लखनऊ रेप: झूठ निकला पुलिस का दावा, गैंगरेप होने के सबूत

By: | Last Updated: Monday, 28 July 2014 5:37 AM
laucknow_mohanlalganj_rape

नई दिल्ली: लखनऊ रेप केस में पुलिस के दावों की पोल खुल गई है. यूपी पुलिस ने दावा किया था कि मोहनलाल गंज इलाके में जिस महिला का शव मिला था उसके साथ रेप नहीं हुआ बल्कि रेप की कोशिश हुई थी जिसमें एक शख्स शामिल था, जबकि लखनऊ पुलिस को जो फॉरेंसिक रिपोर्ट सौंपी गई है उसमें साफ कहा गया है कि लड़की के नाखून से जो सबूत मिले हैं उसके मुताबिक एक से ज्यादा लोग वारदात में शामिल थे और महिला से रेप हुआ था.

 

फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट के मुताबिक महिला के साथ रेप की पुष्टि की गई है और यह गैंगरेप का मामला है.

 

क्या था मामला?

16 जुलाई को लखनऊ के मोहनलाल गंज इलाके के एक स्कूल कैंपस से 25 साल की महिला का शव मिला था. महिला लखनऊ के नामी अस्पताल में काम करती थी. धारदार हथियार से कई वार करके महिला की हत्या की गई थी. पुलिस ने इस मामले में अस्पताल के एक कर्मचारी को आरोपी बनाते हुए गिरफ्तार किया था.

 

पुलिस ने दावा किया था कि चोरी के मोबाइल से महिला को फोन कर बुलाया गया और फिर रेप की कोशिश में नाकाम होने पर हत्या कर दी गई थी.

 

वहीं पीड़ित परिवार ने पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की है.

 

यूपी के मंत्री और एसपी प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि पूरे मामले की जांच होगी और जो भी जिम्मेदार होगा उसके खिलाफ कार्पवाई की जाएगी.

 

बड़ा सवाल ये है कि क्या पुलिस ने झूठ बोला था?  क्या पुलिस किसी के दवाब में काम कर रही है? सवाल ये भी है कि यूपी पुलिस ने गलत जानकारी क्यों दी?