दिल्ली के 71% लोग ठीक से नहीं कर पाते नींद पूरी

दिल्ली के 71% लोग ठीक से नहीं कर पाते नींद पूरी

दिल्ली के 71% लोग पर्याप्त नींद नहीं ले पाते. इसी तरह 71% का मानना है कि उन्हें ऑफिस के साथ ही घर में भी तनाव महसूस होता है.

By: | Updated: 28 Sep 2017 10:10 AM

नई दिल्लीः दिल्ली के 71% लोग पर्याप्त नींद नहीं ले पाते. इसी तरह 71% का मानना है कि उन्हें ऑफिस के साथ ही घर में भी तनाव महसूस होता है. दिल्ली में 79% लोगों का मानना है उन्हें अधिक समय तक काम करना पड़ता है और यह हार्ट को स्वस्थ रखने में एक बड़ी रुकावट बनता है.


क्यों की गई रिसर्च-
ये रिसर्च ये जानने के लिए की गई थी कि लोग क्यों अपने दिल की सेहत में सुधार के लिए कोशिश नहीं कर पा रहे, जबकि उन्हें इसके खतरों की भलीभांति जानकारी है.


किन पर किया गया ये अध्ययन-
सफोलालाइफ द्वारा किए गए अध्ययन 2017 का उद्देश्य हार्ट हेल्थ की बाधाओं को समझना है, जिससे हेल्दी हार्ट के अनुकूल जीवनशैली अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके और इससे जुड़ी आदतों का पालन सुनिश्चित किया जा सके. यह अध्ययन दिल्ली, मुंबई, लखनऊ, हैदराबाद, चेन्नई और कोलकाता में 1306 व्यक्तियों पर किया गया.


रिसर्च के नतीजे-
दिल्ली में इस अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि रोजाना अधिक घंटों तक काम करने, काम के तनाव, नींद की कमी और काफी देर तक सफर करना दिल्लीवासियों को हल्दी हार्ट रखने में प्रमुख रुकावटें बनते हैं. इसके अलावा स्वादिष्ट भोजन खाने की इच्छा भी इन कारणों में शामिल है.


स्वादिष्ट भोजन बनता है बाधा-
सफोलालाइफ अध्ययन में यह बताया गया है कि पुरुष और महिलाएं दोनों ही स्वादिष्ट भोजन की चाह और घर के बाहर खाने की आदत को सेहतमंद रहने की राह में रुकावट मानते हैं. वहीं, पुरुषों और महिलाओं के बीच कुछ अलग-अलग प्रकार की रुकावटें भी स्पष्ट होती हैं. जहां महिलाएं घरेलू कामों में लगने वाले समय को एक बड़ी रुकावट मानती हैं, वहीं पुरुष कहते हैं कि कार्यालय में काम का तनाव और अपर्याप्त नींद उनके द्वारा स्वस्थ रहने के लिए कोशिश न कर पाने की बड़ी वजह है.


क्या कहते हैं एक्सपर्ट-
इस अध्ययन के परिणामों पर मेदांता के हार्ट डिजीज़ डिपार्टमेंट में एसोसिएट डायरेक्टर डा. मनीष बंसल ने कहा कि भारतीय सजग तो हो रहे लेकिन दिल की बीमारियां रोकने के लिए जीवनशैली में बदलाव लाने की आदतों का पालन काफी कम किया जाता है.


हेल्‍दी हार्ट में आनें वाली रूकावटें-
सफोलालाइफ अध्ययन में जहां खानपान की आदतें एक बड़ी रुकावट के रूप में सामने आई है, वहीं अधिक समय तक काम करने, रोजाना अधिक घंटों का सफर और काम के तनाव ऐसे प्रमुख कारण बनते हैं, जिनके चलते लोग दिल को स्वस्थ बनाने की कोशिशें नहीं कर पाते.


नोट: ये रिसर्च के दावे पर हैं. ABP न्यूज़ इसकी पुष्टि नहीं करता. आप किसी भी सुझाव पर अमल या इलाज शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Health News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ज्यादा उम्र में गर्भवती होने से बेटियों को मां बनने में हो सकती है दिक्कत