...तो जल्द ही मिलेगी कॉल ड्रॉप से निजात!

By: | Last Updated: Friday, 17 July 2015 1:09 PM
Call Drop_

फाइल फोटो

नई दिल्ली: कॉल ड्रॉप आज एक ऐसी समस्या बन चुकी है जिससे हर खासोआम जूझ रहा है. अचानक बात करते करते कॉल डिसकनेक्ट हो जाना या फिर मोबाइल के सिग्नल अचानक गायब हो जाना, ये कुछ ऐसी चीज़ें हैं, जिनसे हर किसी को रोज़ाना दो चार होना पड़ता है.

 

अब सवाल उठता है की आखिर ये कॉल ड्रॉप होती क्यों हैं. कॉल ड्राप की सबसे बड़ी वजह है टेलिकॉम कंपनियां के कम मोबाइल टावर होना. मोबाइल कंपनियों की शिकायत रहती है की शहरों में RWA, स्कूल्स, कॉलेज, नगरपालिका आदि मोबाइल टावर नहीं लगने दे रहे. बल्कि, पिछले कुछ साल के दौरान टावर्स हटवाए गए हैं.

 

इसी वजह से कॉल ड्रॉप की समस्या बढ़ी है. दरअसल, मोबाइल टावर से होने वाले रेडिएशन को लेकर जो भ्रान्ति फैली है, उसके चलते RWA आदि मोबाइल टावर हटवा रहे हैं.

 

टेलिकॉम मंत्रालय ने इस समस्या का समाधान ढूंढ लिया है. सूत्रों का कहना है की लोगों के मन में रेडिएशन को लेकर जो भ्रान्ति है, उसको दूर करने के लिए ‘तरंग संचार’ नाम से पोर्टल लांच किया जाएगा. इस पोर्टल पर देश के हर मोबाइल टावर से निकलने वाली EMF रेडिएशन का रियल टाइम डेटा मिलेगा.

 

यानी, लोग ये देख सकेंगे की किस मोबाइल टावर से किसी समय पर कितना रेडिएशन निकल रहा है. इससे लोगों को जो ज़्यादा रेडिएशन का अंदेशा रहता है, वो दूर हो जाएगा.

 

सूत्रों ने बताया की फिलहाल हरयाणा, मुम्बई और तमिलनाडु सर्किल और हैदराबाद शहर में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया है. यहाँ के सभी मोबाइल टावर्स को तरंग संचार से जोड़ा जा रहा है. इसके बाद देश भर के सभी मोबाइल टावर्स को इससे जोड़ा जाएगा.

 

सूत्रों का कहना है की जब सभी टावर्स से निकलने वाले रेडिएशन का आंकड़ा होगा, तो फिर कोई ऑब्जेक्शन नहीं कर सकेगा. इसके बाद ही जाकर ज़्यादा मोबाइल टावर्स लग सकेंगे और फिर कॉल ड्रॉप से निजात मिलेगी.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Call Drop_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: call drop Network towers
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017