हार्ट अटैक के अविवाहित मरीजों में मौत का खतरा ज्यादा: शोध | You can become a heart patient, how can you survive?

हार्ट अटैक के अविवाहित मरीजों में मौत का खतरा ज्यादा: शोध

एक अध्ययन के अनुसार, यह प्रयोग उन लोगों पर किया गया जिनकी औसत उम्र 63 साल रही. ऐसे करीब 6,051 पेशेंट थे जिनपर यह शोध हुआ.

By: | Updated: 20 Dec 2017 10:29 PM
You can become a heart patient, how can you survive?

नई दिल्ली: एक शोध के मुताबिक यह बात सामने आई है कि अक्सर अकेले रहने वाले लोग उदास रहते हैं. रिसर्च में यह बात सामने आई है कि अविवाहित हार्ट पेशेंट को अधिकतर मौत का सामना करना पड़ता है. अमेरिका के हार्ट एसोसिएशन की पत्रिका में पब्लिश खबरों के मुताबिक, जब इसकी तुलना शादीशुदा लोगों से की गई तो पता चला कि अविवाहित लोगों को मौत का खतरा हमेशा बना रहता है.


यूएस की ईमोरी यूनिर्वसिटी के मेडिकल डिपार्टमेंट में प्रोफेसर, अर्शद कय्यूमी ने कहा, "मैं शादीशुदा लोगों के उपर हार्ट अटैक के होने वाले असर को देखकर आश्चर्यचकित हो गया. शादी करने से लोगों को सामाजिक और जिंदगी में मददगार साबित होती है. यह हार्ट पेशेंट वाले लोगों के लिए बहुत मददगार और महत्वपूर्ण हो जाती है."


एक अध्ययन के अनुसार, यह प्रयोग उन लोगों पर किया गया जिनकी औसत उम्र 63 साल रही, ऐसे करीब 6,051 पेशेंट थे जिनपे ये प्रयोग हुआ. ये वो लोग थे जिनका या तो तलाक हो गया या विधवा या फिर कभी शादी नहीं हुई इस वजह से उन्हें बाद में हृदय रोग से ग्रसित होना पड़ा.


यह रिसर्च इन चार सालों में उन पेशेंट के ऊपर है जो हृदय रोग से पीड़ित थे. इसमें पाया गया है कि शादीशुदा की तुलना में अविवाहित लोग हार्ट अटैक से 24 फीसदी ज्यादा मरते हैं. अध्ययन में ये भी बताया गया है कि जो हार्ट के मरीज होते हैं वो 40 प्रतिशत अविवाहित होते हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: You can become a heart patient, how can you survive?
Read all latest Health News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story क्या वीडियो गेम से सचमुच बच्चों को हो सकता है फायदा?