परेशानी भरे बचपन से हो सकता है ये गंभीर खतरा!

By: | Last Updated: Monday, 15 May 2017 9:05 AM
Troubled childhood likely to cause irritable bowel syndrome

न्यूयॉर्क: परेशानी भरे बचपन की वजह से इरिटेबल बॉउल सिंड्रोम (क्षोभी आंत्र विकार) होने की संभावना बढ़ जाती है. इस तरह के सिंड्रोम वाले लोगों में आंत और दिमाग के बीच में संबंध पाया गया है. शोध के निष्कर्षो से पता चलता है कि दिमाग से पैदा हुए संकेतों से आंत में रहने वाले जीवाणुओं पर प्रभाव पड़ता है और आंत के केमिकल्स दिमाग की संरचना को आकार दे सकते हैं. दिमाग के संकेतों में शरीर की संवेदी जानकारी की प्रोसेसिंग शामिल होती है.

न्यूजवीक से लॉस एंजिल्स-कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के ईमरान मेयर ने कहा, “आंत के जीवाणुओं के संकेत संवेदी प्रणाली विकसित करने के तरीके को आकार देते हैं.”

मेयर ने पाया, “गर्भावस्था के दौरान बहुत सारे प्रभाव शुरू होते हैं और जीवन के पहले तीन सालों तक चलते हैं. यह आंत माइक्रोबॉयोम-ब्रेन एक्सिस की प्रोग्रामिंग है.”

शुरुआती जीवन की परेशानी दिमाग के संरचनात्मक और क्रियात्मक बदलावों से जुड़ी होती है और पेट के सूक्ष्मजीवों में भी बदलाव लाती है.

यह भी संभव है कि एक व्यक्ति की आंत और इसके जीवाणुओं को संकेत दिमाग से मिलता है, ऐसे में बचपन की परेशानियों की वजह आंत के जीवाणुओं में जीवन भर के लिए बदलाव हो जाए.

शोधकर्ताओं ने कहा कि आंत के इन जीवाणुओं में बदलाव दिमाग के संवेदी भागों में भी भर सकते हैं, जिससे आंत के उभारों की संवेदनाओं पर असर पड़ता है.

इस शोध का प्रकाशन पत्रिका ‘माइक्रोबायोम’ में किया गया है.

नोट: ये रिसर्च के दावे पर हैं. ABP न्यूज़ इसकी पुष्टि नहीं करता. आप किसी भी सुझाव पर अमल या इलाज शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें.

Health News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Troubled childhood likely to cause irritable bowel syndrome
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

OMG! HIV वायरस से बिना दवाओं के नौ साल से लड़ रही है ये बच्ची
OMG! HIV वायरस से बिना दवाओं के नौ साल से लड़ रही है ये बच्ची

नई दिल्ली: हाल ही में पेरिस में HIV को लेकर इंटरनेशनल एड्स सोसाइटी द्वारा एक कॉन्फ्रेंस की गई...

कैल्शियम की कमी पूरी करने के लिए अपनाएं ये टिप्स!
कैल्शियम की कमी पूरी करने के लिए अपनाएं ये टिप्स!

नई दिल्लीः लोगों में कैल्शियम की कमी भारी मात्रा में देखने को मिलती है. कैल्शियम की कमी आमतौर...

दुनिया की सबसे वजनी महिला ने किया 315 किलो वजन कम, अब ये है नया टारगेट!
दुनिया की सबसे वजनी महिला ने किया 315 किलो वजन कम, अब ये है नया टारगेट!

नई दिल्ली: मिस्र की रहने वाली इमान अहमद ढाई महीने पहले भारत में बेट्रियाटिक सर्जरी करवाकर...

वजन कंट्रोल करना है तो रोजाना करें ब्रेकफास्ट!
वजन कंट्रोल करना है तो रोजाना करें ब्रेकफास्ट!

नई दिल्लीः सुबह का नाश्ता यूं तो दिनभर फुर्तीला रहने के लिए करना चाहिए लेकिन आज हम आपको एक ऐसी...

सिर्फ 45 मिनट, मानसून में रख सकते हैं आपको फिट
सिर्फ 45 मिनट, मानसून में रख सकते हैं आपको फिट

नई दिल्लीः फिटनेस कोई आदत नहीं, बल्कि जीवनशैली है. इसलिए मानसून में भी फिटनेस के प्रति अपने...

देश में स्वाइन फ्लू का कहर, 600 की हुई मौत!
देश में स्वाइन फ्लू का कहर, 600 की हुई मौत!

नई दिल्ली: स्वाइन फ्लू के कहर के कारण इस साल अब तक देश में 600 लोगों की मौत हो चुकी है और 12,500 मामले...

एक्सरसाइज करेंगे तो पा सकते हैं इस बड़ी बीमारी से छुटकारा!
एक्सरसाइज करेंगे तो पा सकते हैं इस बड़ी बीमारी से छुटकारा!

नई दिल्लीः हाल ही में आई रिसर्च के मुताबिक, रोजाना एक्सरसाइज करने से ना सिर्फ आप फिट रहते हैं...

डेंगू और चिकुनगुनिया से बचाने के लिए गूगल ऐसे करेगा मच्छरों का खात्मा!
डेंगू और चिकुनगुनिया से बचाने के लिए गूगल ऐसे करेगा मच्छरों का खात्मा!

सन फ्रांस्सिकोः इंटरनेट कंपनी गूगल की मदर कंपनी अल्फाबेट ने अमेरिकी वैज्ञानिकों के साथ मिलकर...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017