आठ लड़कियों को मुक्त कराया

By: | Last Updated: Tuesday, 9 September 2014 9:57 PM
Police rescues Eight girls involved in prostitution

मध्य प्रदेश की बचारा जनजाती- पहले यह जनजाति राजाओं की दरबानी करने का काम करता थी. बाद में मातृप्रधान इस जनजाति ने वेश्यावृति का विरल्प चुना. परिवार का सहारा बनने के नाम पर बचारा जनजाति सबसे बड़ी बेटी को वेश्यावृति के पेशे में लाए जाने को समाजिक रूप से स्वीकार्य माना जाता है. लड़की का सौदा खुद बाप या भाई करते हैं. इस छोटी सी जनजाति की लड़कियों पर इस पेशे में बने रहने का दबाव इतना ज्यादा है कि अगर वे इसका विरोध करती हैं तो उन्हें समाज से अलग कर दिया जाता है.

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में बीते चार दिनों के दौरान दो स्थानों पर अलग अलग छापा मारकर आठ लड़कियों को मुक्त कराया. इन्हें कथित रूप से मानव तस्करी कर लाया गया था और जबरन वेश्यावृत्ति के धंधे में धकेला जा रहा था. पुलिस ने बताया कि कल शाम केंद्रीय दिल्ली के जीबी रोड पर से पांच नेपाली लड़कियों को मुक्त कराया गया.

 

अधिकारियों ने बताया कि मुक्त करायी गयी लड़कियों का दावा है कि वे सभी वयस्क हैं और काफी समय पहले तस्करी करके दिल्ली लाया गया था. सभी को मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया गया है और इस सिलसिले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है.

 

एक अन्य घटना में पूर्वी दिल्ली के शकरपुर क्षेत्र से शुक्रवार को एक नाबालिग सहित तीन लड़कियों को मुक्त कराया गया. पुलिस अधिकारी ने बताया कि सभी लड़कियां झारखंड की रहने वाली है और इन्हें कथित रूप से तस्करी करके दिल्ली लाया गया था और जबरन एक कमरे में बंद करके रखा गया था.

 

इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया गया है और एक व्यक्ति कपिल देव चौधरी को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Police rescues Eight girls involved in prostitution
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Girl girls Police prostitution rescue
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017