जानिए क्या है 'नेशनल हेल्थ पॉलिसी' के मायने और कैसे होगा फ्री में इलाज!

By: | Last Updated: Thursday, 16 March 2017 11:29 AM
What is a national health policy?

नई दिल्लीः केंद्र सरकार ने बुधवार को नेशनल हेल्थ पॉलिसी को मंजूरी दे दी. इस नीति के जरिए देश में ‘सभी को निश्चित स्वास्थ्य सेवाएं’ मुहैया कराने का प्रस्ताव है. केंद्रीय मंत्री जे पी नड्डा आज संसद में इस नीति के अहम पहलुओं की जानकारी देंगे.

जानिए, नेशनल हेल्थ पॉलिसी में क्या है खास.

क्या है नेशनल हेल्थ पॉलिसी-

  • नेशनल हेल्थ पॉलिसी के अंतर्गत कोई भी हॉस्पिटल किसी भी तरह के इलाज के लिए मरीजों को मना नहीं करेगा. इसमें प्राइवेट सेक्टर के हॉस्पिटल भी शामिल हैं.
  • नेशनल हेल्थ पॉलिसी में लोगों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस दिए जाएंगे और इसके लिए लोगों पर हेल्थ टैक्स लगाने का भी प्रावधान है.
  • गरीबी रेखा से नीचे आने वाले लोगों का इलाज मुफ्त में किए जाने का प्रावधान है.
  • पॉलिसी के तहत टेस्ट, मेडिसिन और ट्रीटमेंट तीनों चीजें शामिल हैं.
  • इस पॉलिसी के जरिए सरकार हर किसी का फ्री में इलाज करवाने की तैयारी में है. गवर्मन्ट का टारगेट है कि देश के 80% लोगों का इलाज गवर्मन्ट अस्पातल में पूरी तरह से फ्री हो.
  • सरकारी योजनाओं के तहत एक्सपर्ट और टॉप लेवल ट्रीटमेंट में प्राइवेट सेक्टर की भागीदारी को बढ़ाया जाएगा. यानि सरकार बेसिक ट्रीटमेंट को स्ट्रांग बनाएगी वहीं एक्सपर्ट ट्रीटमेंट के लिए लोग प्राइवेट या गवर्मन्ट हॉस्पिटल जा सकेंगे.
  • हेल्थ इंश्यारेंस प्लान के तहत सरकार प्राइवेट हॉस्पिटल्स को ऐसे इलाज के लिए निश्चित पेमेंट करेगी.
  • अब तक पीएचसी टीकाकरण, गर्भवती महिलाओं और बच्चे की जांच जैसी सुविधाओं को उपलब्ध करवाता था लेकिन अब इसमें गैर-संक्रामक रोगों की जांच और कई अन्य पहलू भी शामिल होंगे.
  • डिस्ट्रिक हॉस्पिटल्स और अन्य हॉस्पिटल्स से गवर्मन्ट कंट्रोल हटाया जाएगा. साथ ही इन हॉस्पिटल्स को आधुनिक बनाएं जाने की बात भी कहीं जा रही है.
  • हेल्थ पॉलिसी में हेल्थ सेक्टर में 100% एफडीआई और डायरेक्ट टैक्स को कम करने की बात भी है.
  • हेल्थ सेक्टर में डिजिटलाइजेशन पर भी फोकस किया जाएगा. गंभीर और प्रमुख बीमारियों को जड़ से खत्‍म करने के लिए समय सीमा होगी तय.
  • इसमें मां और शिशु मृत्युदर घटाने से लेकर गवर्मन्ट हॉस्पिटल्स में मेडिसिन, टेस्ट सभी के लिए साधन मौजूद होंगे.
  • राज्यों के लिए इस नीति को मानना अनिवार्य नहीं होगा. इस पॉलिसी को एक मॉडल के रूप में राज्यों को दे दिया जाएगा. राज्य सरकार इसे लागू करती है या नहीं, ये पूरी तरह उनपर निर्भर करेगा.
First Published:

Related Stories

कमर दर्द से छुटकारा पाना है तो करें ये योग क्रियाएं!
कमर दर्द से छुटकारा पाना है तो करें ये योग क्रियाएं!

नई दिल्लीः कमर दर्द बहुत आम समस्या है. कभी-कभी ये लंबे समय तक चलता है तो कभी अचानक से कमर का दर्द...

सीजेरियन डिलीवरी से ज्यादा पेनफुल होते हैं ये डिलीवरी प्रोसेस!
सीजेरियन डिलीवरी से ज्यादा पेनफुल होते हैं ये डिलीवरी प्रोसेस!

नई दिल्लीः अगर आप ऐसा सोचते हैं कि सीजेरियन डिलीवरी बाकी डिलीवरी प्रोसेस से अधिक पेनफुल होती...

साइटिका के दर्द से जल्द‍ निजात दिलाएंगी ये योग क्रियाएं!
साइटिका के दर्द से जल्द‍ निजात दिलाएंगी ये योग क्रियाएं!

नई दिल्लीः साइटिका ऐसी समस्या है जिसमें दर्द हमारे शरीर में एक जगह से दूसरी जगह पहुंच जाता है....

बच्चों में मोटापा रोकना है तो मां नहीं, पिता करें बच्चों की देखभाल!
बच्चों में मोटापा रोकना है तो मां नहीं, पिता करें बच्चों की देखभाल!

नई दिल्लीः आज के समय में बच्चों में मोटापा होना आम बात हो गई. लेकिन क्या आप जानते हैं छोटे बच्चों...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017