ऑनलाइन बैंकिंग क्षेत्र में सूचनाएं चोरी करने वाला वायरस

By: | Last Updated: Sunday, 19 January 2014 2:14 PM

नई दिल्ली: साइबर सुरक्षा अधिकारियों ने भारतीय ऑनलाइन बैंकिंग लेनदेन के क्षेत्र में निजी सूचनाएं चोरी करने वाला वायरस ‘ब्लैक’ पकड़ा है. अधिकारियांे ने खरीदारी के दौरान भुगतान के लिए अपना डेबिट या क्रेडिट कार्ड स्वाइप करने वाले उपभोक्ताओं को इस बारे में सतर्क किया है.

 

तेजी से फैलने वाला यह ट्रोजन परिवार का यह वायरस रिटेल टर्मिनलांे पर बिक्री के काउंटरांे पर पकड़ में आया है. रिजर्व बैंक ने पिछले साल दिसंबर में डेबिट कार्डधारकों के लिए प्रत्येक खरीद के दौरान अपना पिन नंबर डालना अनिवार्य कर दिया है.

 

डेक्सटर ब्लैक पीओएस नाम का यह वायरस किसी प्रणाली पर हमला बोलने के बाद जब पीओएस टर्मिनल पर सुरक्षा प्रोटोकॉल को तोड़ देता है, तो उसके बाद यह गोपनीय सूचनाएं मसलन कार्डधारक का नाम, खाता नंबर, कार्ड समाप्त होने की तारीख, सीवीवी कोड व अन्य सूचनाएं चुराने में कामयाब हो जाता है.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ऑनलाइन बैंकिंग क्षेत्र में सूचनाएं चोरी करने वाला वायरस
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017