सर्जरी के बजाय नॉर्मल डिलीवरी में बच्चा रहता है ज्यादा सेहतमंद

By: | Last Updated: Friday, 1 January 2016 11:34 AM
Normal Delivery Makes Baby Healthier, Says Study

शिशु का जन्म यदि आधुनिक चिकित्सा पद्धति यानी सी-सेक्शन के स्थान पर सामान्य तरीके से हो, तो वह ज्यादा स्वस्थ होता है. ‘बर्थ डिफेक्ट्स रिसर्च’ नामक पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन में यह बात कही गई है. अध्ययन के मुताबिक, गर्भावस्था और प्रसव के दौरान माइक्रोबायोम वातावारण में गड़बड़ी, विकसित होते बच्चे के शुरुआती माइक्रोबायोम को प्रभावित कर सकती है, जिसके कारण बच्चे को भविष्य में स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

अध्ययन में बताया गया कि ‘सी-सेक्शन’ प्रसव जैसी आधुनिक चिकित्सा पद्धतियां इन माइक्रोबायोम को प्रभावित करती हैं और बच्चों की प्रतिरक्षा, चयापचय (मेटाबॉलिज्म) और तंत्रिका संबंधी प्रणालियों के विकास पर नकारात्मक असर डालती हैं.

अमेरिका के ओहियो में ‘केस वेस्टर्न रिजर्व यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन’ के सहायक प्रोफेसर शेरोन मेरोपोल के मुताबिक, शिशु के स्वास्थ्य के लिए केवल शिशु की ही नहीं, बल्कि मां के मोइक्रोबायोम की भी महत्वपूर्ण भूमिका है.

मेरोपोल के मुताबिक, माइक्रोबायोटा में व्यवधान के कारण एलर्जी, दमा, मोटापा, और ऑटिजम जैसे तंत्रिका विकास संबंधी कई विकार बच्चों को होने की संभावना हो सकती है.

हाल में ही किए गए अध्ययन साबित करते हैं कि सामन्य प्रसव, जन्म के तत्काल बाद मां की त्वचा का शिशु की त्वचा से संपर्क और स्तनपान जैसी पारंपरिक प्रथाएं शिशु में माइक्रोबायोम के विकास को बढ़ाने और बच्चे के स्वास्थ्य विकास में सकारात्मक प्रभाव डालने में मदद कर सकती हैं.

Health News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Normal Delivery Makes Baby Healthier, Says Study
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

स्वाइन के बारे में ये अहम बातें जानना भी है जरूरी!
स्वाइन के बारे में ये अहम बातें जानना भी है जरूरी!

नई दिल्ली: दिल्ली सहित देशभर में स्वाइन फ्लू का कहर है. स्वाइन फ्लू के चलते लगातार लोगों की...

नी रिप्लेसमेंट में हॉस्पिटल के खर्च को कम करने की मांग!
नी रिप्लेसमेंट में हॉस्पिटल के खर्च को कम करने की मांग!

नई दिल्ली: एसोसिएशन ऑफ इंडियन मैन्यूफैक्चर्स एसोसिएशन ऑफ इंडियन मेडिकल इक्यूपमेंट इंडस्ट्री...

इंसेफलाइटिस प्रभावित 13 जिलो में आज से 30 अगस्त तक चलेगा स्वच्छता अभियान
इंसेफलाइटिस प्रभावित 13 जिलो में आज से 30 अगस्त तक चलेगा स्वच्छता अभियान

लखनऊ: सरकार ने वेक्टर और गंदगी से होने वाली बीमारियों से बचाव, रोकथाम और उनके नियंत्रण हेतु...

कैंसर की हर स्टेज के बारे में बताएगा ये नया ब्लड टेस्ट सिस्टम!
कैंसर की हर स्टेज के बारे में बताएगा ये नया ब्लड टेस्ट सिस्टम!

न्यूयॉर्क: स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक नए प्रकार का सस्ता मॉलिक्यूलर ब्लड...

घुटने के दर्द से परेशान लोगों के लिए आई अच्छी खबर, सस्ता होगा इलाज!
घुटने के दर्द से परेशान लोगों के लिए आई अच्छी खबर, सस्ता होगा इलाज!

नई दिल्लीः मोदी सरकार ने ‘नी रिप्लेसमेंट’ सर्जरी यानि घुटने के ऑपरेशन में इस्तेमाल होने वाले...

युवाओं में बढ़ रही पैर सूजने की बीमारी, बचने के लिए करें ये उपाय
युवाओं में बढ़ रही पैर सूजने की बीमारी, बचने के लिए करें ये उपाय

नई दिल्ली: एक हालिया रिसर्च में यह बात सामने आई है कि ‘वैरिकोज वेन्स’ यानी पैरों की नसें...

खुशखबरी! अब पौधे से तैयार हुई वैक्सीन खत्म करेगी पोलियो वायरस
खुशखबरी! अब पौधे से तैयार हुई वैक्सीन खत्म करेगी पोलियो वायरस

लंदन: वैज्ञानिकों ने पौधे का इस्तेमाल कर पोलियो वायरस के खिलाफ एक नया टीका विकसित किया है. इस...

म्यांमार में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 25 हुई
म्यांमार में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 25 हुई

नेपीथा: म्यामांर में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 25 तक पहुंच गई है. ‘एफे न्यूज’ ने...

उप्र में स्वाइन फ्लू को लेकर जारी हुई गाइडलाइन
उप्र में स्वाइन फ्लू को लेकर जारी हुई गाइडलाइन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में राजधानी लखनऊ सहित पूरे प्रदेश में स्वाइन स्वाइन फ्लू का असर तेजी से...

सावधान! ब्रेस्ट कैंसर से हर साल 76,000 भारतीय महिलाओं की मौत की आशंका
सावधान! ब्रेस्ट कैंसर से हर साल 76,000 भारतीय महिलाओं की मौत की आशंका

दुबई: शुरुआती पहचान में देरी की वजह से ब्रेस्ट कैंसर का समय पर इलाज नहीं हो पाता. एक शोध की...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017