अंतिम चरण की 41 लोकसभा सीटों पर 50 फीसदी तक मतदान

अंतिम चरण की 41 लोकसभा सीटों पर 50 फीसदी तक मतदान

By: | Updated: 12 May 2014 01:17 PM
नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के नौवें और अंतिम चरण में 41 सीटों के लिए सोमवार को कई इलाकों में तपती दोपहरी के बीच लाखों लोगों ने मतदान किया. सभी की निगाहें हालांकि वाराणसी पर टिकी रही जहां बड़ी तादाद में लोग घरों से निकले और मतदान किया.

 

अपराह्न तीन बजे तक यहां 43 फीसदी मतदान दर्ज किया गया. लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में उत्तर प्रदेश की 18, पश्चिम बंगाल की 17 और बिहार की छह लोकसभा सीटें पर मतदान कराया जा रहा है. इस चरण में करीब 6.6 करोड़ मतदाता 606 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे. इसके लिए 71,254 मतदान केंद्र बनाए गए.

 

उत्तर प्रदेश, बिहार एवं पश्चिम बंगाल में मतदान केंद्रों पर लंबी कतारें देखने को मिलीं. वाराणसी में कुछ लोगों ने शिकायत की कि उन्हें मतदान करने के लिए चार घंटे तक कतार में खड़े रहना पड़ा.

 

निर्वाचन अधिकारियों ने कहा कि सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ और पहले छह घंटे में करीब 50 फीसदी मतदान दर्ज किया गया. सबसे ज्यादा मतदान पश्चिम बंगाल में दर्ज हुआ.

 

अंतिम चरण में हालांकि कमोबेश सभी 41 सीटों पर कांटे की टक्कर मानी जा रही है लेकिन सभी निगाहें वाराणसी पर टिकी है जहां भाजपा के मुख्य प्रचारक व पार्टी उम्मीदवार नरेंद्र मोदी और आम आदमी पार्टी (आप) के अरविंद केजरीवाल के बीच सीधी टक्कर मानी जा रही है.

 

केजरीवाल ने दावा किया है कि वह मोदी को पराजित करने जा रहे हैं. केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा, "पिछले तीन दिनों में समीकरण पूरी तरह बदल गए हैं और अब सभी कह रहे हैं कि मोदी हार रहे हैं."

 

उधर, भाजपा ने भी कहा कि मोदी भारी अंतर से चुनाव जीतेंगे. मोदी वडोदरा के साथ ही वाराणसी से भी चुनाव लड़ रहे हैं.

 

अधिकारियों ने इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ के साथ ही सभी 17 सीटों पर व्यापक मतदान होने की बात कही है. आजमगढ़ से पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव चुनाव लड़ रहे हैं.

 

उत्तर प्रदेश में जिन 18 सीटों पर चुनाव हो रहा है उन पर अभी समाजवादी पार्टी (सपा) का छह सीटों पर, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का पांच, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का चार और कांग्रेस का तीन सीटों पर कब्जा है.

 

उत्तर प्रदेश में डुमरियागंज, महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, लालगंज, आजमगढ़, घोसी, सलेमपुर, बलिया, जौनपुर, मछलीशहर, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मिर्जापुर और रॉबर्ट्सगंज लोकसभा क्षेत्र में मतदान हो रहा है.

 

इस दौर के मतदान से जिन बड़े राजनेताओं के चुनावी भाग्य का फैसला होना है, उनमें भाजपा नेता नरेंद्र मोदी, सपा के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव, आप के नेता अरविंद केजरीवाल, भाजपा नेता कलराज मिश्र, योगी आदित्यनाथ, ऐन चुनाव के वक्त पाला बदलने वाले जगदम्बिका पाल और केंद्रीय मंत्री आर.पी.एन. सिंह (कांग्रेस) शामिल हैं. इसके अलावा 328 अन्य उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला भी इसी चरण के मतदान से होगा.

 

बिहार में पहले छह घंटे में 35 फीसदी मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया.

 

बिहार की छह लोकसभा सीटों वाल्मीकि नगर, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, सीवान, गोपालगंज और वैशाली के लिए मतदान हो रहा है. फिलहाल इनमें से दो-दो सीटों पर भाजपा और जदयू का कब्जा है, वहीं राजद और निर्दलीय के पास एक-एक सीटें हैं. इस चरण में 90 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होना है.

 

पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक मतदान दर्ज किया गया. यहां एक बजे तक 56 फीसदी लोगों ने मतदान किया. यहां माकपा और तृणमूल कर्यकर्ताओं के बीच झड़प में 20 लोग घायल हो गए.

 

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के पांचवें दौर में उत्तर और दक्षिण चौबीस परगना, नादिया, मुर्शिदाबाद, पूर्वी और पश्चिमी मिदनापुर और कोलकाता सहित कुल 17 लोकसभा सीटों के लिए मतदान हो रहा है. इसके लिए सात जिलों में 31 हजार से ज्यादा मतदान केंद्र बनाए गए हैं. इन 17 सीटों में से फिलहाल तृणमूल कांग्रेस के पास 14 और कांग्रेस, भाकपा एवं निर्दलीय के पास एक-एक सीटें हैं.

 

इसके साथ ही सात अप्रैल से शुरू आम चुनाव की 35 दिनों तक चली मतदान प्रक्रिया 12 मई को पूरी हो जाएगी, और उसके बाद लोकसभा की 543 सीटों के लिए 16 मई को मतगणना की जाएगी और परिणाम घोषित किए जाएंगे.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story नसीमुद्दीन सिद्दीकी की 'घरवापसी' के बाद कांग्रेस में उठने लगे विरोध के स्वर