एबीपी न्यूज पर अदनान सामी की सफाई,  मैंने कोई जानकारी नहीं छुपाई

By: | Last Updated: Friday, 30 October 2015 4:01 PM

नई दिल्लीः पाकिस्तानी गायक अदनान सामी ने खुद पर लग रहे आरोपों को लेकर सफाई दी है. दरअसल पाकिस्तानी गायक अदनान सामी की भारतीय नागरिकता की अर्जी पर भारत सरकार जल्द ही फैसला करने वाली है लेकिन इससे ठीक पहले अदनान सामी पर कई आरोप लगे हैं. आरोपों के मुताबिक अदनान सामी ने हलफनामे में कई बातें छिपाई थीं लेकिन अब अदनान सामी ने एबीपी न्यूज से सीधी बातचीत में अपनी सफाई दी है.

 

अदनान सामी पर आरोप लगा है कि उन्होंने नागरिकता के लिए जो अर्जी जुलाई महीने में मुंबई के उपनगरीय कलक्टर को सौंपी थी उसमें कई तथ्य छिपाए गए थे. अदनान सामी का कहना है उन्होंने कोई तथ्य नहीं छिपाया और वो पाकिस्तानी होने के बावजूद अब पूरी तरह भारतीय बन चुके हैं

 

भारत की नागरिकता को अपने लिए भारत रत्न मानने वाले अदनान सामी पर आरोप लगाया जा रहा है वो उनके पूर्व मैनेजर राजेंद्र लोढ़िया ने लगाया है. राजेंद्र लोढ़िया ने आपके चैनल एबीपी न्यूज से बातचीत में दावा किया था कि वो साल 2011 से 2013 के बीच अदनान सामी के मैनेजर थे. उनका आरोप है कि अदनान सामी ने ना सिर्फ उन्हें बिना नोटिस दिए काम से हटा दिया बल्कि उनके करीब 27 लाख रुपये भी नहीं दिए. इसे लेकर अदनान सामी के पूर्व मैनेजर राजेंद्र लोढ़िया ने मुंबई के अंधेरी थाने में एफआईआर भी दर्ज करवाई थी.

 

 

सिर्फ राजेंद्र लोढ़िया ही नहीं बल्कि अदनान सामी को सुरक्षा मुहैया करवाने वाली एजेंसी 911 के मालिक युसुफ ने भी आरोप लगाया था कि 6 महीने के बाद अदनान ने सिक्योरिटी के पैसे भी नहीं दिए थे.

 

अदनान के दोनों पूर्व कर्मचारियों ने ये आरोप भी लगाया था कि अदनान सामी ने अपने ड्राइवर, अपनी नौकरानी को भी अदनान ने उनका मेहनताना नहीं दिया.

 

 

इस खबर के दिखाए जाने के बाद एबीपी न्यूज के कैमरे पर आए अदनान सामी ने दस्तावेज दिखाते हुए दावा किया है कि ये सभी आरोप निराधार हैं

 

अदनान सामी ने एबीपी न्यूज के कैमरे पर तो सफाई दी ही साथ ही अपने ऊपर लगे आरोपों को लेकर कैमरे के बिना भी 2 घंटे तक सफाई देते रहे. मुद्दा था कि आखिर अदनान सामी ने भारतीय नागरिकता के लिए पेश किए गए हलफनामे में फेमा कोर्ट के फैसले का जिक्र क्यों नहीं किया. अदनान सामी की सफाई दिखाने से पहले देखिए क्या था पूरा मामला.

 

आपको बताते हैं कि अदनान सामी ने विदेशी मुद्रा के लेन-देन में गड़बड़ी के जिस मामले का जिक्र भारतीय नागरिकता की अर्जी में नहीं किया है वो क्या है. देखिए ये है फेमा कोर्ट यानी विदेशी मुद्रा प्रबंधन कानून की अदालत का आदेश. अदनान सामी को गुनाहगार साबीत करने वाला यह ओर्डर 21 दिसंबर 2010 को जारी हुआ है. इस दस्तावेज में दर्ज है कि अदनान सामी मुंबई के अंधेरी इलाके के ओबेरॉय गार्डन में एक दो नहीं पूरे 8 फ्लैट्स खरीदे हैं. लेकिन पाकिस्तानी नागरिक होते हुए भारत में बिना मंजूरी के फ्लैट खरीदना गैरकानूनी है.

 

सरकार का नियम है कि इसके लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की मंजूरी लेनी होती है जो अदनान सामी के पास नहीं थी. फेमा कोर्ट में बाकायदा केस चला और इस पूरे मामले मे अदनान को 20 लाख रुपयों का जुर्माना भी हुआ है. अदनान ने इसके खिलाफ अर्जी लगाई है. भारत सरकार ने अदनान के वो आठ फ्लैट सील कर दिए हैं. आपको बता दें कि जुर्माना चुकाने के लिए अदनान सामी को साल 2010 में 45 दिन की मोहलत दी गई थी लेकिन पांच साल बाद भी अदनान ने जुर्माना नहीं भरा. लेकिन अदनान सामी का कहना है कि उन्होंने मुंबई के अंधेरी इलाके में ओबराय स्काई गार्डन में फ्लैट खरीदने के लिए बिल्डर और वकील दोनों की मदद ली थी. इस मामले में जब फेमा कोर्ट ने उन पर 20 लाख का जुर्माना लगाया तो

 

अदनान सामी एप्लेट ट्रिब्यूनल में मामला ले गए थे.  ये मामला आपराधिक नहीं है बल्कि दीवानी है  इसलिए इसका हलफनामे में जिक्र करना जरूरी नहीं है.

 

इसके अलावा अदनान सामी पर ऐसे विदेशी शो से हुई कमाई को लेकर भी ये आरोप लगाया जा रहा है कि उन्होंने विदेशों में हुई कमाई का खुलासा भारत में दाखिल इनकम टैक्स रिटर्न में नहीं किया था.

 

अदनान सामी के मुताबिक इनकम टैक्स के मामले को उनके सीए यानी चार्टर्ड एकाउंटेंट देखते हैं. वो तब विदेशी नागरिक थे. विदेशी नागरिकों को विदेश में हुई कमाई को भारत के आयकर विभाग को बताने की जरूरत नहीं है.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: adnana sami talks to abp news
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017