महामारी की तरह लोगों में फैले फेसबुक का 2015 तक होगा सफाया?

By: | Last Updated: Friday, 24 January 2014 6:11 AM

नई दिल्ली: आजकल सोशल साइट फेसबुक हमारे लाइफ का अहम हिस्सा बन चुका है. सोते, जागते, उठते, बैठते, खुशी हो दुख हर समय हम फेसबुक पर अपना स्टेटस अपडेट करते हैं..दोस्तों से चैट करते हैं. लेकिन प्रिंसटन यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए एक रिसर्च के मुताबिक फेसबुक पर खतरा मंडरा रहा है. 

लोगों की दिलचस्पी अब फेसबुक में कम होने लगी है. इस रिसर्च के मुताबिक 2015 तक इस वेबसाइट का खात्मा हो सकता है. माईस्पेस जैसा ही होने के नाते फेसबुक के 80 प्रतिशत यूजर्स इससे अलग हो गए है. 

 

अगर आपको आश्चर्य हो रहा  है तो यह बता दें कि माइस्पेश भी बुहत ही पॉपुलर सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट है लेकिन 2008 में इसके 80 प्रतिशत यूजर्स कम हो गए थे.

 

इस रिसर्च के मुताबिक फेसबुक पहले ही अपने सेचुरेशन प्वाइंट पर पहुंच चुका है और अब यह अपने डिक्लाइन होने के फेज में है. उनके मुताबिक फेसुबक को प्लेग हो गया है. बीमारी जैसे आइडियाज संक्रमण की तरह लोगों में फैलते हैं, लेकिन एक समय ऐसा आता है कि उनकी मौत हो जाती है. इन आइडियाज को महामारी विज्ञान के मॉडल की तरह समझा जा सकता है.

 

यह शायद थोड़ा हास्यापद भी  लगें क्योंकि फेसबुक पर इस समय 873 मिलियन यूजर्स है. लेकिन हम इस बात को नहीं नकार सकते कि जो जितनी जल्दी ऊपर की तरफ जाता है वह नीच भी उतनी ही जल्दी आता है.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: महामारी की तरह लोगों में फैले फेसबुक का 2015 तक होगा सफाया?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017