ब्लड प्रेशर और डायबिटीज करेंगे कंट्रोल तो नहीं सेहतमंद रहेगी किडनी

By: | Last Updated: Thursday, 10 March 2016 10:37 AM
kidney stone cases increases in 10 years

ईमेडीनेक्सेस के एक सर्वेक्षण के मुताबिक भारत के किडनी रोग विशेषज्ञ (नेफ्रोलॉजिस्टस) ने एकमत होकर देश में किडनी की बीमारी के जांच कार्यक्रम को बड़े स्तर पर चलाने की मांग की है. एक्रीडेटेड मेडिकल पेशेवरों के लिए हाल ही में लांच किए गए प्रोफैशनल नेटवर्किं ग और एडवोकेसी प्लेटफार्म, हैल्थकेयर स्टार्ट-अप ईमेडीनेक्सेस ने वर्ल्ड किडनी डे के मौके पर 200 नेफ्रोलॉजिस्टस का सर्वेक्षण किया.

इनमें से शत प्रतिशत डॉक्टरों का कहना था कि भारत में केवल 1000 नेफ्रोलॉजिस्टस हैं जो कि देश की विशाल आबादी को देखते हुए बेहद कम है.

ईमेडीनेक्सेस के सह संस्थापकों निलेश अग्रवाल और अमित शर्मा ने एक बयान में कहा कि डायलसिस सेवा में मांग और आपूर्ति की कमी को देखते हुए वित्त मंत्री द्वारा किडनी केयर को विकसित करने के लिए की गई घोषणा का हम स्वागत करते हैं.

उन्होंने कहा कि ईमेडीनेक्सेस देश के सभी डॉक्टरों को किडनी से जुड़े मामले में अपनाई जाने वाली बेहतर प्रक्रियों के बारे में जानकारी पहुंचाना चाहता है और इस दिशा में हम इंडियन सोसायटी ऑफ नेफ्रोलॉजी के साथ स्वास्थय मंत्रालय के साथ मिलकर काम करेंगे.

डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा कि अगर ब्लड प्रेशर और ब्लड शूगर को नियंत्रित रखा जाए तो 50 प्रतिशत क्रॉनिक किडनी की बीमारी के मामलों को टाला जा सकता है.

Health News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: kidney stone cases increases in 10 years
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017