अभिभावकों के दबाव में एथलीट ले रहे हैं डोपिंग का सहारा!

By: | Last Updated: Saturday, 27 February 2016 10:05 AM
Parental pressure may drive young athletes towards doping

अभिभावकों में बच्चों को जीतते हुए देखने की ललक उन्हें गलत दिशा में ले जा सकती है. एक शोध में यह बात सामने आई है कि माता-पिता के दबाव के कारण युवा पुरुष एथीलीट प्रतिबंधित पदार्थो के सेवन की ओर उन्मुख हो जाते हैं. इंग्लैड की यूनिवर्सिटी ऑफ केंट में हुए इस शोध के मुख्य लेखक डेनियल मेडिगन ने बताया, “जो अभिभावक अपने बच्चों पर उच्च स्तर की उप्लब्धियां हासिल करने का दबाव बनाते हैं, उनके बच्चे अपने माता-पिता की हसरतों को पूरा करने के लिए इस तरह की गलतियां कर बैठते हैं.”

शोधकर्ताओं का सुझाव है, डोपिंग-रोधी कार्यक्रमों को जूनियर एथलीटों के करियर में जल्दी दखलअंदाजी करनी चाहिए, ताकि वह इस तरह की गलतियों से बच सकें. साथ ही माता-पिता को भी इस तरह के दबावों के संभावित परिणामों के बारे में जागरूक होना चाहिए.

डोपिंग को लेकर युवाओं की प्रतिक्रिया जानने के लिए शोधार्थियों ने 17 वर्ष की आयु के 129 जूनियर एथीलीटों पर अध्ययन किया.

सभी पहुलओं की जांच करने के बाद शोध में डोपिंग की ओर सकारात्मक नजरिए के पीछे माता-पिता का दबाव पाया गया.

इसके अलावा अन्य कारकों में एथीलीट सर्वश्रेष्ठ करने की उम्मीद करता है, क्योंकि उस पर कोच द्वारा उत्तम प्रदर्शन करने का दबाव रहता है.

Health News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Parental pressure may drive young athletes towards doping
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017