अपनी माँ से मिल कर फूट फूट कर रोया निठारी का पिशाच

By: | Last Updated: Thursday, 11 September 2014 4:16 PM

मेरठ: मेरठ के चौधरी चरण सिंह जिला कारागार में बंद निठारी कांड के दोषी सुरेन्द्र कोली की माँ आज सुबह साढ़े नौ बजे मेरठ जेल कोली से मिलने पहुँची .आठ साल बाद कुंती देवी जेल में बंद अपने बेटे सुरेंद्र कोली से मिली. पैंतीस मिनट की बातचीत में कोली ने अपने घर परिवार के बारे में बातचीत की.

 

निठारी कांड का नरपिशाच आज फूट-फूट कर रो पडा.आंखों में आंसू लिये कोली ने अपनी मां से खुद को निर्दोष बताते हुए कहा कि मां अगर तेरे आंसू सच्चे होगें तो मुझे फांसी नही होगी. मैंने कोई अपराध नही किया है.2006 में मुझे ढाई महीने की रिमांड पर लिया गया था जिसमें मुझे यातना दी गई जो मैं सह नही पाया. जिस कारण मैंने ये अपराध अपने सिर ले लिया है.

 

कोली ने भावुक मन से अपने आठ साल के बेटे से मिलने की इच्छा जाहिर की है. बेटे के जन्म के समय कोली जेल में था. साथ ही कोली ने कहा कि मेरी पत्नी बच्चों को लेकर गांव से बाहर चली गई है ये कदम बच्चों के भविष्य के लिये बेहतर है. कोली के दो बच्चे है जिसमें एक बेटी लगभग दस साल की है बेटा आठ साल का है.

 

कोली गरीब है इसलिये उसे फांसी की सजा सुनाई गई है. कोली से उसके समाज के दो लोग भी आठ साल बाद मिले और अब वो कोली को निर्दोष मान रहे है. आज की मुलाकात के बाद कोली के गांव हर तरीके से उसके साथ खड़े होने का आश्वासन दे रहा है.

 

वही कोली की मां अपने बेटे को निर्दोष बता रही है और साथ पंढेर को दोषी मानते हुए उसे फांसी की मांग कर रही है.

 

गौरतलब है की सुरेन्द्र कोली को 12 सितम्बर को मेरठ जेल में फांसी दी जानी थी जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने दो दिन पहले ही एक सप्ताह का स्टे दिया है

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: nithari_case_accused
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: nithari
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017