समयपूर्व प्रसव का सटीक अनुमान लगाने में एमआरआई कारगर!

By: | Last Updated: Tuesday, 22 March 2016 8:51 AM
MRI More Accurate Than Ultrasound To Predict Preterm Birth: Study

मां बनने जा रही महिलाओं को समयपूर्व प्रसव के बारे में जानकारी के लिए गर्भाशय क्षेत्र का एमआरआई करवाना चाहिए, क्योंकि इससे अल्ट्रासाउंड की तुलना में ज्यादा सटीक परिणाम मिलते हैं. शोधकर्ताओं ने यह जानकारी दी. गर्भाशय ग्रीवा का समय से पहले फैलाव के कारण गर्भावस्था के दौरान समय से पहले प्रसव का खतरा हो सकता है. गर्भावस्था की दूसरी तिमाही के दौरान अल्ट्रासाउंड में अगर गर्भाशय ग्रीवा का फैलाव 15 मिलीमीटर या उससे कम दिखता है तो उसे समयपूर्व प्रसव के उच्च खतरे की श्रेणी में रखा जाता है.

हालांकि समयपूर्व प्रसव का पूर्वानुमान लगाने में अल्ट्रासाउंड की सीमाएं हैं, क्योंकि यह गर्भाशय के ऊतकों में प्रसव से ठीक पहले के समय में बदलाव की महत्वपूर्ण जानकारी नहीं दे पाता.

शोधप्रमुख स्पींजा विश्वविद्यालय की गेब्रेले मासेली ने बताया, “गर्भावस्था में समयपूर्व प्रसव को समझने के लिए गर्भाशय में बदलाव को ठीक से समझना जरूरी है. इसके दो चरणों में बांटा जा सकता है. एक गर्भाशय का लचीचा होना तथा दूसरा उसका फैलना. इसलिए इन दोनों चीजों की सटीक जानकारी से ही समयपूर्व प्रसव का सटीक अनुमान लगाया जा सकता है.”

शोधकर्ताओं के मुताबिक, एमआरआई से इसकी बेहतर जानकारी मिलती है.

Health News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: MRI More Accurate Than Ultrasound To Predict Preterm Birth: Study
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Health Survey MRI Preterm Birth ultrasound
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017