बिहार चुनाव- प्रचार में धरती-आसमान सब एक कर दिया

By: | Last Updated: Wednesday, 4 November 2015 6:55 AM
Bihar election: Know numbers of rallies by leaders and parties

नई दिल्ली : बिहार में कल फाइनल राउंड की वोटिंग है. तमाम बड़े नेता अब अपने घर से रणनीति बनाने में जुटे हैं. महीने भर से ज्यादा चले प्रचार अभियान में बीजेपी ने जहां करीब 850 चुनावी सभाएं की वहीं महागठबंधन की ओर से करीब 500 चुनावी सभाएं हुई. खास बात ये रही कि इस चुनाव में महागठबंधन के तीनों घटक के बड़े नेता पूरे प्रचार में एक साथ नहीं दिखे. पटना की स्वाभिमान रैली जो कि चुनाव की तारीखों के एलान से पहले हुई थी उसमें लालू-नीतीश-सोनिया तीनों नजर आए थे. इसके बाद चुनाव प्रचार में तीनों साथ कभी नहीं दिखे. लालू ने अलग सभा की, नीतीश ने अलग और सोनिया-राहुल ने अलग. कारण जो भी हो लेकिन प्रचार में तीनों की दूरी बनी रही.

 

महागठबंधन का प्रचार

 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 26 सितंबर से प्रचार की शुरुआत की थी. एक दिन दशहरा को छोड़कर नीतीश ने रोज प्रचार किया है. कुल 38 दिनों में नीतीश की 230 सभाएं हुई. इनमें से 12 सभाएं कार से की बाकी हेलिकॉप्टर से. इस दौरान उन्होंने करीब 15 हजार किलोमीटर का सफर तय किया. लालू के बेटों के लिए नीतीश ने दो-दो बार प्रचार किया. महुआ और राघोपुर में नीतीश दो बार वोट मांगने पहुंचे. सिर्फ जेडीयू नहीं बल्कि लालू और कांग्रेस के उम्मीदवारों के लिए भी नीतीश ने प्रचार में खूब पसीना बहाया.

 

आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव ने 33 दिनों में 251 सभाएं की. 27 सितंबर को लालू ने राघोपुर से प्रचार की शुरुआत की थी. उस दिन सिर्फ एक सभा हुई. इसके बाद फिर एक दिन का ब्रेक लेकर लालू प्रचार पर निकले थे. दशहरा के बाद भी जब बेटों का चुनाव था तो दो दिनों तक लालू पटना में ही थे. 33 दिनों के प्रचार में लालू 4 बार राघोपुर गए. महुआ में भी तेज प्रताप के लिए 3 चुनावी सभाएं की. लालू ने कुल करीब साढ़े 11 हजार किलोमीटर की यात्रा की. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दो दिन में 4 चुनावी सभाएं की. चारों सभा कांग्रेस उम्मीदवार के लिए. कहलगांव, वजीरगंज, बक्सर और मांझी में सोनिया की रैली हुई. इसके अलावा राहुल गांधी ने 12 सभाएं की.

 

एनडीए का प्रचार

 

बीजेपी का प्रचार ज्यादातर अकेला नहीं रहा. प्रचार की टीम में गठबंधन के नेता भी साथ रहते थे. कुल मिलाकर बीजेपी के 850 सभाएं हुईं. इनमें प्रधानमंत्री से लेकर अमित शाह, सुशील मोदी तक की सभा शामिल है. प्रधानमंत्री ने कुल 26 सभाएं चुनाव की तारीख के एलान के बाद की. इनमें से 17 सभाएं आखिरी तीन दौर में हुई. पहले दौर में बांका से शुरुआत हुई. इसके बाद मुंगेर, बेगूसराय, समस्तीपुर, नवादा में सभा हुई. दूसरे दौर के लिए औरंगाबाद, सासाराम, जहानाबाद और कैमूर में रैली हुई. चुनावी अभियान में पीएम मुजफ्फरपुर दो बार गए.

 

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रचार की पूरी कमान अपने हाथ में ले रखी थी. अमित शाह ने 85 सभाएं की. प्रचार में पीएम के बाद सबसे ज्यादा मांग सुशील कुमार मोदी की रही. सुशील मोदी भी रोज 4-5 सभाएं कर रहे थे. बिहार भर में उन्होंने 182 चुनावी सभाओं को संबोधित किया. इसके अलावा नंद किशोर यादव, मंगल पांडे, मनोज तिवारी, गिरिराज सिंह की भी अलग अलग 70 से 80 सभाएं हुईं.

 

सहयोगियों की बात करें तो रामविलास पासवान ने 143, उपेंद्र कुशवाहा ने 184, जीतन राम मांझी ने 162 सभाओं को संबोधित किया . इन सभाओं में बीजेपी के नेता भी साथ रहे.

 

तीसरे मोर्चे का प्रचार

 

बिहार में सबसे ज्यादा अकेले किसी नेता ने चुनावी सभाएं की तो पप्पू यादव थे. जन अधिकार पार्टी के प्रमुख सांसद पप्पू यादव ने हेलिकॉप्टर से 290 सभाएं की है. आखिरी दिन उन्होंने 18 चुनावी सभाओं को संबोधित किया. पप्पू यादव ने कुल 16800 किमी. का सफर प्रचार में तय किया . मुलायम ने 3 और अखिलेश यादव ने 5 सभाएं की.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bihar election: Know numbers of rallies by leaders and parties
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017