बदायूं केस: सीबीआई ने कहा- न तो लड़कियों का रेप हुआ था, न ही हत्या

By: | Last Updated: Thursday, 27 November 2014 6:13 AM

नई दिल्ली: यूपी के बदायूं केस में नया मोड आ गया है. सीबीआई ने जांच के बाद कहा है कि पेड़ से जिन दो बहनों की लटकी हुई लाश मिली थी उन दोनों बहनों का की न तो हत्या हुई थी और ना ही उनसे रेप हुआ था. सीबीआई के मुताबिक दोनों बहनों ने खुदुकशी की थी.

बीते 28 मई को दो बहनों का शव बदायूं के एक गांव में पेड़ से लटका मिला था. इस केस में गांव के ही कुछ लोगों को रेप और हत्या का आरोपी बनाया गया था. विवाद बढने के बाद सीबीआई जांच कराई गई और अब राज्य सरकार को बड़ी राहत मिली है.

 

सीबीआई कटरा गांव में इन दो किशोरियों की कथित हत्या और रेप के मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए पांच लोगों पप्पू, अवधेश और उर्वेश यादव (तीनों भाई) और कांस्टेबलों छत्रपाल यादव तथा सर्वेश यादव के खिलाफ आरोपपत्र दायर न करने का फैसला पहले ही कर चुकी है.

 

सीबीआई सूत्रों ने बताया है कि उन्हें इसका सबूत नहीं मिला है कि लड़कियों की हत्या की गयी या मौत के पहले उन पर यौन हमला हुआ. एजेंसी बदायूं की अदालत में आज अपनी अंतिम रिपोर्ट दाखिल कर सकती है.

 

सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘मेडिकल बोर्ड इस नतीजे पर पहुंचा कि किसी भी पीड़िता पर यौन हमले का मामला संदिग्ध लगता है.’ सीबीआई ने हैदराबाद स्थित सेंटर फॉर डीएनए फिंगर प्रिंटिंग एंड डायग्नोस्टिक्स (सीडीएफडी) की मदद ली थी जिसने दोनों लड़कियों पर यौन हमले को खारिज कर दिया.

 

दोनों चचेरी बहनों के अभिभावकों के बयानों में भी विरोधाभास दिखा. सूत्रों ने बताया कि सीडीएफडी रिपोर्ट ने मौत के पहले चचेरी बहनों पर यौन हमले को लेकर कई तरह की शंकाओं को दूर कर दिया.

 

लाई डिटेक्शन टेस्ट में पांच लोगों के खिलाफ कुछ सबूत नहीं मिला. मई के अंतिम सप्ताह में उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में दो चचेरी बहनें एक पेड़ से लटकी पायी गयी थीं. एक की उम्र 14 साल और दूसरी की उम्र 15 साल थी.

 

घटना पर देशभर में प्रदर्शन हुए. कानून व्यवस्था के मुद्दे पर राज्य की समाजवादी पार्टी सरकार चारों ओर से घिर गयी थी. सीबीआई ने जून में जांच का जिम्मा संभाला था.

 

प्रतिक्रिया-

  • बीएसपी की मायावती ने सीबीआई की थ्योरी नकार दी है. मायावती ने कहा है कि सीबीआई ने जल्दबाजी में ऐसी रिपोर्ट दी है.
     

  • केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने सीबीआई रिपोर्ट को सही ठहराया है. कहा है कि बदायूं केस में जिसको अभी भी शक है वो न्यायिक जांच करा ले.
     

  • कांग्रेस नेता राशिद अल्वी सब लोगों को एहतियात बरतनी चाहिए. सच्चाई सामने आने के बाद ही टिप्पणी करनी चाहिए.

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Twist in Badaun gang-rape case: CBI says, No evidence found of murder, rape in Badaun sisters case
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017