OMG! बाल खाने की आदत से मजबूर थी ये लड़की, इसे बाद ही कहानी जान आप दंग रह जाएंगे

OMG! बाल खाने की आदत से मजबूर थी ये लड़की, इसे बाद ही कहानी जान आप दंग रह जाएंगे

By: | Updated: 06 Sep 2017 01:03 PM

DEMO PIC

नई दिल्ली: अक्सर देखा गया है कि लोगों की अजब-गजब आदतें होती है. हाल ही में बाल खाने का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे जान आप दंग रह जाएंगे.


एक महिला जिसको अपने बाल खाने की आदत थी, उनका ऑपरेशन मुंबई के घाटकोपर में राजावाड़ी हॉस्पिटल में हुआ जहां डॉक्टरों ने उनके पेट से 750 ग्राम बड़ा बालों का गुच्छा निकाला.


क्या था मामला-
पिछले कुछ महीनों से लगातार वजन घटने के बावजूद 20 साल की मीनाक्षी (बदला हुआ नाम) को एक पेट में काफी सूजन बढ़ रही थी. इस वजह से मीनाक्षी को हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया. मीनाक्षी कुछ खा नहीं पा रही थीं. उसका उनका शरीर पीला पड़ गया था और हॉस्पिटल में एडमिट होने के टाइम पर मीनाक्षी का वजन 30 किलो था. डॉक्टर्स ने इलाज के दौरान जब उसका सी.टी स्कैन किया तो पाया कि मीनाक्षी के पेट में बालों का एक विशाल गुच्छा है.


रपुंजल सिंड्रोम-
मीनाक्षी एक रेयर रपुंजल सिंड्रोम से पीड़ित थीं. इस सिंड्रोम के दुनियाभर में 88 मामले सामन आ चुके हैं. मुंबई के राजावाड़ी हॉस्पिटल के सर्जरी विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. भरत कामथ का कहना है कि उस गुच्छे ने उनका पूरा पेट ही भर दिया था जिससे मीनाक्षी खाने में असमर्थ थी. इतना ही नहीं, बालों का गुच्छा मीनाक्षी के इंटेस्टाइन में उलझ गया था. बालों का गुच्छा 103 cm लंबा था जो की छोटी आंत में फैला हुआ था. रपुंजल सिंड्रोम के मामले में ऐसा होना सामान्य है.


क्या कहना है डॉक्टर्स का-
डॉक्टर्स का कहना है कि मीनाक्षी कई सालों से अपने बाल खा रही है. इस बाल खाने की आदत को ट्रिकोफेजिया कहते हैं.


डॉ. भरत का कहना है कि सबसे बड़ी चुनौती मीनाक्षी को सर्जरी के लिए तैयार करना था. उसका हीमोग्लोबिन का काउंट बढ़ाने के लिए 3 यूनिट ब्लड चढ़ाना पड़ा. उन्हें ये सुनिश्चित करना था की उस गुच्छे को हटाते समय पेट की लाइनिंग पर कोई प्रभाव न पड़े क्योंकि ये ब्लीडिंग का कारण बन सकता था. सर्जरी न करना ज्यादा रिस्की था क्योंकि बालों के गुच्छे के कारण पेट की वॉल्स में छेद हो सकता था.


हॉस्पिटल की मेडिकल अधीक्षक डॉ. विद्या ठाकुर का कहना है कि ये बहुत ही दुर्लभ मामलों में से एक है. डॉ. भरत ने कहा कि ज्यादातर सर्जन्स के पास ऐसे मामले नहीं आते पर ये मेरा दूसरा ऐसा केस है और इस बार बालों का गुच्छा ज्यादा बड़ा था.


उन्होंने ये भी बताया कि सभी डॉक्टर्स इस स्टडी को इंटरनेशनल जर्नलिस्ट्स को सबमिट करेंगे.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Health News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story चंद मिनटों में थकान मिटाएंगे ये 10 नुस्खे