नीतीश कटारा मामला: हाई कोर्ट ने बढ़ाई सजा

By: | Last Updated: Friday, 6 February 2015 12:31 PM

दिल्ली: मौत की सजा की याचिका ठुकराते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने आज नीतीश कटारा रिपीट नीतीश कटारा हत्याकांड में विकास यादव और उसके चचेरे भाई विशाल की सजा आजीवन कारावास से बिना किसी छूट के 25 साल तक बढ़ा दी और मामले से जुड़े सुबूत नष्ट करने पर पांच साल की अतिरिक्त सजा दी.

 

जज गीता मित्तल और जे आर मिधा की स्पेशल ब्रांच ने उत्तर प्रदेश के राजनीतिज्ञ डी पी यादव के पुत्र विकास और उसके चचेरे भाई विशाल पर 50-50 लाख रूपए का जुर्माना भी लगाया.

 

अदालत ने एक अन्य दोषी सुखदेव पहलवान की सजा की अवधि 25 साल तक बढ़ा दी और कहा कि इन सबको अतिरिक्त पांच साल की सजा को छोड़कर सजा की शेष अवधि बिना किसी छूट के कठोर सश्रम कारावास के रूप में काटनी होगी.

 

अदालत ने नीतीश की मां नीलम कटारा और दिल्ली पुलिस की इन तीनों दोषियों के लिए फांसी की सजा की मांग करती याचिकाएं अस्वीकार कर दी.

 

सजा सुनाए जाने के दौरान अदालत में मौजूद नीलम कटारा ने मौत की सजा की उनकी याचिका ठुकराए जाने पर नाखुशी जाहिर की, लेकिन सजा में इजाफा किए जाने पर तसल्ली जताई.

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करूंगी.’’ उन्होंने कहा कि अदालत ने उन्हें जो क्षतिपूर्ति दी है उन्हें उसकी जरूरत नहीं है क्योंकि कितनी भी बड़ी रकम उनके पुत्र के जीवन की भरपाई नहीं कर सकती.

 

अदालत ने 700 पन्ने के अपने फैसले में कहा कि विकास ने अस्पताल में जो वक्त (10 अक्तूबर 2011 से 4 नवंबर 2011) गुजारा है उसे उसकी जेल में अब तक गुजारी अवधि में नहीं गिना जाएगा.

 

अदालत ने केन्द्र और राज्य सरकार से इस बात की भी जांच करने को कहा कि दोषी जेल में अपने प्रवास के दौरान कितनी बार अस्पताल में रहे.

 

विकास, उसके चचेरे भाई और सुखदेव पहलवान को 16-17 फरवरी 2002 की दरम्यानी रात को एक एक रेलवे अधिकारी के पुत्र नीतीश कटारा की अपहरण के बाद हत्या का दोषी ठहराया गया है. ये लोग नीतीश और डी पी यादव की पुत्री भारती के बीच प्रेम संबंधों के खिलाफ थे.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: nitish katara_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: delhi high court nitish katara
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017