अब डॉक्टर नहीं, ब्रश डीजे रखेगा दांतों का ख्याल!

By: | Last Updated: Friday, 4 September 2015 5:19 PM
The tooth-brushing app to help kids adopt effective routine

 

नई दिल्ली : रोज सुबह आप बच्चों को ब्रश करने के लिए कह-कह कर थक गए हैं! तो उनके लिए एक नया मोबाइल एप आया है जो ब्रश करने को न सिर्फ मजेदार बनाता है, बल्कि दांतों को रोगाणु मुक्त रखने में भी मदद करता है. ‘ब्रश डीजे’ नाम का यह निशुल्क एप ब्रश करने के लिए दो मिनट के आदर्श समय तक उपभोक्ताओं के उपकरण या क्लाउड से ली गई प्ले लिस्ट से संगीत बजाता है.

 

दो मिनट तक ब्रश करने के लिए प्रोत्साहित करने के साथ ही यह उपयोगकर्ताओं को ब्रश करने के बाद थूकने लेकिन कुल्ला न करने, दिन में दो बार ब्रश करने, ब्रश न करने के समय में माउथ फ्रेशनर का प्रयोग करने, दंत चिकित्सक से परामर्श लेने और हर तीन महीने के बाद टूथब्रश बदलने की भी याद दिलाता है.

 

इंग्लैंड में प्लाईमाउथ यूनिवर्सिटी पेनिन्सुला स्कूल्स ऑफ मेडिसिन एंड डेंटिस्ट्री के मुख्य शोधकर्ता बेन अंडरवुड ने कहा, “हमारा अध्ययन यह साबित करता है कि ब्रश डीजे उपभोक्ताओं के लिए बेहद फायदेमंद है और इसके प्रयोग और उपयोगिता को बढ़ाने के लिए नए शोध की राह खोलता है.”

 

शोध के अनुसार प्रयोगकर्ताओं में से 70 प्रतिशत ने कहा कि एप के इस्तेमाल के बाद से उन्हें अपने दांत ज्यादा साफ महसूस हुए और 80 प्रतिशत ने कहा कि ब्रश डीजे ने उन्हें अधिक समय तक दांतों की सफाई के लिए प्रोत्साहित किया.

 

शोध समूह ने कहा कि ब्रश डीजे नौजवानों को अपने दांतों की सफाई के लिए ही प्रोत्साहित नहीं करता बल्कि मुंह के स्वास्थ्य संबंधित संदेश और जानकारी देने में भी यह बेहद प्रभावशाली है.

 

ब्रश डीजे को 2011 के अंत में एप्पल एप स्टोर पर उतारा गया. फरवरी 2015 तक बगैर विज्ञापनों वाले इस मुफ्त एप को 188 देशों में 1,97,000 से अधिक उपकरणों पर डाउनलोड किया गया. किसी भी प्रकार के टूथब्रश पर इसका प्रयोग किया जा सकता है.

 

शोध पत्रिका ‘ब्रिटिश डेंटल जर्नल’ के ताजा अंक में यह शोध प्रकाशित हुआ है.

Health News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: The tooth-brushing app to help kids adopt effective routine
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

स्वाइन के बारे में ये अहम बातें जानना भी है जरूरी!
स्वाइन के बारे में ये अहम बातें जानना भी है जरूरी!

नई दिल्ली: दिल्ली सहित देशभर में स्वाइन फ्लू का कहर है. स्वाइन फ्लू के चलते लगातार लोगों की...

नी रिप्लेसमेंट में हॉस्पिटल के खर्च को कम करने की मांग!
नी रिप्लेसमेंट में हॉस्पिटल के खर्च को कम करने की मांग!

नई दिल्ली: एसोसिएशन ऑफ इंडियन मैन्यूफैक्चर्स एसोसिएशन ऑफ इंडियन मेडिकल इक्यूपमेंट इंडस्ट्री...

इंसेफलाइटिस प्रभावित 13 जिलो में आज से 30 अगस्त तक चलेगा स्वच्छता अभियान
इंसेफलाइटिस प्रभावित 13 जिलो में आज से 30 अगस्त तक चलेगा स्वच्छता अभियान

लखनऊ: सरकार ने वेक्टर और गंदगी से होने वाली बीमारियों से बचाव, रोकथाम और उनके नियंत्रण हेतु...

कैंसर की हर स्टेज के बारे में बताएगा ये नया ब्लड टेस्ट सिस्टम!
कैंसर की हर स्टेज के बारे में बताएगा ये नया ब्लड टेस्ट सिस्टम!

न्यूयॉर्क: स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक नए प्रकार का सस्ता मॉलिक्यूलर ब्लड...

घुटने के दर्द से परेशान लोगों के लिए आई अच्छी खबर, सस्ता होगा इलाज!
घुटने के दर्द से परेशान लोगों के लिए आई अच्छी खबर, सस्ता होगा इलाज!

नई दिल्लीः मोदी सरकार ने ‘नी रिप्लेसमेंट’ सर्जरी यानि घुटने के ऑपरेशन में इस्तेमाल होने वाले...

युवाओं में बढ़ रही पैर सूजने की बीमारी, बचने के लिए करें ये उपाय
युवाओं में बढ़ रही पैर सूजने की बीमारी, बचने के लिए करें ये उपाय

नई दिल्ली: एक हालिया रिसर्च में यह बात सामने आई है कि ‘वैरिकोज वेन्स’ यानी पैरों की नसें...

खुशखबरी! अब पौधे से तैयार हुई वैक्सीन खत्म करेगी पोलियो वायरस
खुशखबरी! अब पौधे से तैयार हुई वैक्सीन खत्म करेगी पोलियो वायरस

लंदन: वैज्ञानिकों ने पौधे का इस्तेमाल कर पोलियो वायरस के खिलाफ एक नया टीका विकसित किया है. इस...

म्यांमार में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 25 हुई
म्यांमार में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 25 हुई

नेपीथा: म्यामांर में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 25 तक पहुंच गई है. ‘एफे न्यूज’ ने...

उप्र में स्वाइन फ्लू को लेकर जारी हुई गाइडलाइन
उप्र में स्वाइन फ्लू को लेकर जारी हुई गाइडलाइन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में राजधानी लखनऊ सहित पूरे प्रदेश में स्वाइन स्वाइन फ्लू का असर तेजी से...

सावधान! ब्रेस्ट कैंसर से हर साल 76,000 भारतीय महिलाओं की मौत की आशंका
सावधान! ब्रेस्ट कैंसर से हर साल 76,000 भारतीय महिलाओं की मौत की आशंका

दुबई: शुरुआती पहचान में देरी की वजह से ब्रेस्ट कैंसर का समय पर इलाज नहीं हो पाता. एक शोध की...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017