अखिलेश ने यूपी के लिए प्रधानमंत्री से मांगा धन

अखिलेश ने यूपी के लिए प्रधानमंत्री से मांगा धन

By: | Updated: 14 Apr 2012 01:16 AM


नई
दिल्‍ली:
उत्तर प्रदेश का
मुख्यमंत्री बनने के बाद
पहली बार अखिलेश यादव ने
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
से आज मुलाकात की.

हालांकि
अखिलेश यादव ने इस मुलाकात को
औपचारिक बताया है, लेकिन
उन्‍होंने प्रधानमंत्री से
उत्तर प्रदेश में केंद्र की
मदद से चल रही योजनाओं के लिए
धन मुहैया कराने की मांग की
है.




सूत्रों ने बताया कि सात
रेसकोर्स मार्ग स्थित
प्रधानमंत्री आवास पर हुई इस
मुलाकात को सद्भावना
मुलाकात बताया गया है. लेकिन
अखिलेश अपेक्षाओं की एक लंबी
सूची के साथ प्रधानमंत्री से
मिलने गए थे. अखिलेश (38) ने एक
महीने पहले ही उत्तर प्रदेश
के सबसे युवा मुख्यमंत्री के
रूप में शपथ ली थी.

राज्य
सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी
के अनुसार, अपेक्षाओं की इस
सूची में स्वास्थ्य, शिक्षा,
बिजली, भूतल परिवहन, पेय जल,
बाढ़ नियंत्रण और छात्र
कल्याण जैसी केंद्र
प्रायोजित विभिन्न
परियोजनाओं के लिए सहायता और
जल्द कोष जारी करने की बातें
शामिल थीं.

मुख्यमंत्री
ने इलाहाबाद में आयोजित होने
वाले कुम्भ मेले की
तैयारियों के बारे में भी
प्रधानमंत्री को जानकारी दी
और इस धार्मिक आयोजन में
हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए भी
केंद्र सरकार से आग्रह किया.

अखिलेश
ने मनमोहन सिंह को बताया कि
उनकी सरकार ने खास संशोधन किए
हैं और राज्य को विकास और
आर्थिक वृद्धि के मार्ग पर
वापस लाने की अपनी सर्वोत्तम
कोशिश कर रही है.

अखिलेश
ने प्रधानमंत्री से कहा कि
कृषि, राज्य की समाजवादी
पार्टी की सरकार की शीर्ष
प्राथमिकता है. उन्होंने
बिजली क्षेत्र में मदद का
आग्रह किया, जो कि कृषि
क्षेत्र की वृद्धि के लिए
महत्वपूर्ण है.

सूत्रों
ने कहा कि मुख्यमंत्री ने
मनमोहन सिंह को बताया कि
योजना आयोग ने बुंदेलखंड और
पूर्वांचल के विकास के लिए जो
धन मुहैया कराया है, वह काफी
नहीं है और उन्होंने धनराशि
बढ़ाए जाने की मांग की.

अखिलेश
ने इसके अलावा उत्तर प्रदेश
के सात पूर्वी जिलों में
जापानी दिमागी बुखार के
प्रकोप से लड़ने में भी मदद
मांगी. अखिलेश की अपेक्षाओं
को सुनने के बाद
प्रधानमंत्री ने उत्तर
प्रदेश को यथासम्भव हरतरह की
मदद मुहैया कराने का आश्वासन
दिया.

वहीं, प्रधानमंत्री
से आज अखिलेश यादव की हुई
मुलाकात में विवादित नेशनल
काउंटर टेररिज्म सेंटर यानी
एनसीटीसी के मुद्दे पर कोई
बात नहीं हुई. अखिलेश यादव ने
कहा कि सुरक्षा पर होने वाली
बातचीत में ये मुद्दा उठेगा.

गौरतलब
है कि एनसीटीसी के मुद्दे पर 10
से ज्यादा राज्यों ने केंद्र
पर हस्तक्षेप का आरोप लगाते
हुए राज्यों के अधिकार में
दखलअंदाजी का आरोप लगाया है.


ऐसे में उत्तर प्रदेश की
नई सरकार का एनसीटीसी को लेकर
क्या रुख रहेगा इस पर
प्रधानमंत्री से अखिलेश
यादव की आज कोई बात नहीं हुई.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story 4 साल बाद डीजीएमओ स्तर की बातचीत पर विचार कर रहा पाकिस्तान: मीडिया रिपोर्ट