पढ़ाई के तनाव से बच्चों को हो रही हैं गंभीर बीमारियां

By: | Last Updated: Tuesday, 8 March 2016 10:47 AM
Stress and your child’s brain

क्या आप अपने बच्चे को अतिसफल बनाना चाहते हैं? तो सावधान हो जाएं! क्योंकि एक नए शोध के मुताबिक, छोटे बच्चों पर बहुत अधिक पढ़ाई का बोझ डालने से उनका मन विचलित हो उठता है और उनमें ध्यान केंद्रित न करने का मनोविकार पैदा होने की आशंका बढ़ जाती है. अमेरिका के मियामी विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने अनुमान लगाया है कि 1970 के बाद पढ़ाई के मानदंड में बढ़ोतरी होने के साथ ही ध्यान केंद्रित नहीं करने के मनोविकार में काफी वृद्धि हुई है.

इस शोध से पता चला है कि प्री-प्राइमरी में बच्चों का नामांकन तेजी से बढ़ा है और आश्चर्य की बात नहीं है कि पिछले 40 सालों में ध्यान केंद्रित न करने के मनोविकार में दोगुनी बढ़ोतरी हुई है.

वहीं, पूर्णकालिक कार्यक्रमों में कम उम्र के बच्चों का नामांकन 1970 के मुकाबले 2000 के मध्य तक 17 फीसदी बढ़ा है. इसके अलावा 1997 में 6 से 7 साल के बच्चों में गृहकार्य को हर हफ्ते दो घंटों से ज्यादा वक्त दिया, जबकि एक दशक पहले यह दर एक घंटे से कम थी.

मियामी विश्वविद्यालय के प्रोफेसर जेफरी पी. ब्रोस्को ने कहा, “हमने इस अध्ययन के दौरान पाया कि 70 के दशक तुलना में अब बच्चे अकादमिक गतिविधियों में ज्यादा समय व्यतीत करने लगे हैं. हमें लगता है कि पढ़ाई के बोझ से कम उम्र के बच्चों के एक वर्ग पर नकारात्मक असर पड़ रहा है.”

उन्होंने कहा कि पढ़ाई के बढ़ते बोझ के कारण बच्चों को खेलकूद व आराम का वक्त नहीं मिलता. इसके कुछ बच्चों में ध्यान केंद्रित न करने का मनोविकार पनप गया है.

उन्होंने कहा, “प्री-नर्सरी स्कूलों में उम्र से एक साल पहले दाखिला दिलाने से बच्चों में व्यवहार संबंधी परेशानियों की संभावना दोगुनी बढ़ जाती है.”

वह कहते हैं कि कम उम्र के बच्चों के लिए सबसे ज्यादा जरूरी स्वतंत्र रूप से खेलना, सामाजिक संबंधों और कल्पना के प्रयोग पर ध्यान देना चाहिए.

यह अध्ययन ‘जामा पेडिएट्रिक्स’ पत्रिका में प्रकाशित किया गया है.

Health News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Stress and your child’s brain
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

गुजरात में स्वाइन फ्लू का कहर, रविवार को 11 तो इस साल अब तक 208 की मौत
गुजरात में स्वाइन फ्लू का कहर, रविवार को 11 तो इस साल अब तक 208 की मौत

अहमदाबाद शहर स्वाइन फ्लू से सबसे ज्यादा प्रभावित है. प्रशासन भरपूर कोशिश कर रहा है लेकिन...

गोरखपुरः मासूमों की मौत का जिम्मेदार कौन? ऑक्सीजन की कमी या एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिन्ड्रोम
गोरखपुरः मासूमों की मौत का जिम्मेदार कौन? ऑक्सीजन की कमी या एक्यूट...

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश में गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से...

भोपाल में स्वाइन फ्लू से एक महिला की मौत
भोपाल में स्वाइन फ्लू से एक महिला की मौत

भोपालः भोपाल के एक निजी अस्पताल में भर्ती 25 वर्षीय महिला की स्वाइन फ्लू से मौत हो गई. इसी के साथ,...

OMG! पुणे के हॉस्पिटल्स में ही मिले डेंगू मच्छर, नोटिस हुआ जारी
OMG! पुणे के हॉस्पिटल्स में ही मिले डेंगू मच्छर, नोटिस हुआ जारी

नई दिल्लीः मच्छरों के पैदा होने वाली जगहों पर साफ-सफाई अभियान देशभर में जोर-शोर से चल रहा है....

सावधान! पंजाब है स्वाइन फ्लू की चपेट में, 1 महीने में 9 की मौत
सावधान! पंजाब है स्वाइन फ्लू की चपेट में, 1 महीने में 9 की मौत

नई दिल्लीः पंजाब में स्वाइन फ्लू बहुत ही तेज़ी से फैल रहा है. पिछले एक महीने में 58 लोग इस बीमारी...

अंडा खाने वाले सावधान, अंडों में पाए गए हैं कीटनाशक!
अंडा खाने वाले सावधान, अंडों में पाए गए हैं कीटनाशक!

नई दिल्लीः हाल ही में अंडों में बेहद विषैला कीटनाशक मिला है. जो कि इंसानों की सेहत के लिए बहुत...

विटामिन थेरेपी से बच सकते हैं स्किन कैंसर से!
विटामिन थेरेपी से बच सकते हैं स्किन कैंसर से!

न्यूयॉर्कः वैज्ञानिकों के अनुसार, विटामिन बी3 के रूप में इस्तेमाल की जाने वाली थेरेपी...

मिसकैरेज रोकने के लिए विटामिन बी3 हो सकता है फायदेमंद!
मिसकैरेज रोकने के लिए विटामिन बी3 हो सकता है फायदेमंद!

नई दिल्लीः  यूं तो विटामिन और मिनरल्स बॉडी को न्यूट्रशिंस देते हैं लेकिन इसके अलावा भी कई...

मॉनसून में डायट का रखें खास ध्‍यान, लें ऐसी डायट!
मॉनसून में डायट का रखें खास ध्‍यान, लें ऐसी डायट!

नई दिल्लीः मॉनसून में में सही से डायट न लेने से पेट संबंधी बीमारी होने की आशंका ज्यादा होती है....

ब्रेस्टफीडिंग से हार्ट अटैक का रिस्क हो सकता है कम!
ब्रेस्टफीडिंग से हार्ट अटैक का रिस्क हो सकता है कम!

नई दिल्लीः ये तो आप जानते ही हैं कि शुरूआत में बच्चे के लिए मां का दूध ही सबकुछ होता है. बच्चे को...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017