शक्ति मिल गैंगरेप: किशोरों को सुधार गृह भेजने का आदेश

By: | Last Updated: Wednesday, 16 July 2014 1:56 AM

नई दिल्ली: जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने मंगलवार को शक्ति मिल सामूहिक दुष्कर्म के दोषी करार दो किशोरों को सुधार गृह भेजने का आदेश दिया. 2013 में एक फोटो पत्रकार और एक कॉल सेंटर कर्मचारी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया था.

 

दोनों पीड़िता के वकील विशेष लोक अभियोजक उज्ज्वल निकम के मुताबिक, दोनों किशोरों को तीन वर्ष तक सुधार गृह में रखने की सजा सुनाई गई है. दोनों को नासिक के सुधार गृह में रखा जाएगा जहां उन्हें अच्छे चाल चलन का पाठ पढ़ाया जाएगा.

 

प्रधान दंडाधिकारी जी. बी. जाधव और मैरी चेट्टियार की सदस्यता वाले जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने दोनों किशोरों को सामूहिक दुष्कर्म, आपराधिक साजिश, छेड़खानी और भारतीय अपराध संहिता की अन्य धाराओं के तहत लगे आरोपों का दोषी पाया.

 

दोनों में से एक को जहां महिला फोटो पत्रकार (22) के साथ सामूहिक दुष्कर्म में शामिल होने के लिए गिरफ्तार किया गया था, वहीं दूसरे को काल सेंटर की कर्मचारी (19) के साथ दुष्कर्म में संलिप्त रहने के लिए गिरफ्तार किया गया था.

 

अप्रैल महीने में मुंबई की एक सत्र अदालत ने दोनों मामलों में संलिप्त तीन दोषियों को मृत्युदंड, जबकि उनके दो साथियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी.

 

मामले में विजय जाधव (19), कासिम बंगाली (21) और मोहम्मद सलीम अंसारी (28) को मृत्युदंड जबकि सिराज रहमान (24) और अश्फाक शेख (26) को उम्रकैद की सजा मिली.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: shakti_mill_gangrape
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017