फूलन देवी के हत्यारे शेर सिंह राणा को उम्रकैद, 2001 में दिल्ली में हुई थी हत्या

By: | Last Updated: Thursday, 14 August 2014 9:20 AM
Phoolan Devi murder case l Delhi court awards life term to Sher Singh Rana

नई दिल्ली: दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने गुरुवार को दस्यु जीवन से राजनीति में आईं फूलन देवी की हत्या मामले में दोषी पाए गए शेर सिंह राणा को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. साथ ही कोर्ट ने राणा पर एक लाख रूपये का जुर्माना भी लगाया है. दिल्ली पुलिस ने राणा के लिए मृत्युदंड की मांग की थी

 

राणा ने 1981 के बेहमई नरसंहार का बदला लेने के लिए फूलन को 2001 में गोली मार दी थी. डकैत से नेता बनी फूलन ने बेहमई में एक ही जाति के 17 लोगों की हत्या कर दी थी. राणा ने दावा किया था कि ठाकुरों के नरसंहार का बदला लिया है.

 

फूलनहत्या के समय उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से समाजवादी पार्टी की सांसद थीं और अशोक रोड स्थित सरकारी आवास में रहती थीं. राणा ने अपने साथियों के साथ मिलकर फूलन के सरकारी आवास के बाहर हत्या को अंजाम दिया था.

 

यहां देखें- फूलन देवी के कातिल शेर सिंह राणा की हैरतअंगेज कहानी

 

इस मामले में राणा के अलावा 11 अन्य भी आरोपी थे जिनमें से एक प्रदीप की नवंबर 2013 में तिहाड़ जेल में हृदय गति रुकने से मौत हो गई. शुक्रवार को सुनाए गए फैसले में अदालत ने राणा को छोड़ शेष सभी को रिहा कर दिया.

 

राणा को 27 जुलाई 2001 को गिरफ्तार किया गया था लेकिन 2004 में वह तिहाड़ जेल से फरार होने में कामयाब रहा.

 

2006 में उसे कोलकाता से गिरफ्तार किया गया और फिर दिल्ली लाकर उच्च सुरक्षा वाले कारागृह में डाल दिया गया.