलिस ने गाजियाबाद पुलिस के साथ मिल कर यह गिरफ्तारी की है.

By: | Updated: 27 Oct 2017 04:40 PM
journalist vinod verma arrested

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ के सीडी कांड को लेकर दिल्ली से सटे गाजियाबाद के इंदिरापुरम से वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया गया है. छत्तीसगढ़ पुलिस ने गाजियाबाद पुलिस के साथ मिल कर यह गिरफ्तारी की है. विनोद वर्मा पर रंगदारी और धमकाने की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.  पुलिस ने विनोद वर्मा के पास से एक सीडी बरामद की है, जिसे छत्तीसगढ़ में सत्ताधारी बीजेपी के किसी कद्दावर नेता की सेक्स सीडी बताया जा रहा है.


इस खुलासे के बाद  सेक्स सीडी कांड में फंसे छत्तीसगढ़ के पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत ने कहा कि सीडी पूरी तरह से फर्जी है, हम किसी भी एजेंसी से जांच कराने को तैयार हैं.


विनोद वर्मा ने लिया मंत्री राजेश मूणत का नाम
गिरफ्तारी के बाद विनोद वर्मा की पहली प्रतिक्रिया आई है. एबीपी न्यूज़ से बाद करते हुए विनोद वर्मा ने कहा, ''मेरे घर से पुलिस को दो लाख 26 हजार कैश, लैपटॉप और पेन ड्राइव मिली है. मेरे पास बहुत बड़ा मामला है. इस मामले को दबाने के लिए मुझे गिरफ्तार किया गया है. मैंने आज तक राजेश मूढ़त से बात नहीं की है.'' आपको बता दें कि राजेश मूणत रमन सिंह सरकार में पीडब्लूडी मंत्री हैं. पुलिस विनोद वर्मा को गाजियाबाद कोर्ट में पेशी के लिए ले गई है.


कोर्ट ने ट्रांजिट रिमांड पर उठाए सवाल
पुलिस ने विनोद वर्मा को गाजियाबाद की स्थानीय कोर्ट में पेश कर ट्रांजिट रिमांड की मांग की थी. कोर्ट पुलिस की इस मांग पर सवाल उठाए हैं. कोर्ट ने पुलिस से उस सीडी की मांग की, जिस के आधार पर विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया गया है. कोर्ट ने कहा कि जब सीडी ही नहीं है तो गिरफ्तार कैसे किया गया है. विनोद वर्मा ने भी कोर्ट में कहा कि एफआईआर में मेरा नाम तक नहीं है, फिर भी बिना नोटिस के मुझे गिरफ्तार किया गया है. विनोद के वकीलों ने कोर्ट में गिरफ्तारी का विरोध किया है. कोर्ट ने पुलिस से सीडी मांगी है. अभी तक ट्रांजिट रिमांड नहीं दी है.


बीजेपी ने आरोपों को निराधार बताया
विनोद वर्मा की ओर से राजेश मूणत का नाम लिए जाने के बाद बीजेपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सफाई दी. मंत्री राजेश मूणत ने कहा कि मेरे पास कोई फोन नहीं आया. ये कांग्रेस का षडयंत्र है, मुझे फंसाने की कोशिश हो रही है. सीडी पूरी तरह फर्जी है, ये मेरी चरित्र हत्या की कोशिश है. आखिर पांच सौ सीडी बनाने की जरूरत क्या पड़ी? ये पूरा ब्लैकमेलिंग का खेल है.

सीडी में कद्दावर मंत्री, बीजेपी जांच कराए: कांग्रेस
बीजेपी प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद कांग्रेस ने कहा कि हमारे पास ये सीडी आई थी. हम चाहते थे कि इसकी पड़ताल कर इसे सामने लाया जाए. लेकिन सरकार खुद इसे मुद्दा बनाना चाहती है इसलिए वरिष्ठ पत्रकार को आधी रात में गिरफ्तार करवा लिया और राष्ट्रीय मुद्दा बना दिया. सीडी में कद्दावर मंत्री हैं, सरकार जांच करवाए.

कांग्रेस के मीडिया सेल का काम देख रहे थे विनोद
विनोद इन दिनों छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के सोशल मीडिया प्रभारी हैं. उन्होंने कहा कि है कि सीडी पब्लिक डोमेन में है, खुद उनके पास भी यह सीडी है. एबीपी न्यूज़ से बघेल ने कहा कि फॉरेंसिक जांच में साफ हो जाएगा कि सीडी में दिख रहा शख्स कौन है.  बघेल ने इसे लोकतंत्र पर हमला बताया है.


vinod


कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने की निंदा
विनोद वर्मा की गिरफ्तारी की निंदा आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने भी की है. उन्होंने ट्वीट किया, सुबह के 3.30 बजे रहस्यमयी परिस्थितियों में बीबीसी और अमर उजाला से जुड़े रहे पत्रकार विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया गया है. यह प्रेस पर हमला है?


पूरे मामले पर छत्तीसगढ़ पुलिस की प्रतिक्रिया
छत्तीसगढ़ पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया, ''पुलिस ने छत्तीसगढ़ में प्रकाश बजाज नाम के शख्स की शिकायत पर कार्रवाई की है. प्रकाश बजाज ने अपनी शिकायत में बताया था कि उन्हें दिल्ली से एक शख्स का फोन आया. उसने कहा कि तुम्हारे आका की एक सीडी हमारे पास है, अगर पैसे नहीं दिए तो सीडी को सार्वजनिक कर देंगे.''


इसी शिकायत पर हमने कार्रवाई की है. हमारी एक टीम पहले से दिल्ली में थी. क्राइम ब्रांच से मिली जानकारी के आधार पर हमने दिल्ली में उस शख्स को पकड़ा जिनसे प्रकाश बजाज को फोन किया था. इस सीडी बनाने वाले शख्स ने बताया कि उसे विनोद वर्मा नाम के व्यक्ति ने एक हजार सीडी बनाने का ऑर्डर दिया गया था. सीडी बनाने वाले शख्स से मिले नंबर पर पड़ताल करते हुए पुलिस गाजियाबाद में विनोद वर्मा के घर पहुंची. यहां से पुलिस को 500 सीडी और पेन ड्राइव मिली. इसी आधार पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.''


सवालों से बचती रही छत्तीसगढ़ पुलिस
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पुलिस ने बताया कि शिकायतकर्ता प्रकाश बजाज ने अपनी शिकायत में विनोद वर्मा का नाम नहीं लिया है. इसके साथ ही पुलिस ये भी नहीं बता पायी सीडी में क्या है और प्रकाश बजाज का आका कौन है?

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: journalist vinod verma arrested
Read all latest Crime News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story दलित छात्रा के साथ किया था रेप और फिर हत्या, कोर्ट ने सुनाई मौत की सजा