कान की सर्जरी में अब रोबोट करेगा मदद!

By: एबीपी न्यूज़, वेब डेस्क | Last Updated: Friday, 17 March 2017 10:31 AM
कान की सर्जरी में अब रोबोट करेगा मदद!

नई दिल्लीः क्या हो जब कोई रोबोट नर्स की जगह ले ले. आपको भी पढ़कर हैरानी होगी लेकिन ये सच है. अब ऐसा पहली बार होगा जब रोबोट रिस्की सर्जरी में असिस्ट करेगा. यहां तक की कान के अंदर छोटा सा हियरिंग इंप्लांट करने में भी रोबोट असिस्‍टेंट के तौर पर काम करेगा.

क्या कहती है रिसर्च-
एक 51 साल की महिला की हाल ही में हियरिंग सर्जरी हुई है जिसमें रोबोट ने असिस्ट किया है. ये महिला पहली ऐसी पेशेंट बन गई हैं जिनकी सर्जरी के दौरान रोबोट ने असिस्ट किया है. पहला ऑपरेशन क्‍लीनिकल ट्रायल के तौर पर किया गया था.

कैसे की गई रिसर्च-  
सर्जिकल सिस्टम में रोबोट को शामिल किया गया था और ये सर्जरी का सबसे रिस्की पार्ट था. इस सर्जरी में कान के अंदर स्कल की बोन के जरिए एक टनल बनानी थी. सर्जरी में रोबोटिक ड्रिल का इस्तेमाल किया गया. रोबोट ने बहुत ही बेहतरीन ढंग से अपना काम किया. ये रोबोट सुरक्षा उपायों से सुसज्जित है यहां तक कि इसमें ऑप्टिकल कैमरा भी लगा हुआ है जो कि रोबोट को 25 माइक्रोन (इंसान के बालों की चौड़ाई से भी कम) से ट्रैक कर सकता है.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट-
स्विटजरलैंड की बर्न यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर स्टीफन वेबर कहते हैं कि अभी हमारी प्रक्रिया पहले चरण पर है. इसमें अभी और सर्जिकल एप्रोच होना बाकी है. उनका कहना है कि रोबोट द्वारा की गई हियरिंग इंप्लांट के बेहतर रिजल्ट की हम उम्मीद कर रहे हैं.

शोधकर्ताओं का कहना है कि माइक्रास्कोपिक स्केल पर काम करते हुए इंसानों पर टेस्ट करने की कुछ लिमिटेशंस हैं. अगर इस सीमा को पार किया जाएगा तो उन्हें क्षति पहुंच सकती है.

रिसर्च के नतीजे-
65,000 इंसानों पर काक्लीअर इंप्लांट सर्जरी के बाद नतीजों के तौर पर पाया गया कि तकरीबन 30 से 35 पर्सेंट मरीज इसके तहत सुनने की क्षमता खो देते हैं. जबकि रोबोटिक्स के जरिए सर्जरी को कौशलता से किया जा सकता है. ये बात सर्जंस के परसेप्शन को सरपास करती है.

इस प्रोसिजर में रोबस्ट कंप्यूटर पेशेंट के स्कल स्ट्रक्चर का एनालिसिस करता है और रोबोटिक ट्रीटमेंट प्लान को पर्सनलाइज़ करता है. ये ब्लू् प्रिंट सर्जरी से पहले और बाद में कई सेफ्टी प्लांस से मेजर होता है. साथ ही ये भी वैरीफाई करता है कि रोबोट ने ड्रिलिंग सही लोकेशन पर की है या नहीं.

सबसे इंपोर्टेंट बात ये है कि रोबोटिक पोर्शन के सिस्टम में सेंसर्स लगे हुए हैं जो कि हर स्टेप पर कन्फर्म करते हैं कि रोबेाट क्रिटिकल स्ट्रक्चर में सेफ डिस्टेंस पर है. साथ ही इसने आसपास के टिश्यूज को डैमेज नहीं किया है.

इस रिसर्च को साइंस रोबोटिक्स जर्नल में पब्लिश किया गया है.

First Published: Friday, 17 March 2017 10:31 AM

Related Stories

इस वजह से बच्‍चों को ज्‍यादा से ज्‍यादा लगाएं गले!
इस वजह से बच्‍चों को ज्‍यादा से ज्‍यादा लगाएं गले!

नयी दिल्ली: एक सर्वेक्षण में सामने आया है कि मां जब अपने कलेजे के टुकड़े को सीने से लगाती है तो...

... तो इस वजह से पुरुषों को दोबारा भी हो सकता है किडनी स्टोन!
... तो इस वजह से पुरुषों को दोबारा भी हो सकता है किडनी स्टोन!

नई दिल्ली: पूरे जीवन में गुर्दे में पथरी होने की आशंका पुरुषों में 13 प्रतिशत और महिलाओं में...

ALERT: सरकारी आंकड़ों के मुताबिक साल दर साल बढ़ रहा है डेंगू-चिकनगुनिया का खतरा
ALERT: सरकारी आंकड़ों के मुताबिक साल दर साल बढ़ रहा है डेंगू-चिकनगुनिया का खतरा

नई दिल्ली: केंद्र और राज्य सरकार के स्तर से मच्छरों की वजह से होने वाले बुखार को रोकने के लिए की...

अदरक खाने के ये फायदे अब तक नहीं सुने आपने!
अदरक खाने के ये फायदे अब तक नहीं सुने आपने!

नई दिल्लीः यूं तो हम लोग अक्सर अदरक वाली चाय पीना पसंद करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कच्ची...

वजन कम करने के लिए खाएं फ्लैक्स सीड्स!
वजन कम करने के लिए खाएं फ्लैक्स सीड्स!

नई दिल्लीः अक्सर लोग फ्लैक्स सीड्स को कॉलेस्ट्रॉल कम करने के लिए खाते हैं. लेकिन क्या आप जानते...

क्या ऑफिस में वजन बढ़ने से हैं आप भी हैं परेशान!
क्या ऑफिस में वजन बढ़ने से हैं आप भी हैं परेशान!

नई दिल्लीः अक्सर लोगों को आपने कहते हुए सुना होगा कि दिनभर ऑफिस में बैठना पड़ता है इसलिए वजन...

गर्मी में ये टिप्स रखेंगे आपको चुस्त–दुरुस्त!
गर्मी में ये टिप्स रखेंगे आपको चुस्त–दुरुस्त!

नई दिल्लीः गर्मियां आते ही शुरू हो जाती हैं बीमारियां. लेकिन आप इन गर्मियों में आयुर्वेदिक...

टीबी के मरीजों के लिए है ये खबर!
टीबी के मरीजों के लिए है ये खबर!

नई दिल्लीः शहर में टीबी के मामलों में ज्यादा लोगों के संक्रमित होने का खतरा होता है, वहीं...

यंग मदर्स के बहुत काम आएंगे ये टिप्स!
यंग मदर्स के बहुत काम आएंगे ये टिप्स!

नई दिल्ली: हाल ही में मातृत्व पर किए गए एक बयान से विवादों में घिरी अभिनेता शाहिद कपूर की पत्नी...

 ... तो ये कारण है ब्रेस्ट कैंसर, सर्वाइकल और वैजाइनल कैंसर का!
... तो ये कारण है ब्रेस्ट कैंसर, सर्वाइकल और वैजाइनल कैंसर का!

नई दिल्लीः सोशल मीडिया के जहां बहुत से फायदे हैं वहीं नुकसान भी हैं. सोशल मीडिया पर लोग कई बार...