महिलाओं की सुरक्षा के लिए जल्द ही फोन में होगा ‘पैनिक’ बटन और एप्लिकेशन

By: | Last Updated: Thursday, 6 February 2014 4:23 AM

नई दिल्ली: कोई महिला या किसी खतरे का सामना कर रहा कोई दूसरा समूह ऐसी स्थिति में अपने मोबाइल फोन पर ‘पैनिक’ बटन और एक एैप्लिकेशन का इस्तेमाल कर मदद मांग सकता है

 

2012 में दिल्ली में हुए सामूहिक बलात्कार की घटना के बाद इस महत्वाकांक्षी योजना का खाका तैयार किया गया था. यह योजना 321.69 करोड़ रपए की लागत से अगले नौ महीने में देश भर के 114 शहरों में पूरी कर ली जाएगी. योजना के लिए धनराशि ‘निर्भया कोष’ से दिए जाएंगे.

 

योजना के तहत हर दिन लगातार 24 घंटे एक आपातकाल प्रतिक्रिया :ईआर: इकाई काम करेगी जो ज्योग्राफिकल पोजिशिनिंग सिस्टम :जीपीएस: या ज्योग्राफिकल इंफोरमेशन सिस्टम :जीआईएस: की मदद से खतरे का सामना कर रहे व्यक्ति की जगह का पता लगा लगाएगी.

 

एक आधिकारिक बयान में आज कहा गया, ‘‘सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा विकसित उपकरण के माध्यम से मोबाइल फोन या लैंडलाइन में पैनिक बटन और स्मार्ट फोन में मोबाइल फोन एैप्लिकेशन से बजाए गए आपातकालीन अलार्म का पता लगाया जाएगा और ईआर इकाईयां काम में लग जाएंगी.’’ इसे बाद में एक अकेले केंद्रीय आपातकाल प्रतिक्रिया नंबर में बदला जा सकता है. अमेरिका, यूरोप और रूस समेत कई देशों में नागरिकों की मदद के लिए आपातकाल प्रतिक्रिया नंबर उपलब्ध कराया गया है.

 

स्मार्ट फोन उपयोगकर्ता मोबाइल एैप्लिकेशन डाउनलोड कर सकते हैं जबकि बेसिक फोन उपयोगकर्ताओं के लिए नए बेसिक फोन मॉडलों में ‘पैनिक’ बटन की व्यवस्था होगी.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: महिलाओं की सुरक्षा के लिए जल्द ही फोन में होगा ‘पैनिक’ बटन और एप्लिकेशन
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017