ब्लॉग: अखिलेश की झल्लाहट और सैफई की रंगीन शाम

By: | Last Updated: Friday, 10 January 2014 3:26 PM
ब्लॉग: अखिलेश की झल्लाहट और सैफई की रंगीन शाम

सैफई महोत्सव को लेकर मीडिया की तमाम आलोचना झेलने के बाद आखिरकार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को यूपी की जनता को जवाब देना ही पड़ा. लेकिन मुख्यमंत्री का जवाब उत्तर प्रदेश की जनता को कम देश की मीडिया को ज्यादा था. कहां तक अखिलेश सैफई महोत्सव के आयोजन का बचाव करते उल्टे मीडिया पर ही भड़क उठे. अखिलेश ने ना केवल मीडिया की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाए बल्कि एक अखबार और उसके मालिक पर भी गंभीर आरोप लगा दिए.

 

वैसे अपनी गलतियां छिपाने का यह तरीका अच्छा है कि आप गलतियां निकालने वाले में ही कुछ गलतियां निकाल दीजिए और साबित कर दीजिए की सामने वाला ही गलत था. वही आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किया.

 

अखिलेश ने कहा की अगर मुजफ्फरनगर पर सवाल पूछना है तो मुझसे पुछिए, सैफई महोत्सव में आए कलाकारों से इस विषय में कोई सवाल ना पूछा जाए. कुछ हद तक अखिलेश की बात भी सही है कि अगर राज्य के प्रशासन के विषय में कोई सवाल पूछना है तो राज्य के मुखिया से पूछा जाना चाहिए लेकिन हो सकता है पत्रकारों ने मानवीय पहलू को ध्यान में रखते हुए बॉलीवुड कलाकारों से सवाल पूछा हों! क्योंकि बॉलीवुड कलाकार भी तो आखिर इंसान ही हैं.

 

अखिलेश ने सैफई महोत्सव में डांस करने वाली माधुरी दीक्षित की फिल्म डेढ़ इश्कियां और बुलेट राजा को 1-1 करोड़ दिए. तर्क ये था कि इन फिल्मों की शूटिंग उत्तर प्रदेश में हुई है इसलिए इन्हें 1-1 करोड़ रुपये दिए गए. इससे उत्तर प्रदेश में पर्यटन बढ़ेगा, दूसरे निर्देशक भी प्रदेश में अपनी फिल्मी शूट करने के लिए आएंगे. शायद ऐसा ही कुछ तर्क मायावती ने दिया था जब लखनऊ और नोएडा में जनता की गाढ़ी कमाई से पार्क बनाए गए थे. मायावती ने भी कहा था कि इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा. फिल्मों की शूटिंग को प्रोत्साहन देना और पार्क बनाना गलत नहीं है.

 

क्या इन सवालों के बारे में सीएम ने सोचा?

 

लेकिन सवाल यह है कि जिस राज्य में अभी भी 25 फीसदी के आसपास लोग गरीबी रेखा से नीचे हों, 30 फीसदी के आसपास लोग अभी भी अशिक्षित हों. हाल में दंगे हुए हों. शामली में अभी भी राहत कैंपों में लोग रह रहे हों. राज्य पर विश्व बैंक का कर्ज हो. प्राथमिक स्कूल यूनिसेफ की मदद से चल रहे हों. आशा बहूंओं के बावजूद गांवों में स्वास्थ्य सुविधाएं ना हों उस गरीब राज्य की जनता का पैसा अगर उन फिल्मों को 1-1 करोड़ रुपये प्रोत्साहन स्वरूप दिया जाए जिनके रिलीज होने से पहले ही फिल्म विश्लेषक अनुमान लगाने लगते हैं कि यह 100 करोड़ कमाएगी या 200 करोड़ कमाएगी. ऐसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के इस तर्क को समझने में थोड़ी दिक्कत महसूस होती है.

 

बुलेट राजा और डेढ़ इश्किया को 1-1 करोड़ देने की आलोचना करने वाले लोगों पर अखिलेश ने कहा कि ये वो लोग है जो नहीं चाहते की उत्तर प्रदेश में शूटिंग हो. ये लोग लखनऊ की तहजीब से नफरत करते हैं. ये लोग उर्दू से नफरत करते हैं. मुख्यमंत्री का यह बयान तो समझ से परे है. क्योंकि लखनऊ में अगर आरएसएस का कट्टर समर्थक भी होगा तो वो भी जाने अनजाने में ना जाने कितनी बार उर्दू के शब्द बोलता होगा. अखिलेश के दिमाग में ये बात कहां से आई ये तो वही बता सकते हैं. लेकिन एक पत्रकार होने के नाते दिमाग में सवाल आता है कि कहीं उन अल्पसंख्यंकों को यह संदेश देने की कोशिश तो नहीं की गई जो पार्टी से नाराज हैं और पार्टी से दूर जा रहे हैं.

 

अखिलेश का यह बयान क्या मुलायम सिंह के उस बयान की भरपाई था जिसमें मुलायम सिंह ने कहा था कि मुजफ्फरनगर में षड़यंत्रकारी रहते हैं.

 

अखिलेश यादव ने कहा कि सैफई महोत्सव बहुत ही सादगी से आयोजित हुआ और यह गांव के गरीब किसानों के लिए था. अगर सैफई महोत्सव के आखिरी शाम को सादगी भरा कहेंगे जिसमें माधुरी दीक्षित, आल्या भट्ठ, जरीन खान, राखी सांवत, सलमान खान हों मुझे नहीं पता की मुख्यमंत्री की नजर में रंगीन शाम क्या होती है ? और जहां तक रही बात की सैफई में यह आयोजन गांव के गरीब किसानों के लिए था तो क्या उत्तर प्रदेश में सबसे गरीब और सबसे ज्यादा किसान मुलायम और अखिलेश के गांव सैफई में ही हैं?

 

नाच-गाने पर खर्च का हिसाब-किताब

 

अखिलेश ने कहा कि सैफई के आयोजन में 6-7 करोड़ रुपये खर्च हुए होंगे. पत्रकारों के थोड़ा जोर देकर पूछने पर कहा कि ज्यादा से ज्यादा 10 करोड़ रुपये खर्च हुए होंगे. खैर मैं चार्टर्ड एकाउंटेंट तो नहीं हूं और ना उस अखबार का रिपोर्टर हूं जिसने कुल खर्च 300 करोड़ रुपये बताया है. लेकिन अगर एक आम नागरिक होने के नाते जब सोचता हूं कि टीवी शो बिग बास के 1 घंटे के एक एपीसोड में आने के लिए जब सलमान खान 5 करोड़ रुपये लेते हैं तो सैफई में रातभर डांस करने के लिए सलमान ने कितना लिया होगा? नए साल पर अभिनेत्रियां डांस करने के लिए करोड़ों रुपये लेती हैं. तो क्या करोड़ों रुपये में डांस करने वाली अभिनेत्रियों ने मुख्यमंत्री के गांव में फ्री में डांस किया ? क्या इतने बड़े आयोजन को आयोजित करने में सिर्फ 6-7 करोड़ रुपये ही लगे. जब मोदी का एक मंच बनाने में 1-2 करोड़ रुपये खर्च हो जाते हैं. तो क्या 26 दिसंबर से 8 जनवरी तक चले सैफई महोत्सव में अधिकतम 10 करोड़ रुपये ही खर्च हुए होंगे ?

 

सवाल बहुत से हैं जिनके जवाब शायद ना तो मुख्यमंत्री के पास हैं और ना ही बॉलीवुड कलाकारों के पास. सैफई में शानदार आयोजन हुआ इस बात से किसी को आपत्ति भी नहीं है. फिल्मों की उत्तर प्रदेश में शूटिंग हो इस बात से भी किसी को कोई आपत्ति नहीं है. गंगा जमुनी के तहजीब वाले उत्तर प्रदेश में भी हिंदी की सगी बहन उर्दू से भी किसी को कोई आपत्ति नहीं है. मुख्यमंत्री साहब से गुजारिश तो बस इतनी सी थी कि थोड़ी चिंता उन लोगों की भी कर लेते जो इस हांड़ कंपाती ठंड में प्रदेश के फुटपाथों पर सो रहे हैं. थोड़ी चिंता उन प्राथमिक स्कूलों के बच्चों की कर लेते जिनका भविष्य अंधकार में है. थोड़ी चिंता यूपी की सड़कों की कर लेते जो एक बार बाहर से आता है वो फिर आने का नाम नहीं लेता. थोड़ी चिंता प्रदेश के कानून व्यवस्था की भी कर लेते.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ब्लॉग: अखिलेश की झल्लाहट और सैफई की रंगीन शाम
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ?????
First Published:

Related Stories

लेनोवो K8 नोट की पहली फ्लैश सेल आज, इन खास ऑफर्स के साथ बिक्री के लिए होगा उपलब्ध
लेनोवो K8 नोट की पहली फ्लैश सेल आज, इन खास ऑफर्स के साथ बिक्री के लिए होगा...

नई दिल्ली: चाइनीज मोबाइल मेकर लेनोवो का नया स्मार्टफोन K8 नोट आज भारत में पहली बार सेल पर मिलेगा....

Jio Effect : एयरटेल ने पेश किया धमाकेदार ऑफर, 399 रुपये में 84GB डेटा और अनलिमिटेड कॉलिंग
Jio Effect : एयरटेल ने पेश किया धमाकेदार ऑफर, 399 रुपये में 84GB डेटा और अनलिमिटेड कॉलिंग

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी एयरटेल ने जियो की चुनौती से निपटने के लिए धमाकेदार...

मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी नियमों में बदलाव कर सकता है ट्राई
मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी नियमों में बदलाव कर सकता है ट्राई

नई दिल्लीः भारतीय टेलीकॉम रेगूलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी...

Carl Zeiss लेंस के डुअल कैमरा के साथ लॉन्च हुआ मोस्ट अवेटेड Nokia 8
Carl Zeiss लेंस के डुअल कैमरा के साथ लॉन्च हुआ मोस्ट अवेटेड Nokia 8

नई दिल्लीः HMD ग्लोबल ने बीती रात में लंदन के एक इवेंट में मोस्ट अवेटेड नोकिया 8 फ्लैगशिप...

स्वाइप ने लॉन्च बेहद सस्ता Elite 4G स्मार्टफोन , कीमत 3,999 रु.
स्वाइप ने लॉन्च बेहद सस्ता Elite 4G स्मार्टफोन , कीमत 3,999 रु.

पुणेः स्वाइप टेक्नॉलजीज ने बुधवार को किफायती 4G स्मार्टफोन ‘Elite 4G’ 3,999 रुपये में लॉन्च किया, जो...

 भारतीय स्मार्टफोन बाजार में तीसरी तिमाही में आएगी तेजी: आईडीसी
भारतीय स्मार्टफोन बाजार में तीसरी तिमाही में आएगी तेजी: आईडीसी

नई दिल्लीः साल की पहली और दूसरी तिमाही में वृद्धि दर में गिरावट के बाद भारतीय स्मार्टफोन बाजार...

कितने सुरक्षित है स्मार्टफोन हैंडसेट, बताएं मोबाइल हैंडसेट मुहैया कराने वाली कंपनियां
कितने सुरक्षित है स्मार्टफोन हैंडसेट, बताएं मोबाइल हैंडसेट मुहैया कराने...

नई दिल्लीः चीन से तकनीकी खतरे की आशंका के मद्देनजर सरकार ने भारतीय बाजारो में स्मार्टफोन...

स्मार्टफोन कंपनियों को सरकार का नोटिस, पूछा- क्या हैं डेटा की सुरक्षा के इंतजाम
स्मार्टफोन कंपनियों को सरकार का नोटिस, पूछा- क्या हैं डेटा की सुरक्षा के...

नई दिल्लीः देश के मोबाइल फोन यूजर्स की सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने कड़ा कदम उठाया...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017