खुशखबरी! पूरे घुटने के बजाय अब सिर्फ खराब हिस्से की हो सकेगी सर्जरी!

एम्स, दिल्ली के मशहूर ज्वॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जन डॉ. राजेश मल्होत्रा ने देश की पहली काडावेरिक वर्कशॉप में कंप्यूटर नेविगेशन के जरिए 'फास्ट ट्रेक यूनिकोनडलर नी रिप्लेसमेंट' सर्जरी के बारे में जानकारी दी.

DR RAJESH MALHOTRA CONDUCTS CADAVERIC WORKSHOP ON FAST TRACK UNICONDYLAR KNEE REPLACEMENT SURGERY VIA NAVIGATION

नई दिल्ली: आम तौर पर ओस्टियो आर्थराइटिस बढ़ने पर पूरे घुटने की सर्जरी की जाती है. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. जी हां, हाल ही में एम्स के जाने-माने ऑर्थोपेडिक सर्जन डॉ. राजेश मल्होत्रा ने एक नई तकनीक से देश को अवगत करवाया है.

यूनिकोनडलर नी रिप्लेसमेंट सर्जरी-
जी हां, हाल ही में एम्स, दिल्ली के मशहूर ज्वॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जन डॉ. राजेश मल्होत्रा ने देश की पहली काडावेरिक वर्कशॉप में कंप्यूटर नेविगेशन के जरिए ‘फास्ट ट्रेक यूनिकोनडलर नी रिप्लेसमेंट’ सर्जरी के बारे में जानकारी दी.

अस्वस्थ हिस्से का ही होता है इलाज-
डॉ. राजेश मल्होत्रा के मुताबिक, घुटना 3 कम्पार्टमेंट में बना होता है- मेडियल कम्पार्टमेंट, लाटरल कम्पार्टमेंट और पाटेलौफेमोरल कम्पार्टमेंट. यूनिकोनडलर नी रिप्लेसमेंट सर्जरी ओस्टियो आर्थराइटिस को ठीक करता है, जो घुटने के अंदर कम्पार्टमेंट में होती है. इस सर्जरी के जरिए घुटने के स्वस्थ हिस्से को बचाकर रखा जाता है और घुटने के अस्वस्थ हिस्से का ही इलाज किया जाता है. इस प्रोसिजर में हड्डियों का वि‍भाजन कम से कम किया जाता है इससे दर्द कम होता है और मरीज जल्दी ही रिकवरी कर आसानी से चल-फिर सकता है.

खराब हिस्से की ही करवाएं सर्जरी-
अगर आपके घुटने के सिर्फ एक कम्पार्टमेंट में ओस्टियो आर्थराइटिस है तो डॉ. राजेश मल्होत्रा का कहना है कि ऑर्थोपेडिक सर्जरी करवाएं लेकिन ये ध्यान रखें कि टोटल नी ट्रांस्पलांट के बजाय पार्शल नी ट्रांस्पलांट ही करवाएं. यानि सिर्फ घुटने के खराब हिस्से‍ की ही सर्जरी हो.

इसका अपना इंप्लांट डिजाइन है-
यूनिवेशन एक्स यूनिकोनडलर नी रिप्लेसमेंट सर्जरी का अपना इंप्लांट डिजाइन है जो घुटने की शारीरिक रचना को रिप्रोडक्ट करता है. इसी वजह से घुटने की नैचुरल स्थिति बरकरार रहती है. इससे सर्जन बिना स्वस्थ हिस्से को कोई नुकसान पहुंचाए घुटने के अस्वस्थ हिस्से का इलाज कर पाते हैं.

कैसे काम करता है यूनिकोनडलर नी रिप्लेसमेंट सिस्टम-
यूनिकोनडलर नी रिप्लेसमेंट सिस्टम में एडवांस्ड पेटेंड मल्टी-लेयर सरफेस टैक्नोलॉजी है जो कि मेटल बेस्ड  इंप्लांट में पाए जाने वाले मेटेल ऑयोंस को रिलीज करता है और उन्हें कम करता है. ये इंप्लांट लंबे समय तक कारगर होता है. ऐसे में इंप्लांट फिक्सेशन ज्यादा सुरक्षित माना जाता है. इंप्लांट डिजाइन मज़बूती से खुद को हड्डियों के साथ जोड़ लेता है जिससे घुटने का लूज होने का खतरा कम हो जाता है. कम्पूटर नेविगेशन के जरिए नी ट्रांस्पलांट के गैप को कम करने में मदद मिलती है.

नोट: ये रिसर्च के दावे पर हैं. ABP न्यूज़ इसकी पुष्टि नहीं करता. आप किसी भी सुझाव पर अमल या इलाज शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें.

Health News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: DR RAJESH MALHOTRA CONDUCTS CADAVERIC WORKSHOP ON FAST TRACK UNICONDYLAR KNEE REPLACEMENT SURGERY VIA NAVIGATION
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

दुनिया की सबसे वजनी महिला ने किया 315 किलो वजन कम, अब ये है नया टारगेट!
दुनिया की सबसे वजनी महिला ने किया 315 किलो वजन कम, अब ये है नया टारगेट!

नई दिल्ली: मिस्र की रहने वाली इमान अहमद ढाई महीने पहले भारत में बेट्रियाटिक सर्जरी करवाकर...

वजन कंट्रोल करना है तो रोजाना करें ब्रेकफास्ट!
वजन कंट्रोल करना है तो रोजाना करें ब्रेकफास्ट!

नई दिल्लीः सुबह का नाश्ता यूं तो दिनभर फुर्तीला रहने के लिए करना चाहिए लेकिन आज हम आपको एक ऐसी...

सिर्फ 45 मिनट, मानसून में रख सकते हैं आपको फिट
सिर्फ 45 मिनट, मानसून में रख सकते हैं आपको फिट

नई दिल्लीः फिटनेस कोई आदत नहीं, बल्कि जीवनशैली है. इसलिए मानसून में भी फिटनेस के प्रति अपने...

देश में स्वाइन फ्लू का कहर, 600 की हुई मौत!
देश में स्वाइन फ्लू का कहर, 600 की हुई मौत!

नई दिल्ली: स्वाइन फ्लू के कहर के कारण इस साल अब तक देश में 600 लोगों की मौत हो चुकी है और 12,500 मामले...

एक्सरसाइज करेंगे तो पा सकते हैं इस बड़ी बीमारी से छुटकारा!
एक्सरसाइज करेंगे तो पा सकते हैं इस बड़ी बीमारी से छुटकारा!

नई दिल्लीः हाल ही में आई रिसर्च के मुताबिक, रोजाना एक्सरसाइज करने से ना सिर्फ आप फिट रहते हैं...

डेंगू और चिकुनगुनिया से बचाने के लिए गूगल ऐसे करेगा मच्छरों का खात्मा!
डेंगू और चिकुनगुनिया से बचाने के लिए गूगल ऐसे करेगा मच्छरों का खात्मा!

सन फ्रांस्सिकोः इंटरनेट कंपनी गूगल की मदर कंपनी अल्फाबेट ने अमेरिकी वैज्ञानिकों के साथ मिलकर...

OMG! अल्ट्रसाउंड में दिखे जुड़वा बच्चे, डिलीवरी में एक बच्चे का जन्म
OMG! अल्ट्रसाउंड में दिखे जुड़वा बच्चे, डिलीवरी में एक बच्चे का जन्म

लखीमपुर खीरीः उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में एक गर्भवती महिला ने अल्ट्रसाउंड कराया था जिसमें...

डिप्रेशन का जल्द करें इलाज, नहीं तो हो सकती हैं ये दिक्कतें!
डिप्रेशन का जल्द करें इलाज, नहीं तो हो सकती हैं ये दिक्कतें!

नई दिल्लीः डिप्रेशन से ग्रस्त व्यक्ति के ब्रेन स्ट्रक्चर में बदलाव का खतरा होता है. ये बदलाव...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017