नए साल की मस्ती में भूल न जाएं सेहत

By: | Last Updated: Friday, 1 January 2016 12:38 PM
health care during new year celebration

Stethoscope on a printed sheet of paper

जब हम नए साल का जश्न मनाते हैं तो हम भूल जाते हैं कि ज्यादा मस्ती हमारी सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है. इसका कारण है अचानक अस्वास्थ्यकर खाना खाने लगना, ज्यादा शराब का सेवन और देर तक दोस्तों रिश्तेदारों के साथ जश्न मनाने के चक्कर में कम सोना. यह उन लोगों के लिए खास तौर पर खतरनाक हो सकता है जिन्हें पहले से जीवनशैली से जुड़ी समस्याएं हैं. इनकी वजह से दिल का दौरा, रक्तचाप और शूगर में बढ़ोतरी हो सकते हैं. इन बीमारियों से बचाव के लिए आवश्यक सावधानियां रखना बेहद जरूरी है, ताकि नया साल अपने साथ सिर्फ खुशियां और मस्ती ही लेकर आए.

मैक्स सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल, पटपड़गंज में कार्डियक कैथ लैब के एसोसिएट डायरेक्टर व प्रमुख डॉ. मनोज कुमार बताते हैं, “शहर में अधिक प्रदूषण होने की वजह से लोगों को नए साल पर घर से बाहर निकलते समय अधिक सावधानी रखनी चाहिए. प्रदूषण और धुंध न सिर्फ दमा और सांस की बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए, बल्कि दिल के रोगियों के लिए भी जानलेवा हो सकते हैं.”

उन्होंने कहा, “त्योहार मनाने से तो परहेज नहीं किया जा सकता लेकिन मधुमेह, दिल के रोगियों, हाइपरटेंशन से पीड़ितों को पूरी रात बाहर रहने से बचना चाहिए, शराब का सेवन कम से कम करना चाहिए और खाना भी सोच समझ करना चाहिए. अत्यधिक शोर वाला संगीत भी उनके दिल के लिए खतरनाक हो सकता है और इससे धड़कन और रक्तचाप बढ़ सकता है. अगर सांस फूलने, पसीने आने और सीने में दर्द जैसे लक्षण नजर आएं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं.”

युवाओं के लिए ज्यादा शराब पीना खतरनाक हो सकता है. इस से छोटी उम्र में दिल के रोग, अकस्माक कार्डियक अरेस्ट के साथ-साथ सड़क दुघर्टनाएं भी हो सकती हैं. युवाओं को स्वच्छ पानी पीने और सेहतमंद जीवन के लिए रक्षात्मक स्वास्थ्य आदतें अपनाने के बारे में जागरूक करना बेहद जरूरी है.

मेदांता द मेडिसिटी हॉस्पिटल में इलेक्ट्रोफिजियॉलॉजी एंड पेसिंग विभाग के सीनियर इंटरवेशनल कार्डियॉलॉजिस्ट एंड चेयरमैन डॉ बलबीर सिंह ने कहा, “नए साल के जश्न में बाहर से मंगवाई गई तली और मीठी चीजें हम ज्यादा खाते हैं. इनमें अत्यधिक चीनी, सोडियम, ट्रांस फैट मौजूद होती है जो रक्तचाप और दिल पर दबाव बढ़ाती हैं. इन दिनों शराब का सेवन बढ़ जाता है. इससे आर्टियल फिब्रिलेशन होने से दिल रक्त पंप नहीं कर पता और क्लॉट्स बन सकता है.”

उन्होंने कहा कि जीवनशैली से जुड़ी बीमारियों से पीड़ित लोगों को दिल का दौरा, अकस्माक कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक हो सकता है. दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ मानसिक और दिमागी खुशी के साथ ही ज्यादा मस्ती मजा किरकिरा कर सकती है, इसलिए संतुलन बना कर सेहत का ध्यान रखें.

ज्यादा खानपान और शराब के सेवन के बाद हमारा शरीर पूरे आराम की मांग करता है. शरीर में पानी बनाएं रखने के लिए कैफीन मुक्त तरल जैसे पानी, जूस, नींबू और शहद के साथ हर्बल चाय लेनी चाहिए.

Health News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: health care during new year celebration
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

खुशखबरी! अब मूंगफली से होने वाली एलर्जी का हो सकेगा इलाज
खुशखबरी! अब मूंगफली से होने वाली एलर्जी का हो सकेगा इलाज

नई दिल्ली: कई लोगों को मूंगफली से एलर्जी होती है यानि पीनट एलर्जी से परेशान लोगों के लिए अब...

ऐसे लोगों को अधिक रहता है अल्जाइमर होने का खतरा!
ऐसे लोगों को अधिक रहता है अल्जाइमर होने का खतरा!

नई दिल्लीः हाल ही में एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि भूलने की बीमारी यानि अल्जाइमर का खतरा उन...

सावधान! लंबे समय तक फैटी लिवर बढ़ा सकता है लिवर कैंसर का खतरा
सावधान! लंबे समय तक फैटी लिवर बढ़ा सकता है लिवर कैंसर का खतरा

नई दिल्ली: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) का कहना है कि फैटी लिवर से पीड़ित लोगों की संख्या में...

बीमारी की पहचान में सुधार के लिए आया मल्टीकलर एमआरआई
बीमारी की पहचान में सुधार के लिए आया मल्टीकलर एमआरआई

वाशिंगटन: वैज्ञानिकों ने एमआरआई (मैग्नेटिक रिजोनेंस इमेजिंग) को मल्टीकलर बनाने का तरीका...

सांस की इन दो बीमारियों से दुनिया भर में 36 लाख लोगों की मौत
सांस की इन दो बीमारियों से दुनिया भर में 36 लाख लोगों की मौत

नई दिल्ली: ‘लांसेट रिस्पीरेटरी मेडिसिन’ मैग्जीन में ये दावा किया है कि दो आम क्रोनिक लंग...

दवाओं और चिकित्सकीय उपकरणों की कीमतों पर लगाम लगाने की मांग
दवाओं और चिकित्सकीय उपकरणों की कीमतों पर लगाम लगाने की मांग

नयी दिल्ली: नी रिप्लेसमेंट में लगने वाले आर्टिफिशियल अंगों के मूल्य तय किए जाने की सरकार की...

‘नी रिप्लेसमेंट’ के दामों में कटौती अच्छा कदम, अब गुणवत्ता पर भी ध्यान देने की जरूरत
‘नी रिप्लेसमेंट’ के दामों में कटौती अच्छा कदम, अब गुणवत्ता पर भी ध्यान देने...

नयी दिल्ली: आर्टिफिशियल नी इम्प्लांट सस्ते होने की सरकार की घोषणा का स्वागत करते हुए...

गुजरात में स्वाइन फ्लू से अब तक 230 की मौत
गुजरात में स्वाइन फ्लू से अब तक 230 की मौत

वडोदरा/अहमदाबाद: गुजरात में स्वाइन फ्लू यानि एच1एन1 वायरस से इंफेक्टेड होकर मरनेवालों की...

गोरखपुर में इन्सेफेलाइटिस वार्ड में एक और बच्चे की मौत
गोरखपुर में इन्सेफेलाइटिस वार्ड में एक और बच्चे की मौत

गोरखपुर: बाबा राघव दास मेडिकल कालेज से कल एक और बच्चे की मौत हो गयी. बच्चा मेडिकल कालेज के...

स्वाइन के बारे में ये अहम बातें जानना भी है जरूरी!
स्वाइन के बारे में ये अहम बातें जानना भी है जरूरी!

नई दिल्ली: दिल्ली सहित देशभर में स्वाइन फ्लू का कहर है. स्वाइन फ्लू के चलते लगातार लोगों की...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017