तेलंगाना में शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ मतदान

तेलंगाना में शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ मतदान

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM

हैदराबाद: आंध्र प्रदेश के तेलंगाना क्षेत्र में लोकसभा की 17 और विधानसभा की 119 सीटों पर बुधवार को शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न हो गया. यहां करीब 72 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया.

 

कुछ छिटपुट घटनाओं को छोड़ कर हैदराबाद सहित तेलंगाना के सभी 10 जिलों के 30,574 मतदान केंद्रों पर मतदान शांतिपूर्ण रहा. इस बार 2009 के 67.71 प्रतिशत के मुकाबले ज्यादा मतदान हुआ है, लेकिन चुनाव आयोग द्वारा तय किए गए 90 प्रतिशत लक्ष्य से पीछे रहा.

 

मुख्य निर्वाचन अधिकारी भंवरलाल ने कहा कि नलगोंडा में सर्वाधिक 81 प्रतिशत मतदान हुआ, जबकि हैदराबाद में 53 प्रतिशत मतदान हुआ. चुनाव अधिकारियों और एनजीओ के जागरूकता अभियान के बावजूद हैदराबाद में 2009 के 58 प्रतिशत के मुकाबले इस बार 53 प्रतिशत ही मतदान हो पाया.

 

उन्होंने बताया कि नक्सल प्रभावित 10 विधानसभा क्षेत्रों में किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है. कहीं से गड़बड़ी की सूचना या दोबारा मतदान कराने का आग्रह नहीं प्राप्त हुआ है. तीन नक्सल प्रभावित विधानसभा क्षेत्रों में चार बजे और 10 अन्य क्षेत्रों में शाम 5 बजे मतदान समाप्त हो गया.

 

तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) और तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प के बाद मेदक लोकसभा क्षेत्र के गाजेवल विधानसभा सीट पर पुलिस ने तेदेपा उम्मीदवार प्रताप रेड्डी को नजरबंद कर दिया.

 

इस चरण में लोकसभा के 265 और विधानसभा के 1,669 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे थे. टीआरएस प्रमुख के.चंद्रशेखर राव मेदक लोकसभा सीट और गाजेवल विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.

 

टीआरएस और कांग्रेस समर्थकों के बीच कोल्लापुर सीट पर हुई झड़प के दौरान दो लोग घायल हो गए. रंगारेड्डी और महबूबनगर में विभिन्न दलों के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की जानकारी मिली है.

 

नलगोंडा जिले के सूर्यापेट में एक कांग्रेस नेता की कार में रहस्यमय तरीके से आग लग गई जिससे उसके इंजन में छिपा कर रखे गए 1000 और 500 रुपये के नोटों के बंडल जल गए. इनोवा कार में आग लगने के बाद चालक मौके से फरार हो गया.

 

यह कार कथित रूप से तेलंगाना कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी की बताई जा रही है. अधिकारियों ने कहा है कि चालक के गिरफ्तार होने के बाद ही कार के मालिक और अन्य ब्योरे का पता चल सकेगा. कार में 2.5 करोड़ रुपये छिपाकर रखे गए थे.

 

इस चरण के मुख्य उम्मीदवारों में केंद्रीय मंत्री एस.जयपाल रेड्डी, टीआरएस प्रमुख के.चंद्रशेखर राव, उनकी बेटी के.कविता, लोकसत्ता प्रमुख जय प्रकाश नारायण और मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी शामिल हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बेहतरीन कैमरा, AR इमोजी और सुपर स्लोमो के साथ लॉन्च हुआ Samsung Galaxy S9, S9+