WhatsApp पर उड़ रही इन अफवाहों से दूर रहें

By: | Last Updated: Thursday, 13 November 2014 7:20 AM

नई दिल्ली: इन दिनों व्हाट्सऐप पर एक मैसेज़ खूब जोर शोर से फैलाया जा रहै है जिसमें व्हाट्सऐप की जगह पर पर भारतीय टेक्स्ट मैसेजिंग ऐप्लीकेशन ‘टेलीग्राम’ इंस्टॉल करने की बात की जा रही है. इस मैसेज़ में लिखा है टेलीग्राम के जरिए आप प्रधानमंत्री मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ कैंपेन को सपोर्ट कर सकते हैं.

 

इस मैसेज़ में लिखा है, ‘पीएम मोदी ने नारा दिया है ‘मेक इन इंडिया’. आइये पहल करें अमेरिकन व्हाट्सऐप की जगह ‘टेलीग्राम’ को अपनाएं आखिर ये पहला भारतीय सोशल मीडिया ऐप्लीकेशन है. व्हाट्सएप के एक यूजर को एक साल व्हाट्सऐप यूज़ करने के लिए 56 रुपए देने पड़ते हैं, भारत में करीब 20 करोड़ भारतीय यूजर हैं. अगर आप यह ऐप्लीकेशन छोड़ते हैं तो आप 1,120 करोड़ रुपए  देश से  देश से बाहर जाने से रोक सकते हैं. अगर चाइना के लोग अपना खुद का मैसेज़ ऐप बना सकते हैं तो फिर हम क्यों नहीं.’

 

आपको बता दें मैसेज़ में दी जा रही जानकारी गलत है भारत में व्हाट्सऐप के 20 करोड़ नहीं बल्कि मात्र सात करोड़ ही यूज़र्स हैं.

 

daily.bhaskar.com में छपी खबर के मुताबिक ‘टेलीग्राम’ नाम के इस ऐप्लिकेशन का प्रधानमंत्री मोदी के ‘मेड इन इंडिया’ कैंपेन से कोई वास्ता नहीं है. अखबार से बात करते हुए बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा मुझे इस प्रकार के किसी कैंपेन की जानकारी नहीं है. अगर बीजेपी ती तरफ से ऐसा कोई कैंपेन चलाया जाता तो मुझे इसकी पहले से ही जानकारी होती.’

इस कैंपेन को चलाने के पीछे क्या उद्देश्य है अभी तक इस बात की कोई जानकारी नहीं मिल पाई है लेकिन इतना साफ है कि ‘टेलीग्राम’ का प्रधानमंत्री के ‘मेक इन इंडिया’ अभियान से कोई वास्ता नहीं है.

Gadgets News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: to Challenge Whatsapp through ‘Make India’ whole truth of ‘Telegram’
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017