हर रोज मानसिक तौर पर जूझ रही हूं मैं: ‘उबर’ रेप कांड की पीड़िता

By: | Last Updated: Sunday, 8 March 2015 1:23 PM

न्यूयॉर्क: नई दिल्ली में ‘उबर’ कंपनी के एक ड्राइवर द्वारा किए गए कथित रेप का शिकार हुई 25 साल की युवती ने आज कहा कि वह हर रोज मानसिक तौर पर जूझ रही है .

 

पीड़िता ने अमेरिकी कैब सेवा प्रदाता कंपनी ‘उबर’ पर आरोप लगाया कि भारत में परिचालन की अपनी नीतियों में मामूली बदलाव कर उसने उसके जख्मों पर नमक छिड़का है .

 

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर अपने संदेश में पीड़िता ने कहा, ‘‘जब तक महिलाएं सुरक्षित महसूस नहीं करती, हम समानता हासिल नहीं कर सकते. दुख की बात यह है कि ‘उबर’ इस बात को नहीं समझती .’’

 

महिला ने कहा कि वह पिछले साल दिसंबर में हुई घटना को भूलना चाहती है लेकिन ‘‘उस जघन्य हमले के बारे में उसे बार-बार याद करना पड़ता’’ है, खासतौर पर तब जब आरोपी के वकील ने ट्रायल के दौरान दूसरी बार उससे जिरह की .

 

अपने वकील डगलस विग्डोर के जरिए जारी किए गए संदेश में पीड़िता ने कहा, ‘‘इसे शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता कि मैं किस हालात से गुजर रही हूं और मैं अब भी मानसिक तौर पर जूझ रही हूं….यह हर रोज हो रहा है .’’

 

उन्होंने जोर देकर कहा कि एक रेप पीड़िता और भारतीय महिला होने के नाते अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस एक अहम मौका है ताकि ‘‘हम देख सकें कि हम कहां पहुंचे हैं और समानता का दावा करने से पहले कितना कुछ पाना बाकी है .’’

 

पीड़िता ने ‘उबर’ पर बरसते हुए कहा कि वह भारत की राजधानी नई दिल्ली में अपने सुरक्षा उपायों में मामूली बदलाव कर अब भी टैक्सियां चला रही है और जख्म पर नमक छिड़क रही है .

Crime News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Uber_rape_crime_women’s day_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: crime rape uber women's day
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017