अब खून की एक बूंद बताएगी ब्रेस्ट कैंसर है या नहीं!

By: मृत्युंजय सिंह/एबीपी न्यूज़ | Last Updated: Thursday, 16 March 2017 3:09 PM
अब खून की एक बूंद बताएगी ब्रेस्ट कैंसर है या नहीं!

नई दिल्‍लीः खून की एक बूंद बताएगी महिला को ब्रेस्ट कैंसर है या नहीं. जी हां, भारत में पहली बार आई यह तकनीक स्क्रीनिंग टेस्ट पैंडोरा सीडीएक्स तकनीक पर आधारित है, जो रक्त का एक बूंद इस्ते माल कर, 15 मिनट में बता देगा कि महिला को ब्रेस्ट कैंसर है या नहीं.

महिलाएं आमतौर पर ऑफिस और घर के काम में उलझी रहती है और ऐसे में अपनी देखभाल नहीं कर पाती. नतीजन वे कई तरह के गंभीर रोगों से ग्रस्त हो जाती है. ऐसी ही एक बीमारी है ब्रेस्ट कैंसर.

साइलेंट किलर ब्रेस्ट कैंसर-
ब्रेस्ट कैंसर महिलाओं में काफी आम बीमारी है, लेकिन यह बीमारी बेहद खतरनाक है क्योंकि यह जानलेवा है और साइलेंटली महिलाओं को मारती है. यह बीमारी इसलिए भी घातक है क्योंकि इसका पता देर से चलता है. लेकिन अब भारत में एक ऐसा पोर्टेबल यंत्र लांच होने जा रहा है जो इस बीमारी को मात देने में किसी संजीवनी से कम नही होंगा.

ब्रेस्ट कैंसर टेस्ट-
‘मैमोएलर्ट’ ब्रेस्ट कैंसर का पता लगाने के लिए एक प्रभावशाली प्री स्क्रीनिंग टेस्ट है. यह छोटा सा पोर्टेबल यंत्र महिलाओं के लिए रामबाण का काम करेगा. इस डिवाइस की मदद से अब महिलाएं ब्रेस्ट कैंसर जैसी घातक और खतरनाक बीमारी को मात दे सकती है क्योंकि इसके ज़रिये महिलाएं आसानी से इस बीमारी का पता लगा सकती है. एक निजी कम्पनी इस डिवाइस को भारत में लॉच करने जा रही है.

क्या कहते है डॉ.-
पीओसी मेडिकल सिस्टम्स इंक के सीईओ और डॉ. संजीव सक्सेना का कहना है कि यह किट बनाई गई है जिससे 10 से 15 मिनट में टेस्ट कर सकते है. इसमें एक ड्रॉप ब्लड लीजिए, डिस्क में डालिये, डिस्क में पहले से ही री एजेंट मिले हुए है, ब्लड डिस्क में जाता है, डिफ़रेन्ट एजेंट से मिलता है और इन्कल्पबल होता है, यह सब प्रोसेस लैब में होता है. अभी इसे छोटे स्केल में किया गया है

स्क्रीनिंग टेस्ट का नाम-
ब्रेस्ट कैंसर के प्री स्क्रीनिंग टेस्ट का नाम ‘मेमोएलेर्ट’ रखा गया है. यह स्क्रीनिंग टेस्ट पैंडोरा सीडीएक्स तकनीक पर आधारित है, जो रक्त का एक बूंद इस्तेमाल कर 15 मिनट में बता देगा कि उस महिला को ब्रेस्ट कैंसर है कि नहीं. कम्पनी की मानें तो इस तकनीक को बनाने के लिए 4 साल का वक़्त लग गया और अमेरिका में 350 महिलाओं पर 3 स्टडीज में रिसर्च की गई है. इसके परिणाम बेहद सटीक है और अमेरिका के बाद जुलाई महीने में पहली बार भारत में लांच होगा.

देश में ब्रेस्ट कैंसर एक गम्भीर समस्या है-
आकड़ों के अनुसार, प्रति वर्ष करीब डेढ़ लाख महिलाओं में स्तन कैंसर का पता चलता है, जिसमें से तकरीबन 70 हज़ार महिलाओं की मौत इस जानलेवा बीमारी से होती है. इस हिसाब से देखें तो प्रत्येक 7 मिनट में एक महिला स्तन कैंसर से मर रही है.

इन एक्ट्रेस को हो चुका है ब्रेस्ट कैंसर-
इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि इसका पता बीमारी के अंतिम चरणों में पता चलता है और जब तक काफी देर हो जाती है. कायली मिनोग, नम्रता सिंह गुजराल, एंजेलिना जॉली, मुमताज़ ये ऐसे कुछ नाम है जो इस बीमारी के शिकार हो चुके है.

जुलाई में ये टेस्ट होगा बाजार में-
मेमोएलर्ट की विदेश में तो टेस्टिंग पूरी हो चुकी है, अब भारत में विभिन्न अस्पताल और कैंसर इंस्टिट्यूट के साथ इसकी टेस्टिंग होगी और जुलाई में यह टेस्ट बाजार में उपलब्ध हो सकेंगा. अगर इसकी टेस्टिंग देश में भी सफल रही तो स्तन कैंसर के क्षेत्र में यह किसी उपलब्धियों से कम नही होगा क्योंकि यदि एक महिला कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से ग्रस्त होती है तो इसका परिणाम पूरे परिवार पर पड़ता है.

First Published: Thursday, 16 March 2017 3:09 PM

Related Stories

इस वजह से बच्‍चों को ज्‍यादा से ज्‍यादा लगाएं गले!
इस वजह से बच्‍चों को ज्‍यादा से ज्‍यादा लगाएं गले!

नयी दिल्ली: एक सर्वेक्षण में सामने आया है कि मां जब अपने कलेजे के टुकड़े को सीने से लगाती है तो...

... तो इस वजह से पुरुषों को दोबारा भी हो सकता है किडनी स्टोन!
... तो इस वजह से पुरुषों को दोबारा भी हो सकता है किडनी स्टोन!

नई दिल्ली: पूरे जीवन में गुर्दे में पथरी होने की आशंका पुरुषों में 13 प्रतिशत और महिलाओं में...

ALERT: सरकारी आंकड़ों के मुताबिक साल दर साल बढ़ रहा है डेंगू-चिकनगुनिया का खतरा
ALERT: सरकारी आंकड़ों के मुताबिक साल दर साल बढ़ रहा है डेंगू-चिकनगुनिया का खतरा

नई दिल्ली: केंद्र और राज्य सरकार के स्तर से मच्छरों की वजह से होने वाले बुखार को रोकने के लिए की...

अदरक खाने के ये फायदे अब तक नहीं सुने आपने!
अदरक खाने के ये फायदे अब तक नहीं सुने आपने!

नई दिल्लीः यूं तो हम लोग अक्सर अदरक वाली चाय पीना पसंद करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कच्ची...

वजन कम करने के लिए खाएं फ्लैक्स सीड्स!
वजन कम करने के लिए खाएं फ्लैक्स सीड्स!

नई दिल्लीः अक्सर लोग फ्लैक्स सीड्स को कॉलेस्ट्रॉल कम करने के लिए खाते हैं. लेकिन क्या आप जानते...

क्या ऑफिस में वजन बढ़ने से हैं आप भी हैं परेशान!
क्या ऑफिस में वजन बढ़ने से हैं आप भी हैं परेशान!

नई दिल्लीः अक्सर लोगों को आपने कहते हुए सुना होगा कि दिनभर ऑफिस में बैठना पड़ता है इसलिए वजन...

गर्मी में ये टिप्स रखेंगे आपको चुस्त–दुरुस्त!
गर्मी में ये टिप्स रखेंगे आपको चुस्त–दुरुस्त!

नई दिल्लीः गर्मियां आते ही शुरू हो जाती हैं बीमारियां. लेकिन आप इन गर्मियों में आयुर्वेदिक...

टीबी के मरीजों के लिए है ये खबर!
टीबी के मरीजों के लिए है ये खबर!

नई दिल्लीः शहर में टीबी के मामलों में ज्यादा लोगों के संक्रमित होने का खतरा होता है, वहीं...

यंग मदर्स के बहुत काम आएंगे ये टिप्स!
यंग मदर्स के बहुत काम आएंगे ये टिप्स!

नई दिल्ली: हाल ही में मातृत्व पर किए गए एक बयान से विवादों में घिरी अभिनेता शाहिद कपूर की पत्नी...

 ... तो ये कारण है ब्रेस्ट कैंसर, सर्वाइकल और वैजाइनल कैंसर का!
... तो ये कारण है ब्रेस्ट कैंसर, सर्वाइकल और वैजाइनल कैंसर का!

नई दिल्लीः सोशल मीडिया के जहां बहुत से फायदे हैं वहीं नुकसान भी हैं. सोशल मीडिया पर लोग कई बार...