... तो इस तरह से नीम को अपने लिए बनाएं हेल्‍दी!

By: एबीपी न्यूज़, वेब डेस्क | Last Updated: Monday, 20 March 2017 11:23 AM
 ... तो इस तरह से नीम को अपने लिए बनाएं हेल्‍दी!

नई दिल्लीः नीम ऐसी हर्ब है जिससे कई तरह की बीमारियों को आसानी से ठीक किया जा सकता है. इतना ही नहीं, ये हेल्थ इंप्रूव करने में भी मदद करती है. नीम के पेड़ का हर भाग शरीर के लिए फायदेमंद है. एक रिसर्च के मुताबिक, तकरीबन 100 बीमारियों को नीम के जरिए ट्रीट किया जा सकता है. आज हम आपको बता रहे हैं नीम के कुछ हेल्थ बेनिफिट्स.

स्किन प्रॉब्लम्स- ऐक्ने, मुहांसे, पिगमेंटेशन और फेस की ड्राइेनस को नीम की पत्तियों से ठीक किया जा सकता है. कुछ नीम की पत्तियां लें, पानी में इन्हें तक तक उबालें जब तक पानी हरा ना हो जाएं. सुबह सवेरे इस पानी से रोजाना मुंह धोएं.

डेंड्रफ- नीम में मौजूद एंटी-माइक्रोबायल प्रॉपर्टी के कारण ये डेंड्रफ दूर करने में मदद करती है. नीम के पत्ते- और तुलसी को क्रश करके कम से कम सप्ताह में दो बार इससे बाल धोएं.

बैली फैट- आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन नीम फ्नोवर से बैली फैट कम किया जा सकता है. नीम फ्लोवर को लैमन के साथ लिया जाता है. इससे ये पेट की अतिरिक्त चर्बी को दूर करता है. एक मुट्ठी नीम फ्लोवर को क्रश करके एक चम्मच शहद और आधा नींबू इसमें मिलाएं. इससे अच्छे से मिक्स करें और सुबह खाली पेट पी लें. इसके बाद आधे घंटे तक कुछ ना पीएं.

ओरल प्रॉब्लम्स- नीम की डंडियों को जिसे दातून भी कहा जाता है से ओरल प्रॉब्लम्स ठीक हो जाती हैं. एंटी फंगल प्रोपर्टी होने के कारण नीम माउथ अल्सर, बैड ब्रीथ, दांतों के दर्द को दूर करता है और दांतों की शाइनिंग भी वापिस लाता है. एक दातून को तोड़े और इस ब्रश की तरह चबाएं. ये नैचुरल ब्रश का कम करेगा. इसके बाद पानी से कुल्ला कर लें.

गैस्ट्रिक प्रॉब्लम- ये गैस्ट्रिक प्रॉब्लम्स को भी दूर करता है. पेट के अल्सर, क्रैम्प्स, ब्लोटिंग को भी नीम के जरिए दूर किया जा सकता है. अल्टरनेट डेज पर नीम लें. प्रेग्नेंट वूमेन को नीम नहीं लेना चाहिए. नीम के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से जरूर कसंल्ट कर लें अगर आप अन्य दवाओं के साथ नाम का सेवन करने की सोच रहे हैं तो.

First Published: Monday, 20 March 2017 11:23 AM

Related Stories

डॉक्टर सिर्फ जेनेरिक दवाएं लिखें नहीं तो होगी कार्रवाई: MCI
डॉक्टर सिर्फ जेनेरिक दवाएं लिखें नहीं तो होगी कार्रवाई: MCI

नई दिल्ली: देश की शीर्ष मेडिकल रेगुलेरिटी ने डॉक्टरों को चेतावनी दी है. इस चेतावनी के मुताबिक...

इसलिए तरबूज-खरबूजे के ऊपर नहीं पीना चाहिए पानी!
इसलिए तरबूज-खरबूजे के ऊपर नहीं पीना चाहिए पानी!

नई दिल्लीः अक्सर ये माना जाता है कि तरबूज और खूरबूजे के ऊपर पानी नहीं पीना चाहिए. कोई कहता है कि...

टायफायड से बचना है तो ये जानकारी लेना है जरूरी!
टायफायड से बचना है तो ये जानकारी लेना है जरूरी!

नई दिल्लीः अगर आप भी हल्की-फुल्की बीमारियों में एंटीबायोटिक्स ले लेते हैं तो अब आपको जरा सोचने...

'World Earth Day': ऐसे करें आज के दिन को सेलि‍ब्रेट!
'World Earth Day': ऐसे करें आज के दिन को सेलि‍ब्रेट!

नई दिल्लीः आज दुनियाभर में ‘वर्ल्ड अर्थ डे’ माना जा रहा है. वर्ल्ड अर्थ डे का मनाने का मकसद...

रेयर मेडिकल कंडीशन वाले मरीज की रोबोट ने की सर्जरी
रेयर मेडिकल कंडीशन वाले मरीज की रोबोट ने की सर्जरी

अहमदाबादः पेट में भयानक दर्द से तड़प रहे एक मरीज की अहमदाबाद के एक अस्पताल में रोबोट के जरिए...

नकली दवाओं पर लगाम के लिए सख्त कानून बने: आईएमए
नकली दवाओं पर लगाम के लिए सख्त कानून बने: आईएमए

नई दिल्लीः इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के मुताबिक, आजकल नकली दवाओं का कारोबार अपनी पकड़ बना...

सुनिश्चित करो कि इस साल न हों डेंगू या चिकुनगुनिया के मामले : उच्च न्यायालय
सुनिश्चित करो कि इस साल न हों डेंगू या चिकुनगुनिया के मामले : उच्च न्यायालय

नयी दिल्ली: दिल्ली उच्च न्यायालय ने आप सरकार और नगर निकायों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश...

कहीं आपका बच्चा भी तो नहीं हो रहा यौन हिंसा का शिकार?
कहीं आपका बच्चा भी तो नहीं हो रहा यौन हिंसा का शिकार?

नई दिल्लीः अक्सर लोग सोचते हैं कि उनका बच्चा घर में सुरक्षित है लेकिन ये सच नहीं है. आपको जानकर...

इन वजहों से 6 महीने की मैटरनिटी लीव है जरूरी!
इन वजहों से 6 महीने की मैटरनिटी लीव है जरूरी!

नई दिल्लीः राज्‍यसभा और लोकसभा में 26 सप्ताह तक की मैटरनिटी लीव का बिल पास हो चुका है. नये कानून...

सावधान! मोबाइल के इस्तेमाल से हो सकता है ब्रेन ट्यूमर
सावधान! मोबाइल के इस्तेमाल से हो सकता है ब्रेन ट्यूमर

नई दिल्लीः क्या आप भी दिनभर मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं? क्या आप अपने मोबाइल से बिल्कुल अलग...