डायबिटीज का इलाज पहले से हुआ बेहतर

By: | Last Updated: Tuesday, 24 November 2015 6:22 AM
Diabetes treatment growth leads to major fall in amputations

 

नई दिल्ली :मधुमेह के इलाज में हर साल उन्नति हो रही है, नतीजतन वर्ष 1990 के मध्य से मधुमेह पीड़ितों में एंप्यूटेशन (शरीर के अंगों को काटकर अलग करना) की नौबत अब न के बराबर रह गई है. नए शोध में यह बात सामने आई है. मधुमेह की वजह से पहले पैर के निचले हिस्से को काटकर शरीर से अलग करना पड़ता था, जिससे मरीजों की पीड़ा और बढ़ जाती थी.

 

ऐसा करना तब जरूरी हो जाता था, जब मधुमेह की वजह से तंत्रिका कोशिकाएं व रक्त नलिकाएं बर्बाद हो जाती थीं, जिसके कारण पैरों के निचले हिस्से को रक्त संचरण मुश्किल हो जाता था.

 

मधुमेह से पीड़ित मरीजों को पैर से संबंधित गंभीर समस्याओं जैसे अल्सर के कारण उन्हें बार-बार अस्पतालों का चक्कर लगाना पड़ता है.

 

नए शोध में डेनमार्क में मधुमेह के पीड़ितों में साल 1996-2011 के दौरान एंप्यूटेशन का अध्ययन किया गया.

 

विश्लेषण में इस बात का खुलासा हुआ कि मधुमेह से पीड़ित लोगों के एंप्यूटेशन में बेहद कमी आई है.

 

शोधकर्ताओं ने मधुमेह के मरीजों में टखने से नीचे के एंप्यूटेशन की नौबत में 10 फीसदी की कमी, जबकि घुटने के नीचे के एंप्यूटेशन में 15 फीसदी की कमी पाई.

 

शोधकर्ताओं का मानना है कि मधुमेह के बेहतर इलाज से पीड़ितों के एंप्यूटेशन में कमी आई है.

 

यह शोध पत्रिका ‘डायबेटोलॉजिया’ में प्रकाशित हुआ है.

Health News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Diabetes treatment growth leads to major fall in amputations
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

कैंसर की हर स्टेज के बारे में बताएगा ये नया ब्लड टेस्ट सिस्टम!
कैंसर की हर स्टेज के बारे में बताएगा ये नया ब्लड टेस्ट सिस्टम!

न्यूयॉर्क: स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक नए प्रकार का सस्ता मॉलिक्यूलर ब्लड...

घुटने के दर्द से परेशान लोगों के लिए आई अच्छी खबर, सस्ता होगा इलाज!
घुटने के दर्द से परेशान लोगों के लिए आई अच्छी खबर, सस्ता होगा इलाज!

नई दिल्लीः मोदी सरकार ने ‘नी रिप्लेसमेंट’ सर्जरी यानि घुटने के ऑपरेशन में इस्तेमाल होने वाले...

युवाओं में बढ़ रही पैर सूजने की बीमारी, बचने के लिए करें ये उपाय
युवाओं में बढ़ रही पैर सूजने की बीमारी, बचने के लिए करें ये उपाय

नई दिल्ली: एक हालिया रिसर्च में यह बात सामने आई है कि ‘वैरिकोज वेन्स’ यानी पैरों की नसें...

खुशखबरी! अब पौधे से तैयार हुई वैक्सीन खत्म करेगी पोलियो वायरस
खुशखबरी! अब पौधे से तैयार हुई वैक्सीन खत्म करेगी पोलियो वायरस

लंदन: वैज्ञानिकों ने पौधे का इस्तेमाल कर पोलियो वायरस के खिलाफ एक नया टीका विकसित किया है. इस...

म्यांमार में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 25 हुई
म्यांमार में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 25 हुई

नेपीथा: म्यामांर में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 25 तक पहुंच गई है. ‘एफे न्यूज’ ने...

उप्र में स्वाइन फ्लू को लेकर जारी हुई गाइडलाइन
उप्र में स्वाइन फ्लू को लेकर जारी हुई गाइडलाइन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में राजधानी लखनऊ सहित पूरे प्रदेश में स्वाइन स्वाइन फ्लू का असर तेजी से...

सावधान! ब्रेस्ट कैंसर से हर साल 76,000 भारतीय महिलाओं की मौत की आशंका
सावधान! ब्रेस्ट कैंसर से हर साल 76,000 भारतीय महिलाओं की मौत की आशंका

दुबई: शुरुआती पहचान में देरी की वजह से ब्रेस्ट कैंसर का समय पर इलाज नहीं हो पाता. एक शोध की...

OMG! शराब के बल पर ऑक्सीजन के बिना जीवित रहती है गोल्डफिश
OMG! शराब के बल पर ऑक्सीजन के बिना जीवित रहती है गोल्डफिश

लंदन: वैज्ञानिकों के एक समूह ने गोल्डफिश को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है. वैज्ञानिकों के...

गुजरात में स्वाइन फ्लू का कहर, रविवार को 11 तो इस साल अब तक 208 की मौत
गुजरात में स्वाइन फ्लू का कहर, रविवार को 11 तो इस साल अब तक 208 की मौत

अहमदाबाद शहर स्वाइन फ्लू से सबसे ज्यादा प्रभावित है. प्रशासन भरपूर कोशिश कर रहा है लेकिन...

गोरखपुरः मासूमों की मौत का जिम्मेदार कौन? ऑक्सीजन की कमी या एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिन्ड्रोम
गोरखपुरः मासूमों की मौत का जिम्मेदार कौन? ऑक्सीजन की कमी या एक्यूट...

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश में गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017