पुलिस ने नहीं होने दी 'इच्छाधारी नाग' की शादी!

By: | Last Updated: Friday, 1 August 2014 4:42 PM

बांदा: ‘मैं इच्छाधारी नाग हूं, नाग पंचमी को नागिन से शादी करूंगा.’ यह दावा था बांदा जिले के बबेरू थाने के पवैया गांव निवासी दलित युवक अरुण का. लेकिन पुलिस ने भारी हुजूम के बीच पहुंचकर इस युवक को हिरासत में ले लिया और अब वह लॉकअप में बंद है.

 

घटना कुछ इस प्रकार है कि बांदा जिले के बबेरू थाने के पवैया गांव के दलित युवक अरुण (21) ने चार दिन पहले गांव वालों को बताया था कि एक इच्छाधारी नागिन सपने में उसे बताती है कि वह उसका पूर्व पति है और उसके चाचा ने उसकी हत्या कर दी थी, अब वह हत्यारे के घर में जन्म लिया है.

 

बकौल अरुण, ‘मैं इच्छाधारी नाग हूं और नाग पंचमी को नागिन से शादी करूंगा.’ उसके इस ऐलान से आस-पास के गांवों के हजारों लोगों का हुजूम नाग पंचमी (शुक्रवार) को इकट्ठा हो गया.

 

इसी दौरान बबेरू पुलिस को सूचना मिली और वह मौके पर पहुंच कर कथित इच्छाधारी नाग (युवक) को हिरासत में ले लॉकअप में बंद कर दिया है. बबेरू कोतवाल कमल सिंह यादव का कहना है कि ‘युवक अंधविश्वास को बढ़ावा दे रहा था, इसलिए उसे हिरासत में लिया गया है.’

 

उधर, गांव में मौजूद प्रत्यक्षदर्शी सहदेव रैदास का कहना है कि पुलिस जैसे ही अरुण को हिरासत में लेकर चली गई तो एक नागिन ‘बांबी’ (सांप का बिल) से निकलकर आई और गुस्से में उसने कई लोगों को खदेड़ा. वह कहता है कि नागिन के इस तरह खदेड़ने से साबित होता है कि इन दोनों में जरूर कोई पुराना रिश्ता है.

 

इस तरह पुलिस के हस्तक्षेप के चलते कथित इच्छाधारी ‘नाग-नागिन’ की शादी नहीं हो सकी और ‘नाग’ इस समय पुलिस लॉकअप में बंद है.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Police_Snake_Marrige_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017