महाराष्ट्र: कोपर्डी दुष्कर्म और हत्याकांड के दोषियों को आज मिलेगी सजा

महाराष्ट्र: कोपर्डी दुष्कर्म और हत्याकांड के दोषियों को आज मिलेगी सजा

मामले की गंभीरता को देखते हुए राज्य सरकार ने फास्ट ट्रैक विशेष अदालत का गठन कर वरिष्ठ वकील उज्ज्वल निकम को दोषियों को सजा दिलाने की जिम्मेदारी सौंपी थी.

By: | Updated: 22 Nov 2017 09:38 AM
Kopardi gang-rape case: Court to begin arguments on quantum of punishment today

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के चर्चित कोपर्डी दुष्कर्म और हत्याकांड के दोषियों पर विशेष अदालत आज अपना फैसला सुनाएगी. इस केस के तीन आरोपियों को दोषी करार दिया गया है. अहमदनगर जिले के कोपर्डी गांव में 13 जुलाई को 15 वर्षीय छात्रा का शव मिला था. दोषियों ने गैंगरेप के बाद शव को क्षत-विक्षत कर दिया था.


इस निर्मम हत्याकांड के आरोप में पुलिस ने जीतेंद्र बाबूलाल शिंदे, संतोष गोरख भवाल और नितिन गोपीनाथ भैलुमे को गिरफ्तार किया था. अहमदनगर पुलिस ने अदालत में 350 से ज्यादा पन्नों की चार्जशीट दाखिल की. इसमें तीनों पर आईपीसी की धारा 302 यानी हत्या और 376 यानी दुष्कर्म और पोक्सो कानून की संबंधित धाराओं के तहत केस चलाया गया.


शनिवार को इस केस के तीन आरोपियों को दोषी करार दिया गया है. मुख्य दोषी जीतेंद्र बाबूलाल शिंदे के वकील योहान ने कोर्ट में दलील दी की जीतेन्द्र महज 26 साल का युवा है जिसपर उसके गरीब परिवार की जिम्मेदारी है. जीतेन्द्र पर इसके पहले कोई आपराधिक मामला नहीं रहा है. बचाव पक्ष के वकील ने कम से कम सजा की मांग की है.


13 जुलाई 2016 को हुई इस घटना के बाद पूरे सूबे में मराठा समाज आंदोलित हो उठा था. इस दुष्कर्म कांड के बाद इस मुद्दे के साथ मराठा आरक्षण का मुद्दा जोड़कर मराठा समाज ने विभिन्न शहरों में बड़ी-बड़ी रैलियां निकाली थीं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Kopardi gang-rape case: Court to begin arguments on quantum of punishment today
Read all latest Crime News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story शेयरिंग कैब में सवार बदमाशों ने लूट और हत्या को अंजाम देकर जंगल में फेंका युवक का शव