‘अटल लहर’ से ज्यादा मजबूत है ‘मोदी लहर’ : अनुराग ठाकुर

By: | Last Updated: Tuesday, 11 March 2014 1:14 PM

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में युवा वोट हासिल करने को लेकर आश्वस्त भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर का मानना है कि ‘मोदी लहर’ का प्रभाव ‘अटल लहर’ से ज्यादा है चूंकि भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार सुशासन और विकास की मिसाल पेश कर चुके हैं .

 

ठाकुर ने भाषा को दिये इंटरव्यू में कहा ,‘‘ अटल लहर से ज्यादा मजबूत मोदी लहर है . मीडिया और सोशल मीडिया की भूमिका भी अहम है .

 

 जब अटलजी वाजपेयी  प्रधानमंत्री बने तब उन्हें एक अच्छे प्रशासक, वक्ता और अनुभवी व्यक्ति के रूप में जाना जाता था जबकि मोदी ने सुशासन, विकास और निर्णय क्षमता से अपनी पहचान बनाई है जो इस वक्त की जरूरत भी है .’’

 

उन्होंने कहा ,‘‘ हमने कमजोर सरकार और कमजोर नेतृत्व देखा है और देश बदलाव चाहता है . भाजपा का अब तक लोकसभा चुनाव में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 182 सीटें आई थी और इस बार इसमें 25 फीसदी का इजाफा होने जा रहा है .’’ यह पूछने पर कि लोग भाजपा को वोट देंगे या मोदी को, उन्होंने कहा कि मोदी भाजपा का ही हिस्सा हैं .

 

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर से तीसरी बार चुनाव लड़ रहे ठाकुर ने कहा ,‘‘ हमने अपना प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार चुनाव से काफी पहले घोषित कर दिया जबकि बाकी दलों को मोदी के कद का उम्मीदवार नहीं मिल रहा है .

 

देश में भाजपा के पक्ष में और कांग्रेस के विरोध में लहर चल रही है . कांग्रेस नेतृत्व को अपने अहम का खामियाजा भुगतना पड़ेगा .’’ यह पूछने पर कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की विचारधारा से इत्तेफाक नहीं रखने वाले युवाओं को जोड़ने के लिये क्या प्रयास किये जा रहे हैं , उन्होंने कहा कि संघ राष्ट्रवादी संगठन है जिसके योगदान का जिक्र हमारी पाठ्य पुस्तकों में नहीं है .

 

ठाकुर ने कहा ,‘‘ यह नहीं कह सकते कि युवा संघ से कटता जा रहा है . संघ राष्ट्रवादी संगठन है और पंडित नेहरू ने 1962 के युद्ध के दौरान योगदान के लिये उसे सम्मानित किया था लेकिन राहुल गांधी को इसकी जानकारी नहीं होगी . दुर्भाग्य यह है कि हमारी पाठ्य पुस्तकों में गांधी नेहरू परिवार का ही महिमामंडन है . दूसरे संगठनों के योगदान की अनदेखी की गई है .’’

 

ठाकुर ने कहा ,‘‘ युवा आज भी बड़ी संख्या में संघ से जुड़ रहे हैं लेकिन उसका जिक्र मीडिया में नहीं है चूंकि संघ एक राजनैतिक संगठन नहीं है .’’ उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस के पास जमीनी राजनीति से नये चेहरे नहीं हैं जिससे उसे खिलाड़ियों या सेलिब्रिटी को टिकट देना पड़ रहा है .

 

उन्होंने कहा ,‘‘ अपनी हार से डरी हुई कांग्रेस खिलाड़ियों और सेलिब्रिटी को टिकट दे रही है . उनके पास जमीनी राजनीति से नये चेहरे नहीं हैं , उनके नेता वंशवाद से आते हैं .’’ हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल के बेटे होने के नाते उन्हें भी राजनीति विरासत में मिली है लिहाजा वह राहुल गांधी से कैसे अलग हैं, यह पूछने पर उन्होंने कहा कि राजनीति में पदार्पण से पहले वह अपने काम के दम पर पहचान बना चुके थे .

 

उन्होंने कहा ,‘‘ भाजपा को गांधी परिवार, मुलायम सिंह, मायावती या ममता बनर्जी की तरह एक व्यक्ति या परिवार नहीं चला रहा है . हम हर तीन साल में चुनाव कराते हैं और जहां तक मेरा सवाल है तो मैने राजनीति में पदार्पण से पहले ही हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ के लिये अपने काम के दम पर पहचान बना ली थी .’’ एचपीसीए में अनियमितताओं के आरोपों के बारे में इसके अध्यक्ष ने कहा कि इन मसलों का चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा क्योंकि उनके मतदाताओं को उन पर विश्वास है .

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ‘अटल लहर’ से ज्यादा मजबूत है ‘मोदी लहर’ : अनुराग ठाकुर
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: elec2014
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017