स्पेक्ट्रम नीलामी: दूसरे दिन तक 45,000 करोड़ रुपये की बोलियां लगीं

By: | Last Updated: Wednesday, 5 February 2014 4:21 AM

नयी दिल्ली: दूरसंचार स्पेक्ट्रम की नीलामी को लेकर दूसरे दिन भी दूरसंचार कंपनियों में उत्साह कायम रहा. स्पेक्ट्रम नीलामी के तहत अब तक 45,000 करोड़ रुपये की बोलियां मिली हैं. खासतौर से दिल्ली, मुंबई और कोलकता में प्रीमियम 900 मेगाहट्र्ज बैंड के स्पेक्ट्रम की काफी मांग आ रही है.

 

आज दूसरे दिन की बोलियों का दौर समाप्त होने के बाद दूरसंचार मंत्री कपिल सिब्बल ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘जिस तरीके से नीलामी आगे बढ़ रही है उसे देखकर हम काफी खुश हैं. हमें उम्मीद है कि हमें इतना अधिक राजस्व मिलेगा कि वित्त मंत्री का चेहरा खिल जाएगा.’’ वित्त वर्ष 2013-14 के बजट में स्पेक्ट्रम नीलामी से चालू वित्त वर्ष में 40,874 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा गया है.

 

दूरसंचार सचिव एम एफ फारूकी ने कहा, ‘‘हमारा अंदाजा है कि आज तक कुल 45,000 करोड़ रुपये की बोलियां मिली हैं. नीलामी अच्छी रफ्तार से आगे बढ़ रही है. 900 मेगाहट्र्ज स्पेक्ट्रम के लिए अतिरिक्त मांग है. 1800 मेगाहट्र्ज बैंड में भी ऐसी ही स्थिति है. हम नीलामी कल फिर शुरू करेंगे.’’ नवंबर, 2012 में नीलामी महज दो दिन में समाप्त हो गयी थी वहीं मार्च 2013 में उसी दिन खत्म हो गयी.

 

यदि नीलामी जीतने वाली कंपनियां अंतिम नीलामी मूल्य का भुगतान किस्तों में भी करती हैं तो सरकार को कम से कम 11,790 करोड़ रुपये की राशि मिलेगी. यह अग्रिम भुगतान के रूप में जुटाए जाने वाले 11,343 करोड़ रुपये के लक्ष्य से अधिक है. 1800 मेगाहट्र्ज बैंड में 2जी स्पेक्ट्रम की अतिरिक्त मांग सिर्फ दो सेवा क्षेत्रों गुजरात व पश्चिम उत्तर प्रदेश में देखने को मिली है. इससे स्पेक्ट्रम का मूल्य बढ़ गया है.

 

नीलामी में 900 मेगाहट्र्ज में काफी आक्रामक तरीके से प्रतिद्वंद्विता देखने को मिली. इस स्पेक्ट्रम की नीलामी सिर्फ तीन शहरों दिल्ली, मुंबई व कोलकाता के लिए की जा रही है. इन तीनों बाजारों में भारती व वोडाफोन के लाइसेंस नवंबर में समाप्त हो रहे हैं और ऐसे में उन्हें बने रहने के लिए नीलामी में स्पेक्ट्रम खरीदना जरूरी है.

 

दिल्ली के लिए 900 मेगाहट्र्ज बैंड के स्पेक्ट्रम का दाम 47.42 प्रतिशत बढ़कर 530.73 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. इसके लिए सरकार ने आरक्षित मूल्य 360 करोड़ रुपये तय किया था. मुंबई में स्पेक्ट्रम का मूल्य 328 करोड़ रुपये के आरक्षित मूल्य की तुलना में 68.30 प्रतिशत बढ़कर 552.05 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

 

वहीं कोलकाता में 900 मेगाहट्र्ज बैंड के स्पेक्ट्रम का मूल्य 125 करोड़ रुपये के आरक्षित मूल्य की तुलना में 46.83 प्रतिशत बढ़कर 183.54 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस जियो इन्फोकॉम, भारती एयरटेल व वोडाफोन सहित कुल 8 कंपनियां नीलामी में भाग ले रही हैं. 15 माह में तीसरी बार आयोजित स्पेक्ट्रम नीलामी में 22 सर्कलों के लिए 900 मेगाहट्र्ज व 1,800 मेगाहट्र्ज के स्पेक्ट्रम स्लॉट पेश किए गए हैं.

 

दूरसंचार मंत्री कपिल सिब्बल ने बताया कि नीलामी के पहले दिन कुल 40,000 करोड़ रुपये की बोलियां मिलीं. नीलामी पर प्रतिक्रिया पूछे जाने पर भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के चेयरमैन राहुल खुल्लर ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमने सब कुछ सही किया है.’’ सरकार को 2010 में 3जी और बीडब्ल्यूए स्पेक्ट्रम की नीलामी से 1.05 लाख करोड़ रुपये मिले थे. 2010 में 3जी नीलामी 34 दिन और ब्रॉडबैंड वायरलेस एक्सेस (बीडब्ल्यूए) स्पेक्ट्रम नीलामी 16 दिन चली थी.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: स्पेक्ट्रम नीलामी: दूसरे दिन तक 45,000 करोड़ रुपये की बोलियां लगीं
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ?????? ??????????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017