पटना में सिंघम के ऑपरेशन पर उठा सवाल!

By: | Last Updated: Sunday, 4 January 2015 3:05 PM

पटना: बिहार की राजधानी पटना में पुलिस ने यूपी पुलिस के दो जवानों की काली करतूत को कैमरे पर घर दबोचा था पटना के सिटी एसपी शिवदीप लांडे की अगुवाई में डाकबंगला चौक पर यूपी के दो जवानों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया था पर अब इस कहानी में नया ट्विस्ट आ चुका है कैमरे पर गिरफ्त में आए मुरादाबाद पुलिस इंस्पेंक्टर सर्व चन्द्र को सबूतों के अभाव में छोड़ दिया गया है.

 

मुरादाबाद के इस इंस्पेंक्टर पर घूस मांगने का आरोप था जिसे पटना सिटी एसपी शिवदीप लांडे ने घसीटते हुए थाने ले गए थे पर इस इंस्पेक्टर के खिलाफ सबूत न होने के कारण उसे छोड़ दिया गया है. इसके साथ ही पटना के सिंघम (शिवदीप लांडे) पर भी सवाल उठने लगे हैं कि आखिर जब पर्याप्त सबूत नहीं थे तो इस तरह की कार्रवाई क्यों की गई.  बहरहाल अभी इस मामले की पूरी जांच के बाद ही इन सवालों के जवाब सामने आएंगे.  

 

 

क्या है मामला

दरअसल ये मामला है स्टेशनरी की दुकान चलाने वाले पंकज और दीपक नाम के दो भाइयों की जिनकी दुकान ये 2012 में सिम कार्ड बेची गई थी इस सिम का इस्तेमाल मुरादाबाद में अपराध के एक मामले में किया गया था.

 

2012 से मुरादाबाद पुलिस की टीम पटना तफ्तीश के लिए आती रहती है इसके बाद 2013 में पंकज और दीपक को क्लीन चिट मिल गई थी पर आरोप है कि मुरादाबाद पुलिस के इंस्पेक्टर सर्व चंद्र ने केस रफा दफा करने के लिए इन भाइयों से घूस मांगी थी इस मांगद से तंग आकर लड़कों ने पटना के सिटी एसपी शिवदीप लांडे से मदद मांगी. शिवदीप लांडे ने जाल बिछाकर घूस मांग रहे यूपी पुलिस के दो जवानों को धर दबोचा. इस पूरे ऑपुरेशन में शिवदीप लांडे ने खुद वेश बदलकर इन जवानों की करतूत को जगजाहिर किया.

 

पटना के सिंघम कहे जा रहे एसपी सिटी शिवदीप लांडे इससे पहले भी खुद सड़क पर उतरकर अपराधियों के खिलाफ कई कार्रवाइयों को अंजाम दे चुके हैं.