कितना कामयाब होगा केजरीवाल का दांव?

By: | Last Updated: Saturday, 15 February 2014 2:08 PM
कितना कामयाब होगा केजरीवाल का दांव?

नाटकीयता, अरविंद केजरीवाल की राजनीति का शुरू से ही अभिन्न हिस्सा रही है, और इसलिए दिल्ली के मुख्यमंत्री पद से उनके इस्तीफे को पूर्वनियोजित माना जा सकता है. केजरीवाल से अब उस भूमिका की अपेक्षा की जा सकती है, जो स्वाभाविक रूप से उनके पास है -एक प्रदर्शनकारी की भूमिका.

 

यह कहने में संकोच नहीं कि वह मुख्यमंत्री की अपेक्षा भीड़ को उकसाने वाले व्यक्ति के रूप में ज्यादा सफल होंगे. इसके अतरिक्त, वह यह दिखा सकते हैं कि विवेकहीन विपक्ष की वजह से ही वह मुख्यमंत्री बने रहने में असमर्थ हैं.

 

आम आदमी पार्टी (आप) के नेता इस बात से वाकिफ हैं कि बड़े तबके, विशेषकर निचले वर्ग के लोगों के बीच वह मसीहा की तरह हैं, जो राजनीति की गंदगी मिटाने को तत्पर है. उन्होंने जैसा दिल्ली विधानसभा में इस्तीफे के दौरान अपने भाषण में कहा कि वह भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में अपना जीवन अर्पित करना चाहते हैं.

 

इस्तीफे के बाद वह इस स्थिति में हैं, जहां वह यह दावा कर सकते हैं कि कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और उद्योगपति मुकेश अंबानी ने उन्हें उनके उद्देश्य को पूरा नहीं करने दिया.

 

अगर उनके दावे को लोगों ने सच मान लिया और वो सोमनाथ भारती जैसे अति उत्साही समर्थक को नियंत्रित करने में कामयाब रहे तो ऐसा अंदाजा लगाया जा सकता है कि अगले विधानसभा चुनाव में वह पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने में कामयाब रहेंगे.

 

संसदीय चुनाव में भी आप को 20 से 40 सीट मिल सकती है. यह परिणाम भाजपा के शीर्ष नेताओं की त्योरियां चढ़ा सकता है, क्योंकि आप, भाजपा के वोटबैंक में सेंध लगा सकती है और इसकी वजह यह है कि दोनों के वोटबैंक हिंदू शहरी मध्य वर्ग हैं.

 

कांग्रेस अभी भाजपा को मात देने की स्थिति में नहीं है, इसलिए अति उत्साही आप को मौका मिल सकता है.

 

लेकिन फिर भी अगर आप दिल्ली में अपने दम पर सरकार बना भी लेती है, तो उस सरकार ज्यादा दिन चल नहीं पाएगी. इसकी वजह यह है कि पार्टी हर किसी का विरोध कर रही है, चाहे वो उपराज्यपाल हों या फिर अंबानी. वह खुद की नैतिक छवि की वजह से किसी भी मुद्दे पर समझौता नहीं करना चाहती.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: कितना कामयाब होगा केजरीवाल का दांव?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी नियमों में बदलाव कर सकता है ट्राई
मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी नियमों में बदलाव कर सकता है ट्राई

नई दिल्लीः भारतीय टेलीकॉम रेगूलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी...

Carl Zeiss लेंस के डुअल कैमरा के साथ लॉन्च हुआ मोस्ट अवेटेड Nokia 8
Carl Zeiss लेंस के डुअल कैमरा के साथ लॉन्च हुआ मोस्ट अवेटेड Nokia 8

नई दिल्लीः HMD ग्लोबल ने बीती रात में लंदन के एक इवेंट में मोस्ट अवेटेड नोकिया 8 फ्लैगशिप...

स्वाइप ने लॉन्च बेहद सस्ता Elite 4G स्मार्टफोन , कीमत 3,999 रु.
स्वाइप ने लॉन्च बेहद सस्ता Elite 4G स्मार्टफोन , कीमत 3,999 रु.

पुणेः स्वाइप टेक्नॉलजीज ने बुधवार को किफायती 4G स्मार्टफोन ‘Elite 4G’ 3,999 रुपये में लॉन्च किया, जो...

 भारतीय स्मार्टफोन बाजार में तीसरी तिमाही में आएगी तेजी: आईडीसी
भारतीय स्मार्टफोन बाजार में तीसरी तिमाही में आएगी तेजी: आईडीसी

नई दिल्लीः साल की पहली और दूसरी तिमाही में वृद्धि दर में गिरावट के बाद भारतीय स्मार्टफोन बाजार...

कितने सुरक्षित है स्मार्टफोन हैंडसेट, बताएं मोबाइल हैंडसेट मुहैया कराने वाली कंपनियां
कितने सुरक्षित है स्मार्टफोन हैंडसेट, बताएं मोबाइल हैंडसेट मुहैया कराने...

नई दिल्लीः चीन से तकनीकी खतरे की आशंका के मद्देनजर सरकार ने भारतीय बाजारो में स्मार्टफोन...

स्मार्टफोन कंपनियों को सरकार का नोटिस, पूछा- क्या हैं डेटा की सुरक्षा के इंतजाम
स्मार्टफोन कंपनियों को सरकार का नोटिस, पूछा- क्या हैं डेटा की सुरक्षा के...

नई दिल्लीः देश के मोबाइल फोन यूजर्स की सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने कड़ा कदम उठाया...

बाजार में आने से पहले ही जियोफोन को लेकर वोडाफोन ने लिखी सरकार चिट्ठी
बाजार में आने से पहले ही जियोफोन को लेकर वोडाफोन ने लिखी सरकार चिट्ठी

नई दिल्‍ली: देश की दूसरी सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी वोडाफोन का मानना है कि ​रिलायंस जियो के...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017