news app that can resolve your period problems|अब पीरियड्स के दर्द से छुटकारा दिलाएगी ये नई ऐप

अब पीरियड्स के दर्द से छुटकारा दिलाएगी ये नई ऐप

पीरियड्स के दौरान पेट में दर्द और मरोड़ की तकलीफ से गुजरने वाली महिलाएं अब खुद पर एक्यूप्रेशर का इस्तेमाल करके इससे निजात पा सकती हैं. एक शोध में यह पता चला है.

By: | Updated: 06 Apr 2018 07:00 PM
news app that can resolve your period problems

नई दिल्लीः पीरियड्स के दौरान पेट में दर्द और मरोड़ की तकलीफ से गुजरने वाली महिलाएं अब खुद पर एक्यूप्रेशर का इस्तेमाल करके इससे निजात पा सकती हैं. एक शोध में यह पता चला है.


पीरियड्स के दौरान दर्द-
करीब 50 से 90 फीसदी युवा महिलाओं को पीरियड्स के दौरान दर्द का अनुभव होता है. पेट के निचले हिस्से में दर्द, सिरदर्द, पीठ दर्द, जी मिचलाना और दस्त जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं.


किसने की रिसर्च-
जर्मनी के विश्वविद्यालय चेरिटे यूनिवर्सिटाट्समेडिजिन बर्लिन के शोधकर्ताओं ने 18 से 34 साल की महिलाओं के एक ग्रुप पर रिसर्च की.


क्यों की गई रिसर्च-
रिसर्च में पता लगाया गया कि पीरियड्स संबंधी दर्द में खुद पर एक्यूप्रेशर का इस्तेमाल करने से महिलाओं को ज्यादा फायदा पहुंचता है या केवल आमतौर पर की जाने वाली देखभाल (दर्द की दवाईयों का सेवन आदि) से.


कैसे की गई रिसर्च-
एक्यूप्रेशर के इस्तेमाल के लिए चिह्नित की गई महिलाओं को एक एप उपलब्ध कराया गया और इसके इस्तेमाल की जानकारी दी गई.


रिसर्च के नतीजे-
तीन महीने बाद एक्यूप्रेशर समूह की 37 प्रतिशत महिलाओं में दर्द में 50 फीसदी की कमी देखी गई.


इस एप की एक खासियत यह भी है कि यह उपभोक्ताओं को दबाव बिंदुओं को फोटो या वीडियो के जरिए विवरण उपलब्ध कराता है जिससे की अधिक लाभ मिल सके. साथ ही यह नियमित अंतराल पर रिमाइंडर भी भेजता है.


यह शोध अमेरिका के जर्नल ऑफ ऑब्स्टेट्रिक्स ऐंड गायनेकोलॉजी में प्रकाशित हुआ.


ये रिसर्च के दावे पर हैं. ABP न्यूज़ इसकी पुष्टि नहीं करता. आप किसी भी सुझाव पर अमल या इलाज शुरू करने से पहले अपने एक्सपर्ट की सलाह जरूर ले लें.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: news app that can resolve your period problems
Read all latest Health News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story सावधान, विटामिन 'डी' की कमी से बढ़ सकता है डायबिटीज का खतरा