लापता बच्चों के लिए वेबसाइट बनाने पर काम कर रहा है आईटी विभाग

By: | Last Updated: Saturday, 13 December 2014 12:15 PM

हैदराबाद: केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने आज कहा कि उनका विभाग देश में लापता बच्चों का पता लगाने में मदद के लिए एक वेबसाइट बनाने की योजना पर काम कर रहा है.

 

प्रसाद ने कहा ‘‘हम देखते हैं कि देश में गरीब परिवारों के कई बच्चे लापता हो रहे हैं. अमीर लोग अपने लापता बच्चे का पता लगा सकते हैं लेकिन गरीब लोग गरीबी के कारण ऐसा नहीं कर पाते हैं. ऐसे में लापता और ढूंढे गये बच्चों के बारे में जानकारी के लिए हमने एक पोर्टल बनाने का निर्णय किया है.’’

 

गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) टेक फॉर सेवा (टीएफएस) द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में अपने संबोधन में संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री ने यहां कहा ‘‘अगर आप गरीब बच्चों को सड़कों पर भटकते हुये देखते हैं, कृप्या उनकी तस्वीर लें और उस तस्वीर को अपलोड कर दें. हम उसे पोर्टल पर डालेंगे . मैंने अपने अधिकारियों से इस परियोजना पर काम करने के लिए कहा है.’’

 

एक पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के लिए सहयोगी गैर सरकारी संगठनों , जमीनी स्तर के आविष्कारकों , वैज्ञानिक : शोध समुदाय और कॉर्पोरेट के साथ मिल कर टीएफएस समाज में विभिन्न स्तरों पर हो रहे नवोन्मेष को जोड़ने के लिए मंच मुहैया कराता है जिससे आखिरकार समाज को लाभ मिलता है.

 

सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग की पहलों के बारे में मंत्री ने कहा कि सरकार ने हाल ही में करोड़ों पंेशनभोगियों के लिए आधार कार्ड पर आधारित डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र शुरू किया है जिससे उन्हें लाभ मिलेगा.

 

उन्होंने कहा कि डाक विभाग भी ई-वाणिज्य व्यापार में विभिन्न अवसर तलाशने की प्रक्रिया में है. प्रसाद ने कहा कि युवा पीढ़ी का विचारों के साथ आगे आने का आह्वान करते हुए कहा कि इससे ग्रामीण और शहरी भारत के बीच के डिजिटल खाई को पाटने में मदद मिलेगी.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: IT Department working on creating website for missing kids: Ravi Shankar Prasad
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017