ALERT! ‘गोलरोटेड’ वायरस कर सकता है हमला

By: | Last Updated: Sunday, 26 July 2015 12:02 PM
golroted malware

नई दिल्ली: भारत में इंटरनेट यूजर्स को साइबर सुरक्षा से जुड़े कंप्यूटर वैज्ञानिकों ने आगाह किया है कि भारत में एक वायरस से फिशिंग हमला होने का अंदेशा है. यह वायरस लोगों के प्राइवेट ईमेल और बैंको से जुड़ी जानकारी को चुरा सकता है.

 

‘गोलरोटेड’ के रूप में चिह्नित यह ‘ट्रॉजन’ श्रेणी का एक खतरनाक कंप्यूटर वायरस है. यह अपने मूल स्वरूप को छिपाने में सक्षम है और आम लोगों को इससे यह आम सी चीज लगता है.

 

कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम ऑफ इंडिया (सीईआरटी-इन) ने होम इंटरनेट यूजर्स के लिए जारी किये गये एक हालिया परामर्श में कहा है, ‘‘गोलरोटेड के रूप में नये परिवार के मालवेयर (वायरस) के फैलने की खबर है.

 

गोलरोटेड वायरस में जासूसी करने वाले गुण है. यह मालवेयर कई तरह के जिप फाइलों वाले फिशिंग मेल या माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के डॉक्यूमेंट फीचर या हटाए जा सकने वाली ड्राइव इत्यादि के माध्यम से अपनी पहुंच बना सकते हैं.’’

 

सीईआरटी-इन भारतीय क्षेत्र के इंटरनेट की सुरक्षा को चाकचौबंद करने, हैकिंग और फिशिंग से निपटने की नोडल एजेंसी है. सीईआरटी-इन का कहना है कि एक बार वायरस जब आपके कंप्यूटर को पूरी तरह प्रभावित करने में सफल हो जाता है तो यह आपके कंप्यूटर की पर्सनल आइडेंटिफिएबल इंफोर्मेशन, कंप्यूटर का नाम, स्थानीय तारीख और समय, इंटरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस चुराने में सक्षम हो जाता है और आपकी कई अहम जानकारियों को चुरा लेता है.

 

यह वायरस विशेष तौर पर बैंक से जुड़ी जानकारियों को चुराने पाने में सक्षम है जिससे अंतत: आपके बैंक खाते से धन गायब होने का खतरा है.

 

एजेंसी का कहना है कि अब तक इस वायरस के दो प्रकारों की ही पहचान की जा सकी है. एजेंसी का कहना है कि इससे बचने के लिए लोग फिशिंग ईमेल से फाइल वगैरह को डाउनलोड न करें और अपने एंटी वायरस को अपडेट रखें.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: golroted malware
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017